comScore

Wedding Pics: स्वरा भास्कर के एक्स-बॉयफ्रेंड से 'केदारनाथ' की राइटर कनिका ढिल्लों ने रचाई शादी

Wedding Pics: स्वरा भास्कर के एक्स-बॉयफ्रेंड से 'केदारनाथ' की राइटर कनिका ढिल्लों ने रचाई शादी

डिजिटल डेस्क,मुंबई। एक्ट्रेस स्वरा भास्कर के एक्स-बॉयफ्रेंड हिमांशु शर्मा से केदारनाथ फिल्म की राइटर कनिका ने शादी कर ली हैं। कनिका ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर फैन्स के साथ ये खुशी साझा की। शादी की फोटोज शेयर करते हुए उन्होंने लिखा- साल 2021 की नई शुरुआत हिमांशु शर्मा के साथ। 

Kanika Dhillon and Himanshu Sharma get married in an intimate ceremony - Movies News

Swara Bhaskar and Tanu Weds Manu writer Himanshu Sharma separated after 5 years of dating? | Catch News

बता दें कि, कनिका-हिमांशु दोनों ने पिछले साल ही एक-दूसरे को डेट करना शुरू किया था। वहीं, हिमांशु इससे पहले स्वरा भास्कर को डेट कर रहे थे। दोनों की जोड़ी ने मीडिया में काफी सुर्खियां बटोरी थी। स्वरा और हिमांशु 5 साल तक रिलेशनशिप में रहे,जिसके बाद दोनो का ब्रेकअप हो गया। रिपोर्ट्स की मानें तो स्वरा काफी समय तक हिमांशु को शादी के लिए बोल रही थीं। लेकिन हिमांशु उन्हें नजरअंदाज करते रहें। उनके दिमाग में शादी का कोई ख्याल नहीं था। इसी वजह से दोनों ने रिश्ता खत्म करने का फैसला किया। 

Swara Bhasker breaks up with boyfriend Himanshu Sharma? | Masala News – India TV

माना जाता हैं कि, कंगना रनौत की सुपरहिट फिल्म 'तनु वेड्स मनु रिटर्न्स' के सेट पर स्वरा और हिमांशु की नजदीकियां बढ़ी थीं। इससे पहले स्वरा 2011 में आई 'तनु वेड्स मनु' को हिमांशु ने लिखा था जिसमें स्वरा सपोर्टिंग रोल में नजर आई थी।

कौन हैं हिमांश और कनि,का

हिमांशु शर्मा बॉलीवुड के जाने-मानें राइटर में से एक हैं। उन्होनें फिल्म 'रांझणा', 'तनु वेड्स मनु' और 'जीरो' जैसी बॉलीवुड की कई फिल्में लिख चुके हैं। फिलहाल वो एक बड़े प्रोजेक्ट आनंद एल राय की फिल्म 'अतरंगी रे' की स्क्रिप्ट पर काम कर रहे हैं। इस फिल्म में सारा अली खान, धनुष और अक्षय कुमार एक्टिंग करेंगे।

Manmarziyaan writer Kanika Dhillon engaged to Raanjhanaa writer Himanshu Sharma. See photos | Celebrities News – India TV

वहीं, कनिका 'मनमर्जियां', 'केदारनाथ', 'जजमेंटल है क्या' समेत कई फिल्में लिख चुकी हैं। फिलहाल वो फिल्म 'हसीन दिलरुबा' लिख रही हैं, जिसमें तापसी पन्नू लीड रोल में नजर आने वाली हैं। 

kanika dhillon himanshu sharma wedding: Photos: कनिका ढिल्लन ने हिमांशु शर्मा से रचाई शादी, कभी स्‍वरा भास्‍कर को करते थे डेट - watch photos bollywood writer kanika dhillon ties the knot with

कमेंट करें
pOgPW
NEXT STORY

छत्तीसगढ़ में नक्सलवाद का खात्मा ठोस रणनीति से संभव - अभय तिवारी

छत्तीसगढ़ में नक्सलवाद का खात्मा ठोस रणनीति से संभव - अभय तिवारी

डिजिटल डेस्क, भोपाल। 21वीं सदी में भारत की राजनीति में तेजी से बदल रही हैं। देश की राजनीति में युवाओं की बढ़ती रूचि और अपनी मौलिक प्रतिभा से कई आमूलचूल परिवर्तन देखने को मिल रहे हैं। बदलते और सशक्त होते भारत के लिए यह राजनीतिक बदलाव बेहद महत्वपूर्ण साबित होगा ऐसी उम्मीद हैं।

अलबत्ता हमारी खबरों की दुनिया लगातार कई चहरों से निरंतर संवाद करती हैं। जो सियासत में तरह तरह से काम करते हैं। उनको सार्वजनिक जीवन में हमेशा कसौटी पर कसने की कोशिश में मीडिया रहती हैं।

आज हम बात करने वाले हैं मध्यप्रदेश युवा कांग्रेस (सोशल मीडिया) प्रभारी व राष्ट्रीय समन्वयक, भारतीय युवा कांग्रेस अभय तिवारी से जो अपने गृह राज्य छत्तीसगढ़ से जुड़े मुद्दों पर बेबाकी से अपनी राय रखते हैं और छत्तीसगढ़ को बेहतर बनाने के प्रयास के लिए लामबंद हैं।

जैसे क्रिकेट की दुनिया में जो खिलाड़ी बॉलिंग फील्डिंग और बल्लेबाजी में बेहतर होता हैं। उसे ऑलराउंडर कहते हैं अभय तिवारी भी युवा तुर्क होने के साथ साथ अपने संगठन व राजनीती  के ऑल राउंडर हैं। अब आप यूं समझिए कि अभय तिवारी देश और प्रदेश के हर उस मुद्दे प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से लगातार अपना योगदान देते हैं। जिससे प्रदेश और देश में सकारात्मक बदलाव और विकास हो सके।

छत्तीसगढ़ में नक्सल समस्या बहुत पुरानी है. लाल आतंक को खत्म करने के लिए लगातार कोशिशें की जा रही है. बावजूद इसके नक्सल समस्या बरकरार है।  यह भी देखने आया की पूर्व की सरकार की कोशिशों से नक्सलवाद नहीं ख़त्म हुआ परन्तु कांग्रेस पार्टी की भूपेश सरकार के कदम का समर्थन करते हुए भारतीय युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय कोऑर्डिनेटर अभय तिवारी ने विश्वास जताया है कि कांग्रेस पार्टी की सरकार एक संवेदनशील सरकार है जो लड़ाई में नहीं विश्वास जीतने में भरोसा करती है।  श्री तिवारी ने आगे कहा कि जितने हमारे फोर्स हैं, उसके 10 प्रतिशत से भी कम नक्सली हैं. उनसे लड़ लेना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन विश्वास जीतना बहुत कठिन है. हम लोगों ने 2 साल में बहुत विश्वास जीता है और मुख्यमंत्री के दावों पर विश्वास जताया है कि नक्सलवाद को यही सरकार खत्म कर सकती है।  

बरहाल अभय तिवारी छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री बघेल के नक्सलवाद के खात्मे और छत्तीसगढ़ के विकास के संबंध में चलाई जा रही योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाने के लिए निरंतर काम कर रहे हैं. ज्ञात हो कि छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने यह कई बार कहा है कि अगर हथियार छोड़ते हैं नक्सली तो किसी भी मंच पर बातचीत के लिए तैयार है सरकार। वहीं अभय तिवारी  सर्कार के समर्थन में कहा कि नक्सली भारत के संविधान पर विश्वास करें और हथियार छोड़कर संवैधानिक तरीके से बात करें।  कांग्रेस सरकार संवेदनशीलता का परिचय देते हुए हर संभव नक्सलियों को सामाजिक  देने का प्रयास करेगी।  

बीते 6 महीने से ज्यादा लंबे चल रहे किसान आंदोलन में भी प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से अभय तिवारी की खासी महत्वपूर्ण भूमिका हैं। युवा कांग्रेस के बैनर तले वे लगातार किसानों की मदद के लिए लगे हुए हैं। वहीं मौजूदा वक्त में कोरोना की दूसरी लहर के बाद बिगड़ी स्थितियों में मरीजों को ऑक्सीजन और जरूरी दवाऐं निशुल्क उपलब्ध करवाने से लेकर जरूरतमंद लोगों को राशन की व्यवस्था करना। राजनीति से इतर बेहद जरूरी और मानव जीवन की रक्षा के लिए प्रयासरत हैं।

बहरहाल उम्मीद है कि देश जल्दी करोना से मुक्त होगा और छत्तीसगढ़ जैसा राज्य नक्सलवाद को जड़ से उखाड़ देगा। देश के बाकी संपन्न और विकासशील राज्यों की सूची में जल्द शामिल होगा। लेकिन ऐसा तभी संभव होगा जब अभय तिवारी जैसे युवा और विजनरी नेता निरंतर रणनीति के साथ काम करेंगे तो जल्द ही छत्तीसगढ़ भी देश के संपन्न राज्यों की सूची में शामिल होगा।