comScore

40 बाजारों पर गाज : छलका दर्द - सब्जी बेच कर पाल रहे परिवार का पेट 

40 बाजारों पर गाज : छलका दर्द - सब्जी बेच कर पाल रहे परिवार का पेट 

डिजिटल डेस्क, नागपुर। मनपा आयुक्त तुकाराम मुंढे ने मनपा सीमा में सड़क व फुटपाथ पर लगने वाले बाजारों पर कार्रवाई करने के आदेश दिए हैं। शनिवार को अधिकारियों ने शहर के 10 जोन में 40 बाजारों  में सड़क व फुटपाथ पर सब्जी, फल व अन्य सामान बेचने वाले 2500 विक्रेताओं पर कार्रवाई की। जिन दुकानदारों ने अपनी दुकान सड़क व फुटपाथ तक फैलाई, उनका अतिक्रमण हटाया गया। पुलिस बंदोबस्त में मनपा अधिकारियों ने घूम-घूमकर बाजारों में कार्रवाई की। इससे सब्जी व फल विक्रेताओं में काफी रोष है। मनपा सीमा में मनपा के 10 जोन हैं और सभी जोन में हर दिन 50 से ज्यादा छोटे-बड़े बाजार लगते हैं। सड़क व फुटपाथ पर सब्जी व हाथठेले पर फल बेचने वालों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। रोजगार नहीं होने से लोग सड़क किनारे सब्जी बेचना शुरू कर देते हैं। इसमें खुलासा हुआ कि मनपा द्वारा जितने बाजार नोटिफाइड किए गए हैं, उससे कई गुना ज्यादा बाजार शहर में हर दिन लगते हैं। इससे यातायात का बुरा हाल हो जाता है। मनपा आयुक्त श्री मुंढे के आदेश पर अधिकारियों ने पुलिस बंदोबस्त में 40 बाजारों में 2500 से ज्यादा छोटे-बड़े विक्रेताओं पर कार्रवाई की। सभी जोन के सहायक आयुक्त, अतिक्रमण विभाग, उपद्रव शोध पथक, स्वच्छता विभाग, लोककर्म विभाग व बाजार विभाग के अधिकारियों ने मिलकर कार्रवाई की। 

मिली मंजूरी : महापौर ने दिए आदेश

मनपा द्वारा तय जगहों के अलावा अन्य जगहों पर लगने वाले साप्ताहिक बाजारों से यातायात की समस्या खड़ी होती है। महापौर संदीप जोशी ने इसे गंभीरता से लेते हुए वरिष्ठ पार्षद दयाशंकर तिवारी की अध्यक्षता में समिति का गठन किया था। समिति ने अतिक्रमण निर्मूलन के संदर्भ में कुछ नियम तय कर इसे सभागृह के समक्ष पेश किया था। सभागृह ने इसे मंजूरी दी थी। महापौर जोशी ने अतिक्रमण हटाने के निर्देश दिए थे।  

गिरी गाज : कई दुकानों के शेड और ओटे तोड़े 

शनिवार को प्रतापनगर चौक, माटे चौक, त्रिमूर्ति नगर चौक, जयताला, गोपाल नगर, गोकुलपेठ मार्केट, आशीर्वाद नगर चौक, मानेवाड़ा, उदय नगर चौक, कॉटन मार्केट, रमना मारोती, म्हालगी नगर, कमाल चौक, कबीर नगर, ताज नगर, चार खंभा चौक, गिट्टीखदान, गोरेवाड़ा, इटारसी पुलिया, महल बुधवारी, आयचित मंदिर, मातृसेवा संघ, नटराज टॉकीज चौक, हिवरी नगर, निकालस मंदिर परिसर, हरिगंगा बिल्डिंग, इतवारी अमरदीप टॉकीज, बगदिया चौक, तीन नल चौक, मारवाड़ी चौक, जागनाथ बुधवारी, झाड़े चौक, एच.बी.टाउन, भंडारा रोड, पारडी, जरीपटका, छावनी, काटोल रोड, मानकापुर, भरत चौक आदि बाजारों में कार्रवाई हुई। कई दुकानों के शेड हटाए गए और आेटे भी तोड़े गए। 

तनाव : शनिवारी बाजार में दस्ते का घेराव 

गांधीबाग जोन के शनिवारी बाजार में कार्रवाई करने गए दस्ते को विक्रेताओं के गुस्से का सामना करना पड़ा। विक्रेताआें का अधिकारियों से शाब्दिक विवाद हुआ। शनिवारी बाजार, साप्ताहिक बाजार व हाकर्स जोन होने का दावा नागपुर फेरीवाला फुटपाथ दुकानदार संगठन के महामंत्री रज्जाक कुरैशी कर रहे थे। अन्य विक्रेताओं ने उनका समर्थन किया। इससे कुछ समय के लिए तनाव उत्पन्न हो गया था। नारेबाजी कर रहे लोगों को पुलिस ने शांत किया। माहौल गरमाता देख दस्ते ने कार्रवाई स्थगित कर दी। हनुमान नगर जोन के उदय नगर में अवैध बाजार हटाते समय विक्रेताओं ने दस्ते का घेराव कर शाब्दिक विवाद किया। विक्रेता दो दिन का समय मांग कर रहे थे। मनपा यहां दो दिन बाद पुन: कार्रवाई करेगी। 

मिला साथ : सब्जी विक्रेताओं के साथ पहुंचे तृतीयपंथी 

मनपा दस्ते ने शनिवार को गाडगे नगर व मित्रविहार कालोनी परिसर में साप्ताहिक बाजार नहीं लगने दिया। सब्जी, फल व अन्य सामान लेकर पहुंचे विक्रेता पुलिस के साथ आए मनपा दस्ते को देखकर हैरत में पड़ गए। पुलिस ने बाजार लगाने पर कार्रवाई की चेतावनी दी। इसके बाद सब्जी विक्रेता नेहरू नगर जोन पहुंचे। इनके साथ तृतीयपंथी भी पहुंच गए। कार्रवाई के विरोध में नारेबाजी की गई।  उन्होंने सहायक आयुक्त स्नेहा करपे से मिलकर अपनी बात रखी। श्रीमती करपे ने सड़क पर साप्ताहिक बाजार नहीं लगाने को कहा। 

छलका दर्द : सब्जी बेच कर पाल रहे परिवार का पेट 

सब्जी विक्रेता हरिश्चंद्र ढवले, योगेश सिरपुरकर, मुकेश मोरले, कृष्णा निमजे व नरेंद्र बोंदरे ने कहा कि पिछले कई सालों से गाडगे नगर व अन्य साप्ताहिक बाजारों में सब्जी बेच रहे हैं। आज पुलिस ने बाजार लगाने से रोक दिया। नौकरी नहीं मिलने पर सब्जी बेच कर परिवार का पेट पालते हैं। बाजार बंद करने के पहले मनपा प्रशासन को हमारे बारे में विचार करना चाहिए था। हम कहां सब्जी बेच सकते हैं, यह मनपा तय करे। शहर में हर दिन 100 से ज्यादा बाजार लगते हैं। एक बाजार में 500 से 1000 लोग सब्जी, फल, जूते-चप्पल की दुकानें लगाते हैं। सवाल है कि सब्जी नहीं बेचेंगे, तो क्या करेंगे।
 

कमेंट करें
3TMAO