दैनिक भास्कर हिंदी: दो बेटियों, पत्नी और मां-बाप को छोड़ा भगवान भरोसे, किसान ने कर ली आत्महत्या

August 16th, 2019

डिजिटल डेस्क, यवतमाल। आर्णी में एक और किसान ने कर्ज से परेशान होकर मौत को गले लगा लिया। आपको बता दें जिले में किसान आत्महत्या के मामले लगातर बढ़ते ही जा रहे हैं। तहसील के अंतर्गत आने वाले गांव कोसदनी में एक युवा ने घर में जहर पीकर खुदकुशी कर ली। घटना शुक्रवार सुबह 7 बजे की बताई जा रही है। खबर के मुताबिक रजनीश अरुण तिवारी कि उम्र महज 36 साल थी, वो पेशे से किसान था। उसपर सोसाइटी के 65 हजार रुपए के अलावा निजी साहूकारों का भी कर्ज बकाया था। साथ ही पिछले कुछ वर्षों से फसल ठीक से न होने के कारण भी परेशान रहता था। इस वजह से कर्ज नहीं चुका पा रहा था।

जीवन लीला समाप्त

किसान ने आत्महत्या कर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली, लेकिन वो अपने पीछे वृद्ध माता-पिता, पत्नी और दो बेटियों को छोड़ गया। जिनके सामने अब दो जून की रोटी का सवाल खड़ा हो गया है। परिवार का कमाऊ पूत मुफलिसी की मार झेल रहा था। जैसे-तैसे दो वक्त की रोटी का जुगाड़ हो ही जाता था, इसके बाद अब बेटियों और बुजुर्ग मां-बांप को कौन देखेगा, परिवार को इसी बात की चिन्ता सता रही है।