दैनिक भास्कर हिंदी: महाराष्ट्र: NCB ने ड्रग मामले में करण जौहर ने कहा - मेरे घर पार्टी में नहीं इस्तेमाल हुआ ड्रग्स

December 18th, 2020

डिजिटल डेस्क, मुंबई। दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद बॉलीवुड में सामने आए ड्रग कनेक्शन की जांच कर रही नाराकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने करण जौहर को समन भेजा है। जिसके बाद करन जौहर ने नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) के अपने घर में पिछले साल हुई पार्टी से जुड़ी जानकारी भेजी है। जवाब में करन जोहर ने दावा किया है कि पार्टी में ड्रग्स नहीं किया गया था। एनसीबी के एक अधिकारी ने जवाब मिलने की पुष्टि करते हुए बताया कि जवाब देखने के बाद आगे की कार्रवाई पर फैसला किया जाएगा। करन जोहर ने शुक्रवार को अपने वकील के जरिए एनसीबी की नोटिस का लिखित जवाब जांच एजेंसी के ऑफिस भेजा। एनसीबी ने जौहर को नोटिस में व्यक्तिगत पेशी से छूट दी थी और किसी के भी जरिए जानकारी भेजने को कहा था। बता दें कि पिछले साल हुई पार्टी का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद अकाली दल नेता मनजिंदर सिंह सिरसा ने मामले की शिकायत करते हुए पार्टी में ड्रग्स के सेवन का आरोप लगाया था। जो वीडियो वायरल हुआ था उसमें दीपिका पादुकोण, मलाइका अरोरा, रणबीर कपूर, विकी कौशल, वरुण धवन, जोया अख्तर, अर्जुन कपूर जैसे सितारे थे। जिनके नशे में धुत होने का दावा किया गया था। सिरसा ने पहले मुंबई पुलिस कमिश्नर से शिकायत कर जांच की मांग की थी और फिर अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद एनसीबी से भी मामले की शिकायत की। हालांकि वीडियो की छानबीन के दौरान उसमें ड्रग्स के कोई सबूत नहीं मिले थे। वीडियो में कांच पर एक लकीर दिख रही थी लेकिन जांच में साफ हुआ था कि वह ट्यूटलाइट की रोशनी थी। लेकिन मामले में एनसीबी को कुछ और स्पष्टीकरण चाहिए थे इसलिए करन जोहर से जवाब मांगा गया। 

फडणवीस सरकार ने क्यों नहीं की जांचः कांग्रेस

प्रदेश कांग्रेस ने करण जौहर को भेजे गए नोटिस को बॉलीवुड को उत्तर प्रदेश ले जाने की साजिश के तहत की गई कार्रवाई बताया है। महाराष्ट्र कांग्रेस प्रवक्ता सचिव सावंत ने कहा कि ड्रग्स मामले की जांच के नाम पर बॉलीवुड, महाराष्ट्र और मुंबई पुलिस को बदनाम कर बॉलीवुड उत्तर प्रदेश ले जाने की मुहिम चलाई जा रही है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा फिल्मसिटी बनाने का ऐलान किया गया है। जिसके बाद इस तरह की कार्रवाई से दबाव डालने की कोशिश की जा रही है। सावंत ने कहा कि वीडियो 2019 में वायरल हुआ था। उस समय राज्य में देवेंद्र फडणवीस की सरकार थी। उस समय इसकी जांच क्यों नहीं की गई। उन्होंने सवाल किया कि ड्रग्स लेने की बात स्वीकार करने वाली कंगना रनौत से पूछताछ की हिम्मत एनसीबी कब दिखाएगी।
 

इससे पहले NCB के एक अधिकारी ने कहा था कि वीडियो के संबंध में नोटिस दिया गया है, जोकि सर्कुलेशन में था। अधिकारी ने कहा कि NCB को इस संबंध में मनजिंदर सिंह सिरसा से शिकायत मिली थी और महाराष्ट्र जोनल यूनिट को मार्क किया गया था। वीडियो की सत्यता की जांच करने के लिए नोटिस भेजा गया है। NCB सूत्रों के मुताबिक करण जौहर को खुद NCB के सामने पेश होने की जरूरत नहीं। वो अपने किसी प्रतिनिधि को भी भेज सकते हैं। जौहर से उन इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों का विवरण देने के लिए कहा गया है, जिनका इस्तेमाल जुलाई 2019 में उनके घर पर आयोजित पार्टी को शूट करने के लिए किया गया था।

अब तक ड्रग मामले में इन लोगों के नाम सामने आए
गौरतलब है कि इस मामले में सबसे पहले सुशांत सिंह राजपूत की गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती और उनके भाई की गिरफ्तारी हुई थी। जिसके बाद श्रद्धा कपूर, रकुल प्रीत सिंह, दीपिका पादुकोण और सारा अली खान को भी पूछताछ के लिए बुलाया गया था। वहीं मशहूर कॉमेडिन भारती सिंह और उनके पति हर्ष लिंबाचिया का नाम भी इस केस में शामिल था। दोनों की गिरफ्तारी भी हुई थी। इस समय दोनों बेल पर बाहर हैं।

16 दिसंबर को अर्जुन रामपाल को भेजा था समन
बता दें कि इससे पहले बुधवार (16 दिसंबर) को बॉलीवुड अभिनेता अर्जुन रामपाल को भी NCB ने समन भेजा था। इसके अलावा अर्जुन की लिव इन पार्टनर गैब्रिएला डेमेट्रियड्स से भी NCB लंबी पूछताछ कर चुकी है। दरअसल 19 अक्टूबर को ड्रग संबंधित एक मामले में ग्रैब्रिएला के भाई अगिसियालोस को गिरफ्तार किया गया था जिसके बाद ही अर्जुन रामपाल को भी पूछताछ के लिए तलब किया गया था।
 

खबरें और भी हैं...