दैनिक भास्कर हिंदी: शहर में बनेगा सबसे लंबा नया फ्लाईओवर, टू लेन में 3-4 जगह लैंड करने की भी तैयारी

February 9th, 2018

डिजिटल डेस्क,नागपुर। उपराजधानी में 6 कि.मी का नया फ्लाई ओवर बनने जा रहा है। इंदोरा से सक्करदरा तक बनने  वाले फ्लाईआेवर  का डीपीआर केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्रालय के निर्देश पर राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचए) नागपुर ने डीपीआर तैयार किया है। इंदोरा से सक्करदरा तक का फासला 6 किमी से ज्यादा है। अगर यह फ्लाईआेवर साकार हुआ तो यह शहर का सबसे लंबा फ्लाईआेवर होगा। हालांकि तीन से चार जगह इस फ्लाईआेवर को लैंड करने की भी योजना है। एनएचए ने डीपीआर गत वर्ष ही एनएचए मुख्यालय के मार्फत केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्रालय को भेज दिया है। 

ऐसे बढ़ा कदम
शहर की यातायात व्यवस्था को चुस्त -दुरुस्त करने के लिए केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितीन गडकरी ने नागपुर में कई जगह फ्लाईआेवर बनाने की घोषणा की थी। उसी घोषणा में इंदोरा से अग्रसेन चौक तक फ्लाई आेवर बनाने की बात शामिल थी। अग्रसेन चौक से अशोक चौक तक ट्राफिक जाम रहने से इस फ्लाईआेवर को अग्रसेन चौक से अशोक चौक तक बढ़ाने का प्रस्ताव आया। इस पर एनएचए नागपुर ने अपनी तरफ से सर्वे किया आैर विभाग को रिपोर्ट दी। एनएचए ने पिछले साल गोलीबार चौक से गांजाखेत चौक के बीच ड्रील करके जमीन का मुआयना भी किया था। इस बीच यह प्रस्ताव आया कि इस फ्लाईआेवर को अशोक चौक से आगे सक्करदरा चौक तक बढ़ाया जाए। एनएचए ने डीपीआर तैयार कर इसे एनएचए मुख्यालय भेजा। एनएचए मुख्यालय से डीपीआर केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्रालय भेजा गया। अब इस पर अंतिम निर्णय केंद्रीय मंत्री नितीन गडकरी को करना है। 

ऐसी है योजना - शहर में वर्तमान में जितने फ्लाईआेवर है, उनकी लंबाई  2 किमी से ज्यादा नहीं है। इंदोरा चौक से सक्करदरा चौक तक की लंबाई 6.2 किमी है। प्रस्तावित फ्लाईआेवर टू-लेन का होगा। वर्तमान में जो पांचपावली फ्लाईआेवर है, वह इस प्रस्तावित फ्लाईआेवर से जुड़ सकता है। उमरेड रोड का भांडे प्लाटफ्लाई आेवर भी इससे जुड़ेगा। 

फ्लाई ओवर  के ऊपर से गुजरेगी मेट्रो ट्रेन-   डीपीआर में जो फ्लाईआेवर प्रस्तावित है, उसके मार्ग में अग्रसेन चौक पर मेट्रो रेल क्रॉस हो रही है। इस जगह मेट्रो रेल फ्लाईआेवर के ऊपर से दौड़ेगी। यानी फ्लाईआेवर व मेट्रो के बीच तय मानक के अनुसार फासला रहेगा। 

समिति ने किया डीपीआर स्वीकार -  मुख्यालय ने जिन बिंदुआें को ध्यान में रखकर डीपीआर बनाने को कहा था, उस हिसाब से डीपीआर तैयार हुआ है। एनएचए की समिति व मंत्रालय में कार्यरत तकनीकी एक्सपर्ट सदस्यों की समिति ने इस डीपीआर को अपने स्तर पर स्वीकार किया है। यानी एक्सपर्ट की इस समिति ने यह डीपीआर मंजूर किया है। 

निर्णय सरकार को लेना है
इंदोरा से सक्करदरा तक फ्लाईआेवर बनाने का डीपीआर तैयार कर इसे एनएचए मुख्यालय को भेजा गया है। वहां से यह डीपीआर एक्सपर्ट कमेटी के पास गया। तीन से चार जगह फ्लाईआेवर की लैंडिंग होगी। जो सुधार मांगे गए थे, वह भी डीपीआर में किए गए। अब निर्णय सरकार को करना है। 
-एन. एल. येवतकर, प्रोजेक्ट डायरेक्टर एनएचए नागपुर.