तीन घंटे के भीतर पुलिस ने लड़की को दस्तयाब कर लिया: शादी का झांसा देकर नाबालिग को भगाया, जबलपुर से गिरफ्तार

September 28th, 2021


डिजिटल डेस्क शहडोल। शादी का झांसा देकर नाबालिग को भगा ले जाने वाले आरोपी को पुलिस ने तीन घंटे के भीतर ही जबलपुर से पकड़ लिया। नाबालिग को परिजनों के सुपर्द करते हुए आरोपी के खिलाफ धारा 363, 366 ए भादवि का प्रकरण दर्ज करते हुए जेल भेज दिया गया है।
   अमलाई पुलिस के अनुसार नाबालिग के पिता ने थाना में रविवार को दोपहर करीब 1 बजे जानकारी दी थी कि उसकी नाबालिक लड़की को कोई बहला फुसलाकर ले गया है। उन्होंने अशोक कुमार रौतेल पिता लल्लू कोल निवासी ग्राम क्योटार थाना जैतहरी जिला अनूपपुर पर संदेह जताया था। यह भी पता चला था कि आरोपी राजकोट में मजदूरी करता है। अपराध पंजीबद्ध कर मामले को विवेचना मे लिया गया। पतासाजी में अपहृता व संदेही के जबलपुर मे होने की सूचना मिली। इस दौरान जबलपुर पुलिस को सूचना दी गई और राजकोट जाने वाली टे्रन से नाबालिग को दस्तयाब कर लिया गया। यहां से गई टीम दोनों को लेकर आई। नाबालिग को माता-पिता के सुपुर्द किया गया। जबकि आरोपी 21 वर्षीय अशोक कुमार रौतेल को गिफ्तार कर न्यायालय बुढ़ार पेश किया गया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया है। कार्रवाई थाना प्रभारी अमलाई निरीक्षक मो. समीर के निर्देशन में सउनि भूपेन्द्र सिंह, प्रआर नवीन, आरक्षक धीरेन्द्र, श्रुति की भूमिका थी।
दुष्कर्म का आरोपी गिरफ्तार
महिला थाना पुलिस ने शादी का झांसा देकर दुष्कर्म करने वाले आरोपी को गिरफ्तार किया है। थाने में महिला ने इस आशय की रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी कि संजय श्याम दसानी निवासी शहडोल ने पति की मौत के बाद शादी का झांसा देकर दुष्कर्म करता रहा। शादी के लिये बोलने पर आरोपी ने शादी करने से मना कर दिया और पहले से शादीशुदा होने की बात कही। आरोपी ने बात नहीं करने पर महिला को जान से मारने की धमकी दी। रिपोर्ट पर आरोपी के विरुद्ध दुष्कर्म का अपराध पंजीबद्ध कर  संजय श्याम दसानी को गिरफ्तार किया गया। कार्रवाई में महिला थाना प्रभारी निरीक्षक श्रीमति ज्योति सिकरवार के नेतृत्व में उनि आराधना तिवारी, आरक्षक गिरीश मिश्रा, अजय बघेल एवं सावित्री सिंह की भूमिका थी।

खबरें और भी हैं...