comScore

वर्षा में उद्धव तो तीन मंत्रियों को मिला बंगला, वेटिंग पर तीन, फिर रामटेक पहुंचे भुजबल 

वर्षा में उद्धव तो तीन मंत्रियों को मिला बंगला, वेटिंग पर तीन, फिर रामटेक पहुंचे भुजबल 

डिजिटल डेस्क, मुंबई। प्रदेश के नए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को सरकारी बंगला वर्षा आवंटित हुआ है। सोमवार को राज्य सरकार के सामान्य प्रशासन विभाग की तरफ से मुख्यमंत्री और तीन कैबिनेट मंत्रियों को सरकारी बंगले के आवंटन के लिए शासनादेश जारी किया गया। इसके अनुसार राकांपा के कैबिनेट मंत्री छगन भुजबल ने फिर से रामटेक बंगला पंसद किया है। वहीं राकांपा के कैबिनेट मंत्री जयंत पाटील सरकारी बंगले सेवासदन और शिवसेना के कैबिनेट मंत्री एकनाथ शिंदे रॉयलस्टोन में रहेंगे। प्रदेश के कैबिनेट मंत्री सुभाष देसाई, बालासाहब थोरात व नितिन राऊत को अब तक बंगला आवंटित नहीं हुआ है। फडणवीस सरकार में रामटेक बंगला तत्कालीन राजस्व मंत्री एकनाथ खडसे और बाद में पर्यटन मंत्री जयकुमार रावल, सेवासदन बंगला तत्कालीन शिक्षा मंत्री विनोद तावडे और रॉयलस्टोन बंगला तत्कालीन ग्रामीण विकास मंत्री पंकजा मुंडे को आवंटित हुआ था। अब एकनाथ शिंदे रॉयलस्टोन में रहेंगे। 

भुजबल की पंसद बरकरार 

राज्य में नई सरकार बनने के बाद समुद्र किनारे स्थित रामेटक बंगले में रहने के लिए मंत्री अकसर कतराते हैं क्योंकि रामेटक बंगले में रहने वाले मंत्री किसी न किसी विवाद में घिर जाते हैं। इसके बाद उन्हें मंत्री पद छोड़ना पड़ता है। इसके बावजूद राकांपा के कैबिनेट मंत्री भुजबल ने फिर से रामटेक बंगला पंसद किया है। भुजबल को रामटेक बंगले में रहते हुए पूर्व की आघाडी सरकार में अलग-अलग विवादों में फंसने के कारण इस्तीफा देना पड़ा था। भाजपा सरकार में राजस्व मंत्री रहे एकनाथ खडसे को पुणे में जमीन खरीद के मामले में अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा था। इसके बाद खडसे ने बंगला खाली कर दिया था। पर पिछले साल रामटेक बंगले को पूर्व पर्यटन मंत्री रावल को आवंटित किया गया था। साल 1995 में युति सरकार में तत्कालीन उपमुख्यमंत्री गोपीनाथ मुंडे रामटेक बंगले में रह चुके हैं। 

सेवासदन में रहने वाले मंत्रियों का घटा है कद!

सेवासदन बंगले को राकांपा के कैबिनेट मंत्री पाटील ने पंसद किया है। पाटील की सरकार और पार्टी में भी बड़ी हैसियत है। लेकिन सेवासदन में रहने वाले मंत्रियों का कद कम होता रहा है। राज्य की भाजपा सरकार के दौरान सेवासदन बंगले में प्रदेश के तत्कालिन शिक्षा मंत्री विनोद तावडे रहते थे। तावडे की गिनती कभी मुख्यमंत्री पद के दावेदारों में होती थी लेकिन इस बार विधानसभा चुनाव में तावडे को टिकट भी नसीब नहीं हुआ। आघाडी सरकार में तत्कालीन राजस्व मंत्री बालासाहब थोरात इस बंगले में रहते थे। 

नए बंगले की खोज में सुभाष देसाई

शिवसेना के कैबिनेट मंत्री सुभाष देसाई अब नए बंगले की खोज में हैं। फडणवीस सरकार में उद्योग मंत्री के नाते देसाई को पुरातन बंगला मिला था। लेकिन राज्य में शिवसेना के नेतृत्व में सरकार बनने के बाद देसाई का कद बढ़ गया है। इसलिए अब वे एक न्यारे बंगले की खोज में जुटे हैं। 

फडणवीस को मिला सागर बंगला 

विधानसभा में विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस की भी मुंबई में नए घर तलाश पूरी हो गई है। फडणवीस को मलबार हिल स्थित सागर बंगला मिला है। विधानमंडल के दोनों सदनों के विपक्ष के नेता आमतौर पर मंत्रालय के सामने स्थित बंगलों को पंसद करते हैं लेकिन फडणवीस ने मंत्रालय से दूर मलबार हिल पर स्थित सागर बंगला पंसद किया है। सागर बंगला भाजपा सरकार में आदिवासी विकास मंत्री रहे विष्णु सवरा को आवंटित हुआ था। 

मंत्रालय में कैबिन पर मंत्रियों का कब्जा 

मंत्रालय में मंत्रियों के लिए अब तक केबिन आवंटित करने के लिए शासनादेश जारी नहीं हुआ है। लेकिन मंत्रालय में मंत्रियों ने केबिन पर कब्जा जमाना शुरू कर दिया है। मंत्रालय की पांचवीं मंजिल पर स्थित केबिन में कैबिनेट मंत्री सुभाष देसाई बैठेंगे। देसाई ने पूर्व वित्त मंत्री सुधीर मुनगंटीवार की कैबिन को पंसद किया है। देसाई ने केबिन में नया सफेद रंग भी लगवाया है। वहीं शिवसेना के कैबिनेट मंत्री एकनाथ शिंदे मंत्रालय की पुरानी इमारत में तीसरी मंजिल पर कैबिन को चुना है। शिंदे पूर्व राजस्व मंत्री चंद्रकांत पाटील की केबिन में बैठेंगे। 
 

कमेंट करें
bwf46