comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

आचार संहिता लागू होते ही नागपुर मनपा पदाधिकारियों ने छोड़े सरकारी वाहन

आचार संहिता लागू होते ही नागपुर मनपा पदाधिकारियों ने छोड़े सरकारी वाहन

डिजिटल डेस्क, नागपुर। विधानसभा चुनाव के लिए आचार संहिता लागू होते ही महानगरपालिका के प्रमुख पदाधिकारियों ने सरकारी वाहन प्रशासन को लौटा दिए। महापौर नंदा जिचकार व स्थायी समिति सभापति प्रदीप पोहाणे दोपहिया वाहन से घूमे। अन्य पदाधिकारियों ने भी वाहन प्रशासन को पहले लौटा दिए। जिला परिषद पहले से ही भंग है। लिहाजा जिला परिषद के पदाधिकारियों ने पहले ही वाहन लौटा दिए है। राज्य में 21 अक्टूबर को विधानसभा चुनाव के लिए मतदान किए जाएंगे। 24 अक्टूबर को चुनाव परिणाम आएंगे। चुनाव की घोषणा होते ही प्रशासन चुनाव कार्य में जुट गया है। शनिवार को दोपहर से ही विविध स्थानों से पोस्टर बैनर निकालना शुरु हो गया ।

जिलाधिकारी अश्विन मुद्गल ने प्रशासन के अधिकारियों की विशेष बैठक ली। जिले में मतदाता व मतदान के समय प्रशासन की आवश्यक तैयारी के संबंध में जानकारियां ली गई। चुनाव कार्य के तहत अधिकारियों की जिम्मेदारियों भी तय कर दी गइ  है। पुलिस प्रशासन ने एक दिन पहले ही चुनाव तैयारी को लेकर व्यापक चर्चा की है। चुनाव तैयारी को लेकर पुलिस की विभाग स्तर पर बैठक हुई। नागपुर विभाग में तीन राज्यों की सीमा है। मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ व तेलंगाना के विविध जिलों का सीधा संबंध है।

पुलिस ने सीमा सील करने का निर्णय लिया है। साथ ही छानबीन अभियान शुरु कर दिया है। पुलिस ने अपराधिक प्रवृति को लोगों पर नियंत्रण के लिए भी उपाययोजना की है। नामजद अपराधियों को जिले से बाहर भेजा जाएगा। इसके अलावा सार्वजनिक कार्यों के माध्यम से भीड़ जुटानेवालों को भी नोटिस दिया जा रहा है। पुलिस आयुक्त डॉ.भूषणकुमार उपाध्याय व जिला ग्रामीण के पुलिस अधीक्षक राकेश ओला ने सभी कर्मचारियों को चुनाव बंदोबस्त की तैयारी के हिसाब से कार्य करने को कहा है। 

कमेंट करें
I8yH1