दैनिक भास्कर हिंदी: सुशांत केस में डिप्रेशन की कहानी जानबूझकर गढ़ी गई -राबिया खान

August 15th, 2020

हाईलाइट

  • सुशांत केस में डिप्रेशन की कहानी जानबूझकर गढ़ी गई -राबिया खान

नई दिल्ली, 15 अगस्त (आईएएनएस)। मुंबई पुलिस सुशांत सिंह राजपूत केस की जांच इस एंगल से रही है कि सम्भवत: वह डिप्रेस्ड थे और इसी कारण उन्होंने आत्महत्या जैसा कदम उठाया।

मरहूम अदाकारा जिया खान की मां राबिया खान ने कहा है कि सुशांत के मामले में डिप्रेशन की थिएरी को जानबूझकर डाला गया है, क्योंकि इससे सुशांत की मौत को आत्महत्या बताना बेहद आसान हो जाएगा। राबिया खान ने यह भी कहा कि उन्हें रिया चक्रवर्ती पर भी शक है, क्योंकि उसे जितना चालाक बताया जा रहा है, असल में वह उतनी चालाक है नहीं।

राबिया खान ने जिया, सुशांत सिंह और उनकी पूर्व मैनेजर दिशा सालियान के केस से जुड़ा एक और चौंकाने वाला खुलासा किया है, राबिया खान के मुताबिक तीनों मामलों में डिप्रेशन का एंगल पैदा किया गया है, और ऐसा करने वाला फिल्म जगत का एक शीर्ष निर्देशक है।

राबिया ने कहा, महेश भट्ट भी मेरी बेटी के फ्यूनरल में पहुंचे थे और तब भी उन्होंने कहा था कि वह डिप्रेस्ड थी। अब महेश भट्ट ने सुशांत मामले में भी यही कहा कि वो डिप्रेस्ड था। मेरी बेटी डिप्रेस्ड नहीं थी और उसका मर्डर हुआ है, लेकिन सुशांत तो बेचारा फंस गया।

राबिया ने कहा कि सात साल पहले मेरी बेटी के फ्यूनरल में जब महेश भट्ट आए थे तब उन्होंने कहा था कि तुम्हारी बेटी डिप्रेस्ड थी। विरोध किया तो महेश भट्ट ने कहा कि चुप हो जाओ नहीं तो तुम्हे भी इंजेक्शन देकर सुला देंगे।

राबिया बोलीं, महेश भट्ट और रजा मुराद मेरी बेटी के फ्यूनरल पर आए थे। इन दोनों से मैं कभी मिली तक नहीं थी। इसके बाद महेश भट्ट हमारे घर के अंदर आए, और हॉल में बैठ गए। मैं नीचे जमीन पर बैठी हुई थी, इसी दौरान मुझसे बोले.. डिप्रेस्ड। तो मैंने कहा कि सर वो डिप्रेस्ड नहीं थी। उस समय मैं कुछ और बोलना चाहती थी, लेकिन वो बोले कि चुप हो जाओ नहीं तो तुम्हे भी इंजेक्शन देकर सुला देंगे।

राबिया ने आगे कहा, मैं झूठ नहीं बोलती। मैं सच बोलती हूं। मैं किसी पर आरोप नहीं लगाती। आप उस सच को चाहे जिस तरह से लीजिए। आप मुझे कोर्ट-कचहरी ले जाइए। मैं जाउंगी। इतने साल मैं चुप रही थी। इतने वक्त मैं चुप थी। क्योंकि मैं अपनी लड़ाई लड़ रही हूं। आज जब सुशांत सिंह और दिशा सालियान के मामले में सब देख रही हूं तो मुझसे रहा नहीं गया। इसीलिए मैंने सब बता दिया, क्योंकि सुशांत के साथ भी डिप्रेशन की कहानी जोड़ी जा रही है। हू-ब-हू वही चीज देखने को मिली, जो मेरी बेटी के केस में था। जब वही चीज फिर से देख रही हूं, तो बोलना तो पड़ता है ना।

राबिया के मुताबिक मुंबई पुलिस पर जब सुशांत की संदिग्ध मौत की जांच को लेकर दबाव बढ़ा तो जानबूझकर डिप्रेशन की थिएरी तैयार कर ली गई। माया जाल तैयार कर मामले को पिछले दो महीने से खींचा जा रहा है। ये तो खेल है.. ये एक चाल है।

एएनएम