दैनिक भास्कर हिंदी: Birth Anniversary: वादा निभाने में माहिर थे यश जौहर, रीमा लागू से किया वादा मरते दम तक निभाया

September 6th, 2019

डिजिटल डेस्क, मुम्बई। निर्माता निर्देशक यश जौहर की आज बर्थ एनिवर्सरी है। उनका जन्म 6 सितम्बर 1929 को हुआ था। उन्होंने दोस्ताना, मुकद्दर का सिकंदर, अग्निपथ, कुछ कुछ होता है, कभी खुशी कभी गम जैसी फिल्मों को प्रोड्यूस किया है। यश जौहर ने जब 26 जून को 2004 में दुनिया को अलविदा कहा तो पूरा बॉलीवुड शोकमय हो गया। करण जौहर के पिता यश जौहर की खास बात थी कि वो अपने एक्टर्स का बहुत सम्मान करते थे। आज उनकी बर्थ एनिवर्सरी पर जानते हैं उनके बारे में। 

एक फिल्म के दौरान यश जौहर ने रीमा लागू से वादा किया था, जिसे उन्होंने आखिरी फिल्म तक निभाया। दरअसल, ऐसा श्रीदेवी की वजह से हुआ था। श्रीदेवी 90 के दशक की सुपरस्टार थीं। फिल्मों में उनका कद इतना ऊंचा हो गया था कि निर्माता-निर्देशक भी बिना कोई टाल-मटोल किए उनकी बात मानते थे। कहा जाता है कि कभी-कभी वो अपने रोल के चलते और अपने रोल को पावरफुल दिखाने के लिए दूसरे एक्टर्स का रोल कटवा देती थीं।

श्रीदेवी की इस बात का शिकार रीमा लागू भी हुईं थी। इस बात का खुलासा कोरियोग्राफर सरोज खान ने अपने शो 'नच ले' के दौरान किया था। श्रीदेवी और रीमा लागू महेश भट्ट की फिल्म 'गुमराह' में काम कर रहीं थीं। 1993 में आई इस फिल्म में रीमा लागू श्रीदेवी की मां के किरदार में थीं। दोनों में पांच साल का ही फर्क था लेकिन पिछली कुछ फिल्मों के चलते रीमा लागू की पहचान एक मां के किरदार में हो गई थी।

जब श्रीदेवी ने एडिट के दौरान यह​ फिल्म देखी तो उन्हें लगा कि रीमा लागू उन भारी पड़ रही हैं। इसलिए उन्होंने प्रोड्यूसर यश जौहर और निर्देशक महेश भट्ट से रीमा लागू के रोल को कम करने को कहा। श्रीदेवी की इस बात को दोनों ने मान लिया और रीमा लागू का किरदार पर कैंची चल गई।

हालांकि यश जौहर चाहते थे कि रीमा लागू के किरदार के साथ ऐसा न किया जाए, लेकिन मजबूरी में उन्हें ऐसा करना पड़ा। इस बात का यश जौहर को बहुत मलाल था। रीमा लागू को इस बात का हर्जाना चुकाने के लिए यश जौहर ने उनसे वादा किया। ये वादा था कि  अब उनकी फिल्मों में रीमा लागू मां का किरदार निभाएंगी। इसके बाद यश की हर फिल्म में रीमा ने मां का किरदार निभाया और रीमा को बॉलीवुड की फेवरेट मां के तौर पर स्थापित कर दिया। 

खबरें और भी हैं...