दैनिक भास्कर हिंदी: आंदोलन के 6 माह : दिल्ली से लेकर महाराष्ट्र तक किसानों ने मनाया काला दिन

May 26th, 2021

डिजिटल डेस्क, नागपुर। केन्द्र के कृषि कानूनों के खिला महाराष्ट्र की उपराजधानी सहित देशभर में काला दिन मनाया गया। महाराष्ट्र में नंदुरबार, नांदेड, अमरावती, मुबंई. नागपुर, सांगली, परभणी, ठाणे, बीड़, सोलापुर, बुलढाणा, कोल्हापुर, नासिक, औरंगाबाद, सातारा, पालघर, जलगांव में किसानों और आम नागरिकों ने अपने घर पर काले झंडे लागाकर और मोदी सरकार के पूतले जलाकर विरोध प्रदर्शन किया गया। उधर दिल्ली की सीमाओं पर आंदोलित किसानों ने अपने आंदोलन के 6 माह और मोदी सरकार के 7 साल पूरे होने पर बुधवार को विरोध दिवस मनाया। इस दौरान किसानों ने काले झंडे फहराए, सरकार विरोधी नारे लगाए और मोदी सरकार के पूतले जलाए। संयुक्त किसान मोर्चा ने अपने बयान में कहा है कि देश के विभिन्न राज्यों में किसान आंदोलन के समर्थन नागरिकों ने विरोध जताया है। 

विरोध दिवस के लिए पंजाब सहित आसपास के राज्यों से बड़ी संख्या में किसान दिल्ली की सीमाओं के धरना स्थलों पर पहुंचकर आज विरोध दिवस मनाया। साथ ही इकठ्‌ठे होकर मोर्चे को और मजबूत करने का फैसला कियाइस दौरान किसानों ने मोदी सरकार को चेतावनी दी कि जब तक किसानों की मांगे पूरी नहीं होती तब तक किसान वापस नहीं जायेंगे। सरकार चाहे जितना बदनाम करें, पुलिस बल का प्रयोग करें पर किसान डटे रहेंगे। किसानों ने आज धरना स्थलों पर दिन की शुरुआत बुद्ध पूर्णिमा मनाकर की थी। संयुक्त किसान मोर्चा ने देशभर के नागरिकों से अन्नदाताओं को मिले भारी समर्थन के लिए उनका धन्यवाद किया है। बयान जारीकर्ताओं में बलवीर सिंह राजेवाल, डॉ दर्शन पाल, गुरनाम सिंह चढूनी, हनन मौला, जगजीत सिंह डल्लेवाल, जोगिंदर सिंह उग्राहां, युद्धवीर सिंह, योगेंद्र यादव, अभिमन्यु कोहाड़ शामिल है।