comScore

स्पेशल ट्रेनों से नागपुर पहुंचे 300 और भेजेे गए 248 यात्री, अब स्टेशन पर मिलेगा मास्क और सैनिटाइजर

स्पेशल ट्रेनों से नागपुर पहुंचे 300 और भेजेे गए 248 यात्री, अब स्टेशन पर मिलेगा मास्क और सैनिटाइजर

डिजिटल डेस्क, नागपुर। देश में कोरोना का संक्रमण रोकने के लिए रेलवे ने गत 22 मार्च से यात्री गाड़ियों का संचालन बंद कर दिया है। इसके कारण बड़ी संख्या में श्रमिकों से लेकर अन्य लोग जगह-जगह फंसे हुए हैं। इसमें नागपुर के भी लोग शामिल हैं। पिछले कुछ दिनों से रेलवे श्रमिकों को उनके घर पहुंचाने के लिए श्रमिक और स्पेशल ट्रेन चला रही है। इन ट्रेनों से लोगों को उनके घरों तक पहुंचाया जा रहा है।  शनिवार को नागपुर स्टेशन पर कुल 3 स्पेशल गाड़ियां पहुंचीं, जिससे 300 यात्री नागपुर स्टेशन पर उतरें, जबकि 248 यात्री यहां से रवाना हुए हैं। इसके अलावा 15 श्रमिकों को भी भेजा गया। गत सप्ताह भर से चल रही इन ट्रेनों से अभी तक नागपुर में हजारों यात्री पहुंचे हैं। शनिवार को भी यहां 300 यात्री आए, जबकि 248 यात्री यहां से रवाना हुए हैं। ट्रेन नंबर 02434 नई दिल्ली-चेन्नई एक्सप्रेस से 105 यात्री यहां पहुंचे और यहां से 128 यात्रियों को रवाना किया गया। इसी तरह ट्रेन नंबर  02692 नई दिल्ली-बंगलुरु से 80 यात्री नागपुर पहुंचे और 24 यात्री रवाना हुए हैं। ट्रेन नंबर 02691 सिकंदराबाद-नई दिल्ली एक्सप्रेस से 115 यात्री नागपुर पहुंचे, यहां से 96 यात्री रवाना हुए हैं। यहां आनेवाले सभी यात्रियों को नियमानुसार सील लगाकर होम क्वारंटाइन के लिए भेज दिया गया।

स्टेशन पर कियोस्क से मिलेगा यात्रियों को मास्क व सैनिटाइजर

कोविड-19 के संक्रमण को रोकने के लिए अब रेलवे ने एक और कदम उठाया है। स्टेशन पर कियोस्क से मास्क व सैनिटाइजर दिया जाएगा। हालांकि इसके लिए यात्रियों को पैसे खर्च करने पड़ेंगे, लेकिन इस तरह की सुविधा स्टेशन पर मिलने से यात्रियों को कोरोना से दूर रखने में मदद मिलेगी। अभिनव आइडिया  लॉकडाउन के कारण ट्रेनों का संचालन बंद है। केवल स्पेशल व श्रमिक गाड़ियों का संचालन किया जा रहा है। यात्रियों को कोरोना संक्रमण से दूर रखने के लिए स्टेशन पर मध्य रेल नागपुर मंडल की ओर से ‘अभिनव आइडिया’ के तहत ऑटोमेटिक वेंडिग कियास्क द्वारा फेस मास्क एवं सैनिटाइजर मिलेगा। भारतीय रेल मे पहली बार मध्य रेल नागपुर मंडल ने नागपुर रेलवे स्टेशन पर कोविड-19 की महामारी की रोकथाम के लिए ऑटोमेटिक वेडिंग कियोस्क द्वारा 3 प्ले फेस मास्क 10 रुपए तथा एनपी 5 सैनिटाइजर 100 एमएल  की बोतल 50 रुपए में मिलेगी। भारतीय रेलवे का इस तरह का पहला अनुबंध है। इससे रेलवे को  लाइसेंस के रूप में  नॉन फेयर रेवेन्यू प्रति वर्ष 12 हजार रुपए का राजस्व प्राप्त होगा।

विशेष ट्रेन में नहीं दिखा सोशल डिस्टेंस, यात्री ने लगाया आरोप

शुक्रवार को दिल्ली से चलने वाली 02692 नई दिल्ली-बंगलुरु विशेष ट्रेन में शनिवार सुबह नागपुर पंहुची। इस ट्रेन में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं होने का खुलासा हुआ है। ट्रेन में यात्रा करने वाले यात्री टी. के. व्यंकटेश ने अपने अनुभव को साझा करते हुए बताया कि रात में ट्रेन में आग लगने की बात पता चली। ट्रेन को रोक कर सभी यात्रियों को उतारकर जांच की गई, लेकिन सूचना अफवाह निकली। ट्रेन में आग लगने की अफवाह :साउथ इंडियन एजुकेशन सोसाइटी के अध्यक्ष टी. के. व्यंकटेश ने बताया कि ट्रेन में किसी तरह की सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं हो रहा। पूरे कोच पैक थे। इसी बीच रात में आग लगने की जानकारी मिली। जांच हुई तो स्पष्ट किया गया कि आग लगने की केवल अफवाह है। हालांकि ट्रेन में कुछ जलने की बदबू आ रही थी। ट्रेन में यात्रा के दौरान वॉशबेसिन पर और हर एक यात्री के पास सैनिटाइजर और हैंडवॉश था। खाने-पीने के लिए सूखे पैकेट मिल रहे थे। चाय मिल रही थी। भोपाल से आंध्रप्रदेश के बच्चे चढ़े। उन्होंने पूरी सीट को सैनिटाइज किया फिर सोए। झांसी में सबसे ज्यादा लोग उतरे। नागपुर में सभी सुविधा बहुत अच्छी थी।


 

कमेंट करें
9rVe0