दैनिक भास्कर हिंदी: मदद के बहाने युवती के साथ दुष्कर्म करनेवाला आरोपी गिरफ्तार, दूसरे मामले में मासूम के साथ रेप फिर हत्या 

November 18th, 2019

डिजिटल डेस्क, मुंबई। पंजाब स्थित अपने घर से भागकर मुंबई पहुंची एक 18 वर्षीय युवती से बलात्कार करने वाले 45 वर्षीय आरोपी को नागपाडा पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपी ने युवती को अकेले स्टेशन पर देखा तो उससे संपर्क किया। फिर मदद के बहाने उसे कमाठीपुरा इलाके में स्थित एक कमरे में ले गया और उसके साथ बलात्कार किया। आरोपी के चंगुल से भागकर लड़की ने एक पुलिसकर्मी से आपबीती सुनाई और मामले की शिकायत पुलिस स्टेशन में दर्ज कराई। गिरफ्तार आरोपी का नाम अख्तर कुरैशी है। पुलिस के मुताबिक पीड़िता 17 अक्टूबर को अपने घर से 10 हजार रुपए लेकर भाग निकली थी। वह किसी तरह 9 नवंबर तक मुंबई पहुंची लेकिन तब तक उसके सारे पैसे खत्म हो गए थे। मुंबई सेंट्रल रेलवे स्टेशन पहुंची लड़की को अकेली और परेशान देखकर कुरैशी उसके पास पहुंचा। कुरैशी ने लड़की से मदद का वादा किया और उसे अपने साथ ले गया। कुरैशी ने कमाठीपुरा इलाके में स्थित एक घर में ले जाकर लड़की को नाश्ता कराया। लेकिन इसके बाद उसने लड़की से अश्लील हरकत शुरू कर दी। लड़की ने विरोध किया और शोर मचाया तो आरोपी ने कहा कि यह रेड लाइट एरिया है यहां उनकी आवाज कोई नहीं सुनेगा। आरोपी ने युवती के साथ बलात्कार किया। इसके बाद वह किसी तरह आरोपी के चंगुल ने भागी और सड़क पर वर्दी में दिख रहे एक पुलिसकर्मी के पास पहुंची। उसने पुलिसवाले को घटना की जानकारी दी। जिसके बाद नागपाडा पुलिस स्टेशन में आरोपी के खिलाफ बलात्कार के आरोप में एफआईआर दर्ज की गई। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। 

 

14 साल की लड़की के साथ दुष्कर्म के बाद हत्या- डेढ माह बाद हुआ खुलासा 

वहीं समता नगर पुलिस ने 14 साल की लड़की की बलात्कार के बाद हत्या करने वाले एक आरोपी को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपी का नाम अजय वनवासी (25) है। लड़की डेढ़ महीने से लापता था। शक के आधार पर पकड़े गए आरोपी ने खुलासा किया कि उसने बलात्कार का विरोध करने पर लड़की की हत्या कर उसका शव जला दिया। लड़की के परिवार वालों की शिकायत के आधार पर पुलिस ने दो अक्टूबर को उसकी गुमशुदगी की शिकायत दर्ज की थी। लड़की के मोबाइल नंबर की जांच के दौरान पुलिस को आरोपी का नंबर मिला। आखिरी बार उन दोनों के बीच बातचीत हुई थी। पुलिस वनवासी को संदेह के आधार पर लगातार पूछताछ के लिए बुलाती रही लेकिन वह दावा करता रहा कि उसे लड़की के बारे में कोई जानकारी नहीं है। वह पुलिस के बुलाने पर हमेशा पुलिस स्टेशन पहुंचता और जांच में सहयोग की दिखावा करता। लेकिन कड़ाई से पूछताछ करने पर उसने अपना अपराध स्वीकार कर लिया। सीनियर इंस्पेक्टर राजू कसबे ने बताया कि आरोपी ने एक अक्टूबर को लड़की को फोन कर दोपहर के वक्त अपने घर बुलाया था। उस दौरान वह घर पर अकेला था। उसने लड़की के साथ बलात्कार की कोशिश की लेकिन लड़की ने इसका विरोध किया और चिल्लाने लगी। इससे नाराज आरोपी ने लड़की के सिर पर पानी की बोतल से प्रहार किया और फिर गला दबाकर उसकी हत्या कर दी। इसके बाद आरोपी ने लड़की का शव एक बड़े बैग में भरा और पालघर के तलासरी इलाके में ले जाकर शव जला दिया। 3 अक्टूबर को तलासरी पुलिस ने अज्ञात शव मिलने के बाद हत्या का मामला दर्ज कर छानबीन शुरू की थी लेकिन वे पीड़िता की पहचान नहीं कर सके थे। सीनियर इंस्पेक्टर राजू कसबे ने बताया कि आरोपी के खिलाफ आईपीसी की धारा 302, 201, 354 और पाक्सो कानून की धारा 8, 12 के तहत एफआईआर दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया गया है। कोर्ट में पेशी के बाद उसे 25 वनंबर तक पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है।    
 

खबरें और भी हैं...