comScore

सुशांत केस: एम्स ने CBI को सौंपी विसरा रिपोर्ट, नहीं मिला जहर, मुंबई का कूपर अस्पताल अभी भी सवालों के घेरे में


डिजिटल डेस्क, मुंबई। एम्स की टीम ने मंगलवार को बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की विसरा रिपोर्ट सीबीआई को सौंप दी है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि, सुशांत के विसरा में किसी तरह का जहर नहीं मिला है। वहीं मुंबई के कूपर अस्पताल के डॉक्टरों को पूरी तरह से क्लीनचिट भी नहीं दी गई है। कूपर अस्पताल अभी भी सवालों के घेरे में है। कूपर अस्पताल की रिपोर्ट को विस्तार से देखने की जरूरत बताई गई है। 

रिपोर्ट सौंपने में 8 दिन की देरी
बता दें कि, सुशांत सिंह की ऑटोप्सी रिपोर्ट की जांच के लिए 21 अगस्त को डॉ. सुधीर गुप्ता के नेतृत्व में एम्स के पांच डॉक्टर्स की एक टीम बनाई गई थी। टीम 20 सितंबर को रिपोर्ट सौंपने वाली थी, लेकिन इसमें 8 दिन की देरी हुई।

कूपर हॉस्पिटल के डॉक्टर्स को क्लीन चिट नहीं
सूत्रों के मुताबिक, रिपोर्ट में सुशांत की बॉडी का पोस्टमॉर्टम करने वाले कूपर हॉस्पिटल के डॉक्टर्स को क्लीन चिट नहीं दी गई है। दरअसल, कूपर अस्पताल के डॉक्टर्स ने सुशांत की ऑटोप्सी की थी। बाद में इसके तरीके पर सवाल उठे। सुशांत के गले के निशान को लेकर रिपोर्ट में कुछ भी नहीं बताया गया था। मौत की टाइमिंग का भी जिक्र नहीं था। इसके बाद सीबीआई ने जांच एम्स से कराने का फैसला किया था। एम्स की रिपोर्ट ये इशारा कर रही है कि, कूपर अस्पताल द्वारा सुशांत केस में लापरवाही बरती गई है।

सिर्फ 20% विसरा के आधार पर बनाई गई रिपोर्ट
एम्स ने जो रिपोर्ट तैयार की है वो सुशांत के सिर्फ 20 प्रतिशत विसरा की जांच पर बनी है, क्योंकि मुंबई पुलिस ने सुशांत का 80% विसरा अपनी जांच में इस्तेमाल कर लिया था। गौरतलब है कि, सुशांत सिंह राजपूत का शव 14 जून को उनके बांद्रा स्थित फ्लैट में पंखे से लटका मिला था।

यूट्यूबर की गिरफ्तारी पर भड़की कंगना

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में राज्य के नेताओं पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाले साहिल चौधरी नाम के यू ट्यूबर को मुंबई पुलिस ने फरीदाबाद से गिरफ्तार किया है। लेकिन सोशल मीडिया पर बड़ी संख्या में लोगों ने साहिल को रिहा किए जाने की मांग की है। अभिनेत्री कंगना रनौत ने साहिल के समर्थन में ट्वीट करते हुए लिखा कि मुंबई में यह क्या गुंडा राज चल रहा है। कोई भी दुनिया के सबसे अयोग्य मुख्यमंत्री और उनकी टीम पर सवाल नहीं उठा सकता। ये हमारे साथ क्या करेंगे। हमारा घर तोड़ेंगे हमें मार डालेंगे। कांग्रेस पार्टी इसके लिए जवाबदेह है। एक और ट्वीट में कंगना ने लिखा कि महाराष्ट्र सरकार के कामकाज पर सवाल उठाए जाने पर कोई भी व्यक्ति अचानक साहिल के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करा देता है और साहिल को तुरंत जेल भेज दिया जाता है। लेकिन पायल घोष ने कई दिन पहले अनुराग कश्यप के खिलाफ रेप का मामला दर्ज कराया है लेकिन वह आराम से घूम रहे हैं। क्या है यह सब कांग्रेस पार्टी।

कमेंट करें
Iasl7