दैनिक भास्कर हिंदी: Kangana Vs Raut: राउत को कंगना का मुंहतोड़ जवाब, कहा- आपके लोग कह रहे मेरा जबड़ा तोड़ देंगे, 9 सितंबर को मुंबई आ रही हूं

September 7th, 2020

डिजिटल डेस्क, मुंबई। खुद को हरामखोर कहे जाने पर बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत ने शिवसेना सांसद संजय राउत को करारा जवाब दिया। कंगना ने कहा, आपके लोग कह रहे मेरा जबड़ा तोड़ देंगे और मार डालेंगे, 9 सितंबर को मुंबई आ रही हूं। बता दें कि शनिवार को एक न्यूज चैनल के रिपोर्टर ने राउत से कंगना के उस बयान पर रिएक्शन मांगा था, जिसमें उन्होंने 9 सितंबर को मुंबई आने की बात कही थी और चुनौती दी थी कि रोक सको तो रोक लो। जवाब में राउत ने कहा था, "आप क्या उस हरामखोर लड़की की वकालत कर रहे हो?" ट्वीट करके कंगना ने कहा कि राऊत ने मुझे हरामखोर लड़की कहा है। इस देश की बेटियां राऊत को माफी नहीं करेंगी। कंगना ने कहा कि मैं राऊत के बयान का निंदा करती हूं। राऊत महाराष्ट्र नहीं हैं। राऊत यह नहीं कर सकते हैं कि मैंने महाराष्ट्र की निंदा की है। कंगना ने कहा कि मुझे मुंबई पुलिस की निंदा करने का अधिकार है। यह मेरी अभिव्यक्ति की आजादी है। 

 

 

कंगना का पूरा बयान:
संजय राउत जी आपने मुझे हरामखोर लड़की कहा। आप सरकारी मुलाजिम है, आप मंत्री हैं, आप तो जानते ही होंगे कि हर दिन नहीं, हर घंटे कितनी लड़कियों के बलात्कार हो रहे हैं। कितनी लड़कियों का शोषण किया जा रहा है। उनकी बॉडी एसिड डालकर फेंक दी जा रही है। काम की जगह पर उनको गालियां दी जा रही हैं, उनका अपमान किया जा रहा है। उनके खुद के पति नाक, नाक, जबड़े तोड़ रहे हैं।

आपको पता है कि इसका जिम्मेदार कौन है? इसके लिए वो मानसिकता जिम्मेदार है, जिसका भौंडा प्रदर्शन आपने पूरे समाज, पूरे देश के सामने किया है। इस देश की बेटियां आपको माफ नहीं करेंगी, संजय जी। जब आमिर खान जी ने कहा कि उनको इस देश में डर लगता है तो उन्हें किसी ने हरामखोर नहीं कहा। जब नसीरुद्दीन शाह जी ने कहा था, तब उन्हें भी किसी हरामखोर नहीं कहा।

जिस मुंबई पुलिस की तारीफ करते हुए मैं नहीं थकती थी। पालघर में अगर साधुओं की लिंचिंग के सामने वे चुपचाप खड़े रहते हैं। सुशांत के पिता या मेरी एफआईआर नहीं लेते। इस पर मैं प्रशासन की निंदा करती हूं, जो कि मेरी अभिव्यक्ति की आजादी है। संजय जी, मैं आपकी निंदा करती हूं, आप महाराष्ट्र नहीं हैं। आप ये नहीं कह सकते कि मैंने महाराष्ट्र की निंदा की।

संजय जी, मैं 9 सितंबर को आ रही हूं। आपके लोग कह रहे हैं कि मेरा जबड़ा तोड़ देंगे, मुझे मार डालेंगे। आप लोग मुझे मारिए, क्योंकि इस देश की जो मिट्टी और गरिमा के लिए न जाने कितने लोगों ने जान दी है। हम भी ये देंगे संजय जी, क्योंकि हमें भी वो कर्ज निभाना है। मिलते हैं 9 सितंबर को। जय हिंद, जय महाराष्ट्र।

दूसरी ओर कंगना को लेकर की गई टिप्पणी पर राऊत ने कहा कि अगर वो लड़की माफी मांगेगी तो मैं भी माफी मांगने पर विचार करूंगा। राऊत ने कहा कि कंगना मुंबई को मिनी पाकिस्तान बोल रही हैं। कंगना में अहमदाबाद को मिनी पाकिस्तान बोलने की हिम्मत है क्या? राऊत ने कहा कि आप लोग (मीडिया) टीआरपी के चक्कर पागल हो चुके हैं। मुंबई हमारी मां नहीं है क्या? राऊत ने कहा कि यदि मुंबई और मराठी माणुस के बारे में कोई भी अभ्रद भाषा का इस्तेमाल करता है, तो उसे पहले महाराष्ट्र से माफी मांगनी चाहिए। चाहे वो हमारी पार्टी का ही क्यों न हो। वहीं राऊत ने ट्वीट करके कहा कि मेरी हिम्मत को परखने की गुस्ताखी न करना, पहले भी कई तूफानों का रूख मोड़ चुका हूं। 

इस बीच शिवसेना नेता तथा प्रदेश के परिवहन मंत्री अनिल परब ने कहा कि जानूझकर वातावरण खराब करने की कोशिश की जा रही है। परब ने कहा कि कोई कुछ गलती करे और इसका दोष सरकार पर आ जाए। इसलिए कंगना किसी के द्वारा लिखे स्क्रिप्ट के आधार पर शिवसेना को चुनौती दी रहे हैं। स्क्रिप्ट लिखने वाले का नाम जल्द ही सामने आएगा। इससे पहले कंगना ने मुंबई की तुलना पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) से की थी। इससे बाद से शिवसेना और कंगना के बीच संघर्ष चल रहा है।