दैनिक भास्कर हिंदी: मिलावटी पनीर बनाते हुए तीन धराए, विसरा रिपोर्ट के लिए घूस मांगने वाला भी चढ़ा हत्थे

February 2nd, 2019

डिजिटल डेस्क, मुंबई। महानगर से सटे वसई इलाके से पुलिस ने एसिड, गिल्सरॉल, पाउडर जैसे घातक रसायनों का इस्तेमाल कर पनीर बनाने वाले तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आरोपी यह पनीर आसपास के इलाकों में स्थित होटलों, ढाबों और रिसॉर्ट में बेचते थे। बरामद पनीर का वजन करीब 400 किलो और कीमत 1 लाख 60 हजार रुपए बताई जा रही है।

दरअसल पालघर पुलिस को सूचना मिली थी कि कामण इलाके में स्थित शुक्ला डेयरी में दूध की जगह शरीर के लिए नुकसानदेह रसायनों की मदद से पनीर तैयार किया जा रहा है। इस दुकान का मालिक अभिनय शुक्ला है। इसके बाद पुलिस की टीम ने गुरूवार रात छापा मारा तो वहां से पनीर बनाने के लिए इस्तेमाल किए जा रहे एसेटिक एसिड, ग्लिसरॉल, पाउडर जैसे सामान मिले। इसके अलावा इन्ही रसायनों की मदद से बनाया गया पनीर भी पुलिस ने जब्त कर लिया।

छापेमारी के दौरान रसायनों से पनीर बना रहे तीन आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के मुताबिक जिस जगह पनीर तैयार किया जा रहा था वह बेहद अस्वच्छ भी थी। कार्रवाई के बाद अन्न व औषधि प्रशासन के अधिकारियों को भी मौके पर बुलाया गया। बरामद पनीर के सैंपल लेने के बाद बचा हुआ पनीर नष्ट कर दिया गया है। 

विसरा रिपोर्ट के लिए घूस मांगने वाला गिरफ्तार
उधर पत्नी की विसरा रिपोर्ट जल्द देने के लिए एक शख्स से पांच हजार रुपए घूस मांगने वाले जेजे अस्पताल के कर्मचारी को भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) ने गिरफ्तार किया है। आरोपी का नाम महेंद्र सुपत है। सुपत जेजे अस्पताल में कक्ष सेवक के तौर पर काम करता है। दरअसल शिकायतकर्ता की पत्नी की हादसे में मौत हो गई थी। घाटकोपर पुलिस स्टेशन में दर्ज एडीआर के आधार पर उनकी पत्नी की विसरा जांच के लिए जेजे अस्पताल भेजी गई थी। जेजे अस्पताल के पैथेलॉजी विभाग से रिपोर्ट हासिल करने के लिए शिकायतकर्ता ने सुपत से संपर्क किया तो उसने पांच हजार रुपए घूस मांगी। इसके बाद शिकायतकर्ता ने एसीबी को इसकी जानकारी दे दी। शुक्रवार को एसीबी ने जाल बिछाकर आरोपी को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया।