comScore

मां ने मोबाइल पर गेम खेलने से रोका तो 12 साल के लड़के ने लगा ली फांसी

मां ने मोबाइल पर गेम खेलने से रोका तो 12 साल के लड़के ने लगा ली फांसी

डिजिटल डेस्क, मुंबई। मोबाइल पर लगातार वीडियो गेम खेलने से रोके जाने से नाराज एक 12 साल के लड़के ने आत्महत्या कर ली। घटना मुंबई के शिवजी नगर इलाके की है। पुलिस ने मामले की छानबीन शुरू कर दी है। दरअसल मोहम्मद अली खान नाम के लड़के को मोबाइल पर वीडियो गेम खेलने की आदत थी। वह लगातार ऐसा करता रहता था।  लेकिन उसकी मां नीलोफर इस बात से काफी नाराज होती थी। सोमवार दोपहर मोबाइल गेम खेल रहा था शुरुआत में उसे उसकी मां ने गेम बंद करने को कहा लेकिन वह फिर भी नहीं माना तो नीलोफर ने उससे मोबाइल छीन लिया और पढ़ाई पर  ध्यान देने को कहा। इससे नाराज खान घर की तीसरी मंजिल पर गया और दरवाजा बंद कर लिया। वही उसने अपनी मां के दुपट्टे से फांसी लगा ली। आधे घंटे बाद मां उसे देखने गई तो दरवाजा अंदर से बंद था काफी खटखटाने के बाद भी जब उसने दरवाजा नहीं खोला तो दरवाजा तोड़ा गया। घर वालों ने देखा कि खान पंखे से लटका हुआ है।  उसे तुरंत राजावाडी अस्पताल ले जाया गया लेकिन दाखिल करने से पहले ही डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। सूचना मिलने के बाद शिवाजी नगर पुलिस ने एडीआर दर्ज की और खान के पिता का बयान लिया है। पुलिस के मुताबिक मामले में कुछ संदिग्ध नहीं दिख रहा है फिर भी मामले की छानबीन की जा रही है।

रेमेडीसीवीर की कालाबाजारी के आरोप में पांच गिरफ्तार

उधर कोरोना संक्रमण के इलाज के लिए इस्तेमाल होने वाली रेमेडीसीवीर इंजेक्शन की कालाबाजारी का एक और मामला सामने आया है। गुप्त सूचना के आधार पर जाल बिछाकर ठाणे पुलिस की अपराध शाखा ने पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों ने 5400 रुपए के एक इंजेक्शन के लिए 25 हजार रुपए में सौदा किया था। जबरन वसूली पथक के सीनियर इंस्पेक्टर राजकुमार कोथमिरे ने बताया कि कालाबाजारी की सूचना मिलने के बाद आरोपियों से फर्जी ग्राहक के जरिए संपर्क किया गया तो वह ब्लैक में बिना किसी कागजात के कई गुना ज्यादा पैसे लेकर रेमेडीसीवीर इंजेक्शन बेचने को तैयार हो गए। आरोपियों से 9 इंजेक्शन की मांग की गई तो वे इसके लिए भी राजी हो गए। तुरंत इंजेक्शन की मांग करने पर आरोपी ओला कार बुक कर नौपाडा इलाके में पहुंचे और फर्जी ग्राहक को 50 हजार रुपए लेकर दो रेमेडीसीवीर और एक एक्टेमरा इंजेक्शन दिया। इसी दौरान जाल बिछाकर बैठी पुलिस ने तीन आरोपियों को दबोच लिया। आरोपियों की निशानदेही दो और आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। तलाशी के दौरान आरोपियों के पास से कैंसर के इलाज और गर्भपात के लिए इस्तेमाल होने वाली कई मंहगी दवाइयां भी मिलीं हैं। जिन्हें जब्त कर लिया गया है।  मामले में अरुण सिंह, सुधाकर गिरी, रविंद्र शिंदे, वसीम अहमद शेख, अमीताब दास नाम के पांचों आरोपियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है मामले की छानबीन की जा रही है। इससे पहले भी मुंबई में सात जबकि ठाणे के ही मीरारोड इलाके दो आरोपियों की रेमेडीसीवीर इंजेक्शन की कालाबाजारी के आरोप इन गिरफ्तार किया जा चुका है।  
 

कमेंट करें
zmdoi