अजब-गजब: पूरे साल में सिर्फ एक हफ्ते के लिए खुलता है यह मंदिर, भगवान को चिट्ठी लिख मांगते है भक्त अजीबो गरीब मन्नतें 

November 16th, 2021

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली।  भारत मंदिरों का देश है। यहां पर कई प्राचीन मंदिर स्थित है, आप ने कई ऐसे अजब-गजब मंदिरो के बारे में सुना होगा जो पुराने समय से अपने आप में कई रहस्यों को घेरे हुए हैं जहां की अलग-अलग मान्यताएं व  पौराणिक कथाएं हैं। कहा जाता है कि यहां लोगों की मन्नतें पूरी हो जाती हैं। ऐसा ही एक मंदिर कर्नाटक राज्य के हासन जिले में स्थित है। जो अपने चमत्कारों के लिए दुनियाभर में जाना जाता है। यह मंदिर हसनंबा मंदिर के नाम से जाना जाता है।

यह मंदिर साल में सिर्फ एक बार एक हफ्ते के लिए खुलता है। हर साल यह मंदिर दिवाली के समय कुछ दिनों के लिए खोला जाता है, इस बार भक्तों के लिए यह मंदिर 28 अक्टूबर  से 6 नवंबर तक के लिए खोला गया था। इसके बाद इस मंदिर के कपाट एक साल तक के लिए बंद कर दिये जाते हैं। हासन जिले में स्थित यह मंदिर पर हर साल हसनंबा महोत्सव लगता है। महोत्सव के दौरान यहां पर भक्तों की भारी भीड़ लगती है। इस साल भी यहां भारी संख्या में भक्त पहुंचे थे। यहां पर अपनी मनोकामना को पूरा करने के लिए श्रद्धालु भगवान को हैरान करने वाले पत्र लिखते हैं। भगवान को लिखी गई कई चिट्ठियां सोशल मीडिया पर किसी ने पोस्ट कर दी हैं जो वायरल हो गई हैं।

एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, एक भक्त ने अपने पत्र में लिखा है कि होलेनरसीपुरा निर्वाचन क्षेत्र के लोगों को नया विधायक मिले। भगवान ऐसा करो कि वर्तमान विधायक के परिवार के हर किसी की चुनाव में हार हो जाए। आप यहां के लोगों को बचा लीजिए। सोशल मीडिया पर इस तरह की कई चिट्ठियां वायरल हो रही हैं। एक चिट्ठी में एक भक्त ने लिखा है कि उसके घर के पास स्थित सड़क के गड्ढे ठीक हो जाएं। एक भक्त ने लिखा है कि उसकी मनोकामना पूरी हो जाएगी, तो वह मंदिर में 5000 रुपये चढ़ाएगा।

जानिए कब हुआ था मंदिर का निर्माण
यहां के लोगों का कहना है कि इस मंदिर का निर्माण होयसाल वंश में हुआ होगा। मंदिर के इतिहास के बारे में कोई दस्तावेज नहीं मिले हैं। होयसला शासनकाल के समय कर्नाटक में हासन सबसे बड़ा शहर था। हसनंबा मंदिर को हासन की अधिष्ठात्री देवी मंदिर के तौर पर जाना जाता है।