दैनिक भास्कर हिंदी: एम्स का मिहान में होगा स्थानांतरण , प्रैक्टिस के लिए मेडिकल का ही सहारा

June 7th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। भारतीय आयुर्विज्ञान संस्था यानी एम्स का अगस्त महीने में स्थानांतरण होगा। मिहान में एम्स की 3 मंजिला इमारत बनकर तैयार हो चुकी है। नवनिर्मित इमारत में प्रथम और द्वितीय वर्ष के सभी प्रशिक्षणार्थियों के रहने और क्लास रूम की व्यवस्था रहेगी। सूत्रों ने बताया कि यंत्र सामग्री आना शुरू हो गई है। हालांकि अस्पताल सेवा शुरू होने के लिए थोड़ा इंतजार करना पड़ेगा। जब तक अस्पताल की सुविधा नहीं होगी, तब तक प्रैक्टिस के लिए शासकीय मेडिकल अस्पताल पर निर्भर रहना पड़ेगा।

एम्स की पहली बैच पिछले वर्ष शुरू हुई। 50 प्रशिक्षणार्थियों को इस बैच में प्रवेश दिया गया। अस्थायी तौर पर शासकीय मेडिकल कॉलेज में जगह दी गई। एम्स के लिए मिहान में जमीन आवंटित की गई है। क्लासरूम के लिए 3 मंजिला इमारत बनकर तैयार हो गई है। फिलहाल प्रथम वर्ष के प्रशिक्षणार्थियों की परीक्षा चल रही है। परीक्षा के बाद मिहान में एम्स की नवनिर्मित इमारत में स्थानांतरित किया जाएगा। प्रशिक्षणार्थियों के रहने के लिए होस्टल की सुविधा भी किए जाने की जानकारी मिली है।

लाने-ले जाने के लिए वाहन का इंतजाम
एम्स का मिहान में स्थानांतरण तो हो जाएगा, लेकिन द्वितीय वर्ष के प्रशिक्षणार्थियों को कुछ समय प्रैक्टिस के लिए शासकीय मेडिकल पर निर्भर रहना पड़ेगा। उन्हें लाने-लेजाने के लिए मिहान से मेडिकल अस्पताल तक वाहन का इंतजाम रहेगा।

दिसंबर 2020 तक शुरू होगी अस्पताल सेवा
एम्स की इमारत बननकर भी जब तक आवश्यक संसाधन उपलब्ध नहीं होंगे, तब तक अस्पताल सेवा शुरू नहीं की जा सकती। सूत्रों ने बताया कि दिसंबर 2020 तक एम्स में पूरी क्षमता के साथ अस्पताल सेवा शुरू हो जाएगी। संभवत: अगले वर्ष से एम्स की ओपीडी शुरू की जा सकती है।

फैकल्टी नियुक्ति प्रक्रिया जारी
द्वितीय वर्ष के लिए फैकल्टी की नियुक्ति प्रक्रिया चल रही है। आने वाले दिनों में फैकल्टी की नियुक्ति होगी। नए शैक्षणिक सत्र में एम्स के प्रथम और द्वितीय वर्ष के क्लासेस मिहान स्थित एम्स की नवनिर्मित इमारत में होंगे। द्वितीय वर्ष के प्रशिक्षणार्थियों को कुछ समय शासकीय मेडिकल अस्पताल में प्रैक्टिस कराई जाएगी। मेडिकल प्रशासन के साथ इस संबंध में चर्चा की गई है।  - डॉ. विभा दत्ता, डायरेक्टर, एम्स नागपुर