खामगांव: जिले में 194 केंद्र, 31 जुलाई को होगी परीक्षा

July 25th, 2022

डिजिटल डेस्क, खामगांव। महाराष्ट्र राज्य परीक्षा परिषद की ओर से  लिए जानेवाले पूर्व उच्च प्राथमिक कक्षा ५ तथा पूर्व माध्यमिक कक्षा ८वीं की छात्रवृत्ती परीक्षा आनेवाले ३१ जुलाई को होगी। इस परीक्षा में जिले के १९४ परीक्षा केंद्र पर करीबन १९ हजार १६२ छात्र छात्रवृत्ति परीक्षा देगें, परीक्षा के लिए शिक्षा विभाग सज्ज हुआ है। महाराष्ट्र राज्य परीक्षा परिषद की ओर से हरसाल पूर्व उच्च प्राथमिक कक्षा ५ तथा पूर्व माध्यमिक कक्षा ८वीं छात्रवृत्ति परीक्षा लि जाती हैं‌। परीक्षा के नतीजों के बाद पात्र ठहरे छात्रों को शासन व्दारा छात्रवृत्ति दी जाती हैं, सन २०२१–२२  इस शैक्षिणक  सात्र के लिए छात्रवृत्ति परीक्षा ली जाती हैं, जिसमें मराठी माध्यम, उर्दु, हिंदी, अंग्रेजी, सेमी अंग्रेजी समेत आदि माध्यम से परीक्षा ली जाएगी। भाषा, गणित, तृतीय  भाषा एवं बुध्दिमत्ता चाचणी इस  विषय के  लिए यह परीक्षा ली जाती हैं। इस परीक्षा के लिए केंद्र संचालकों की नियुक्ति की है,  परीक्षा के लिए  शिक्षण विभाग सज्ज हुआ होकर जिला परिषद के शिक्षणाधिकारी के मार्गदर्शन में सभी पंचायत समिति के गुटशिक्षाधिकारी, समग्र शिक्षा अभियान में सभी कर्मचारी,  केंद्र प्रमुख, केंद्र संचालक एवं मुख्याध्यापक तैयारी के लिए लगे है।

अतिवृष्टि के कारण अब ३१ जुलाई को होगी परीक्षा

पूर्व उच्च प्राथमिक छात्रवृत्ति परीक्षा कक्षा ५ तथा पूर्व माध्यमिक छात्रवृत्ति कक्षा ८वीं की २०२२ यह २० जुलाई को राज्य के सभी जिलो में  एक ही दिन होनेवाली थी। लेकीन आज की स्थिति में राज्य के कई जिलों में हो रहे अतिवृष्टि के कारण निर्माण हुए बाढदृश्य स्थिति एवं कई जगह यातायात भी बंद होने वाले दिक्कते एवं छात्रों के हित एवं उनकी सुरक्षा को ध्यान में रखते उक्त परीक्षा ३१ जुलाई को ली जाएगी, इस बाबत का पत्र शिक्षा विभाग ने निकाला हैं।

छात्र आत्मविश्वास से परीक्षा के सामने जाएं

गजानन  गायकवाड, गुटशिक्षाधिकारी पंचायत समिति के मुताबिक कक्षा ५ एवं ८वीं की छात्रवृत्ति परीक्षा यह फरवरी २०२२ में होने वाली थी, लेकीन वह  २० जुलाई को लेने का निश्चित हुआ,  किंतु  अब बाढ़ जैसी स्थिति को ध्यान में रखते यह परीक्षा ३१ जुलाई को होगी। परीक्षा होने  में समय लग  रहा हैं, लेकिन इस  कालावधि में  छात्रों को पढाई के लिए समय  मिला हैं। इस लिए  मिले हुए समय  का सदुपयोग कर छात्रों ने आत्मविश्वास से  परीक्षा को सामने  जाए।