अजब-गजब: इस देश ने सेक्स पर लगाया प्रतिबंध, कानून तोड़ने पर काटनी पड़ सकती है इतने साल की जेल 

January 23rd, 2023

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। दुनिया के मशहूर पर्यटक स्थलों में से एक इंडोनेशिया ने अपने देश में बिना शादी के सेक्स करने पर प्रतिबंध लगा दिया है। सेक्स बैन कानून स्थानीय लोगों के साथ-साथ सैलानियों पर भी लागू होगा। कानून तोड़ने वालों के लिए एक साल की जेल की सजा का प्रावधान है और उन्हें इस दौरान जुर्माना भी भरना पड़ सकता है। इंडोनेशिया की संसद में इस कानून को पारित किया था जो अब लागू हो गया है। इस नए कानून के लागू होने से देश की टूरिस्ट   इंडस्ट्री को झटका लगने की संभावनाएं बढ़ गई है।  

कानून क्या कहता है

इंडोनेशिया की संसद ने जिस नए क्रिमिनल कोड को मंजूरी दी है, उसके तहत अब देश में शादीशुदा पार्टनर के अलावा किसी और के साथ सेक्स पर पूरी तरह से पाबंदी होगी। अगर कोई भी व्यक्ति कानून का उल्लंघन करता है तो उसे एक साल तक की कैद की सजा हो सकती है या उस पर जुर्माना लगाया जा सकता है। सजा के तौर पर इंसान को जेल और जुर्माना दोनों भी हो सकते हैं। यह कानून स्थानीय नागरिकों के साथ-साथ देश में आने वाले पर्यटकों पर भी लागू होगा।  यहां तक कि अगर पर्यटक घूमने आते हैं तो भी यह जांच की जाएगी कि यह जोड़ा शादीशुदा है या नहीं। यहां शादीशुदा लोगों को सेक्स करने की इजाजत होगी। इस देश में अविवाहित जोड़े एक साथ नहीं रह सकेंगे और न ही दूसरे देशों से आए अविवाहित जोड़े यहां आकर साथ रह सकते हैं।

सैलानियों को सताया यह डर 

कोरोना के बाद से देशों की हालत पहले से ही पतली हो चुकी है। देशों को टूरिस्ट इंडस्ट्री बैठ चुकी है और ऐसे में दुनिया के सबसे आकर्षक पर्यटक स्थल में से एक पर सेक्स बैन लगना इसके लिए और भी खतरनाक साबित हो सकता है। 

बाली में मिली राहत 

पर्यटकों की लगातार गिरती संख्या के बीच बाली की गवर्नर ने कुछ रियायत दी है। बाली गवर्नर ने घोषणा की है कि नए कानून के तहत पर्यटकों पर कार्रवाई नहीं की जाएगी न ही उनके कमरों को चेक किया जाएगा। बाली देश ही नहीं बल्कि दुनिया के पॉपुलर टूरिस्ट स्पॉट्स में से एक है। इंडोनेशिया को उम्मीद थी कि 2025 तक पर्यटन महामारी से पहले के स्तर पर पहुंच जाएगा। लेकिन नए कानून के लागू होने से देश को बड़ा झटका लगा है।

राष्ट्रीय पर्यटन बोर्ड भी इस कानून को खराब बता रहा है। एसोसिएशन ऑफ द इंडोनेशियन टूर एंड ट्रैवल एजेंसी बाली के अध्यक्ष आई पुतु विनास्ट्रा ने कहा कि कानून यूरोपीय देशों के पर्यटकों को यहां आने से रोकने में एक अहम भूमिका निभाएगा। क्‍योंकि यूरोपीय देशों में बिना शादी के भी कपल्‍स रहते हैं और बच्‍चों को जन्‍म देते हैं। यह कानून उनकी राइट तो प्राइवेसी का हनन करेगा।