यवतमाल: मेडिकल में लगेंगे 85 सीसीटीवी कैमरे, सुरक्षा दीवार की ऊंचाई 10 फीट बढ़ाएंगे

November 25th, 2021

डिजिटल डेस्क, यवतमाल। मेडिकल कॉलेज में गत दिनों डा. अशोक पाल की हत्या गाड़ी का कट लगने के कारण हुई थी। जिसके चलते मेडिकल कॉलेज के छात्र संतप्त हो गए थे। उन्होंने सुरक्षा कड़ी करने की मांग की थी। इस घटना के बाद पहलीबार पहुंचे जिले के पालकमंत्री संदीपान भुमरे ने बुधवार की शाम मेडिकल कॉलेज का दौरा किया। वहां उपस्थित चिकित्सकों से बातचीत की। जिसके बाद सुरक्षा के कड़े इंतजाम करने  के निर्देश दिए। पालकमंत्री भुमरे के निर्देशानुसार मेडिकल कॉलेज क्षेत्र में 85 सीसीटीवी कैमेरे लगनेवाले हैं। ताकि कोई भी घटना उसमें कैद हो सके। मेडिकल कॉलेज के आसपास के लोग दीवार की ऊंचाई कम होने के कारण उसे फांदकर आसानी से आ जाते हैं। इसीलिए यह सुरक्षा दीवार 10 फीट और ऊंची करने का निर्णय लिया गया है। यही नहीं इस क्षेत्र में अंधेरा न रहे इसलिए 15 नए हाईमास्ट लाइट लगाए जानेवाले हैं। यहां पर 24 घंटे पुलिस चौकी बनाई जानेवाली है। इस पुलिस चौकी को एक जीप और दो मोटर साइकिल गश्त के लिए दी गई है। जिससे पुलिस कर्मी, मेडिकल परिसर में गश्त लगाएंगे। इस दौरान कोई संदिग्ध स्थिति  में दिखाई देने पर उसके खिलाफ कार्रवाई भी की जानेवाली है। पालकमंत्री भुमरे ने बुधवार को मेडिकल कैंपस का मुआयना किया। 

सुरक्षा के लिए जायजा बैठक ली। उसमें जिलाधिकारी अमोल येडगे, सीईओ डा.श्रीकृष्ण पांचाल, एसपी डा. दिलीप भुजबल, डीन डा. सुरेंद्र गवार्ले उपस्थित थे। यवतमाल मेडिकल कॉलेज का कैम्पस 127 एकड़ में फैला हुआ है। इसे सीसीटीवी में लाने के लिए 85 कैमेरे लगनेवाले हैं। इस सीसीटीवी में अस्पताल में आनेवाले हर व्यक्ति का चेहरा और उनके वाहनों के छायाचित्र रिकार्ड किए जानेवाले हैं। उसी प्रकार अस्पताल की सुरक्षा दीवार 10 फीट तक बढ़ाकर उसपर 2 फीट तार का कंपाउंड इस प्रकार डाला जाएगा कि उसे पार कर कोई आ न सके। यह दीवार अतिक्रमण से मुक्त होगी। मुख्य प्रवेशद्वार छोड़कर अन्य किसी भी स्थान से प्रवेश पर पाबंदी लगाई गई है। 

अस्पताल में साफसफाई नहीं होने से उन्होंने नाराजी जताई। उन्होंने अधिकारयों से कहा कि सिर्फ अस्पताल की बिल्डिंग बाहर से चकाचक रखकर  नहीं चलेगा। पूरा क्षेत्र साफसुथरा रहे इस ओर ध्यान देना जरूरी है। कई स्थानों पर पेड़ों की ऊंचाई बढ़ जाने से रात के समय रास्ते पर अंधेरा रहता है। इसलिए इन पेड़ों की टहनियां काटने काे कहा गया। सीसीटीवी के क्षेत्र में वहां से आवागमन करनेवाले लोग आसानी से दिख सके। इस क्षेत्र के कुछ लाइट बंद थे। उसे भी शीघ्र शुरू करने के निर्देश दिए गए है। छात्रावास की क्षमता बढ़ाकर 200  विद्यार्थियों के लिए अतिरिक्त छात्रावास निर्माण करने की सूचना दी। इस समय यहां के छात्रों ने भी पालकमंत्री को उनकी समस्या बताई। सुरक्षा की उपाययोजना करने का अनुरोध किया। उसी प्रकार मृतक छात्र डा.अशोक पाल के अभिभावकों को सीएम से सहायता देने का प्रस्ताव भेजे जाने की जानकारी दी। इस समय मेडिकल कॉलेज के चिकित्सक, अधिकारी, छात्र प्रतिनिधि, बिजली एवं सार्वजनिक विभाग के अधिकारी,  नप की सीओ माधुरी मडावी और संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।