दैनिक भास्कर हिंदी: ऑनलाइन ठगी के लिए बदनाम जामतारा से पकड़ा गया आरोपी, लगाया था तीन लाख का चूना 

April 30th, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई। सोशल मीडिया पर फर्जी विज्ञापन के जरिए डेबिट कार्ड बनाने का झांसा देकर तीन लाख रुपए की ठगी करने वाले 21 वर्षीय आरोपी को मुंबई की साइबर पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पकड़ा गया आरोपी ऑनलाऊन ठगी के लिए कुख्यात झारखंड के जामतारा इलाके का रहने वाला है। पुलिस मामले में आरोपी के एक साथी की भी तलाश कर रही है। गिरफ्तार आरोपी का नाम अर्जुन दास है। शिकायतकर्ता के मुताबिक फेसबुक देखते समय उन्हें एक विज्ञापन दिखा जिसमें अभ्युदय बैंक के खाताधारकों के लिए नया डेबिड कार्ड हासिल करने के लिए संपर्क करने को कहा गया। मुंबई पोर्टट्रस्ट में सिक्योरिटी सुपरवाइजर के तौर पर काम करने वाले 58 वर्षीय शिकायतकर्ता ने पुलिस को बताया कि उन्होंंने लिंक पर क्लिक कर एकाउंट से जुड़ी जानकारी जैसे नाम, खाता नंबर, आधार नंबर, मोबाइल नंबर आदि भर दी। इसके बाद उन्हें एक व्यक्ति का फोन आया जिसने कहा कि प्रक्रिया पूरी करने के लिए उन्हें मोबाइल पर आया यूपीआई कोड बताना होगा। शिकायतकर्ता के यूपीआई कोड बताते ही उनके खाते से तीन लाख रुपए दूसरे खाते में ट्रांसफर हो गए। 

एफआईआर दर्ज करने के बाद पुलिस ने ठगी के लिए इस्तेमाल मोबाइल नंबर और उसके सीडीआर के बारे में जानकारी साहिल की। पता चला कि आरोपी ने साइबर ठगी के लिए बदनाम  जामतारा से फोन किया था। इसके बाद पुलिस की एक टीम जामतारा गई और बीए की पढ़ाई कर रहे आरोपी को दबोच लिया। पकड़े गए आरोपी ने बताया कि उसने ठगी के जरिए हासिल रकम में से एक लाख रुपए अपनी मां के इलाज में खर्च कर दिए जबकि बाकी पैसे उसने अपने एक दोस्त के खाते में ट्रांसफर किए हैं। पुलिस आरोपी के दोस्त की तलाश में जुटी हुई है। आरोपी ने पूछताछ में यह भी खुलासा किया कि वह हर महीने इसी तरह पांच से छह लोगों से ठगी करता है।