दैनिक भास्कर हिंदी: हाई वे पर 38 महीने में 3659 लोगों की सड़क हादसों में मौत, नागपुर विभाग में पुलिस का टोटा

April 21st, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। हाई वे पुलिस नागपुर विभाग के तहत पिछले 38 महीने में हुई 3584 दुर्घटनाओं में 3659 लोगों की दर्दनाक मौत हुई, साथ ही 4002 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। दुर्घटना में जिन लोगों की मृत्यु हुई उनमें से 3659 लोगों की घटनास्थल पर ही मृत्यु हुई। इन्हें इलाज के लिए अस्पताल पहुंचाने तक का वक्त नहीं मिल सका। यह खुलासा आरटीआई में हुआ है। सरकार द्वारा दुर्घटनाओं की रोकथाम के लिए कई कदम उठाने के बावजूद दुर्घटनाआें को सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा। जानकारी के अनुसार हाई वे पुलिस नागपुर विभाग के तहत विदर्भ और मराठवाडा का नांदेड जिला आता है। हाई वे पर यातायात को सुचारु बनाए रखने की जिम्मेदारी हाई वे पुलिस की होती है। इसके लिए हाई वे पुलिस की तरफ से 16 स्थानों पर हाई वे पुलिस मदद केंद्र बने हुए है। हाई वे पर 2016 में 1048 दुर्घटनाएं हुई, जिसमें 1201 लोगों की मृत्यु हो गई। 2017 में 975 दुर्घटनाआें में 1117 लोगों की मौत हो गई। 2018 में 1185 दुर्घटनाओं में 1142 लोगों को जान गवानी पड़ी। फरवरी 2019 तक 376 दुर्घटनाओं में 199 लोगों की दर्दनाक मृत्यु हो गई। हाई वे पर ड्यूटी कर रहे 4 पुलिस कर्मियों की भी मौत हो गई। इन 38 महीनों में 4002 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। मरनेवालों में 3659 लोगों की जगह पर ही मृत्यु हुई थी।

साल    दुर्घटना  जख्मी    मृत्यु 

2016  1048   1268  1201
2017   975    1139   1117
2018   1185   1188   1142
फर.19  376     407      199

कुल    3584     4002   3659


महज 10 अधिकारी व 341 कर्मचारी 

हाई वे पुलिस नागपुर विभाग का कार्यसीमा विदर्भ व नांदेड जिले तक है। यह कार्यक्षेत्र सैकड़ों किमी तक फैला है और इसके लिए हाई वे पुलिस के पास केवल 10 अधिकारी व 341 कर्मचारी उपलब्ध है। हाई वे पुलिस के पास मोटरसाइकिल व जीप मिलाकर 48 वाहन है।