दैनिक भास्कर हिंदी: इमरजेंसी में ही उतरेंगे विमान, आधी रात बंद होने के बाद सुनसान पड़ा हवाई अड्डा

March 25th, 2020

डिजिटल डेस्क, नागपुर। मंगलवार रात 12 बजे से देशभर के विमानतलों से घरेलू उड़ानों को भी बंद कर िदया है। इसके पहले 22 मार्च से अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर पाबंदी लगाई गई थी। मंगलवार की आधी रात को पाबंदी लगने के बाद से विमानतल सुनसान पड़ा हुआ है। विमानतल की सुरक्षा की कमान केन्द्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) ने संभाल रखी है। विमानतल में यात्री के जाने और आने वाले गेट को बंद रखा है। सिर्फ सीआईएसएफ, इलेक्ट्रिकल, प्रबंधन के लोग और सफाई कर्मचारियों को विमानतल पर फिलहाल एंट्री है। बुधवार को भी यह विमानतल पर मौजूद थे।

संतरानगरी के डॉ.बाबासाहेब आंबेडकर अंतरराष्ट्रीय विमानतल नागपुर पर बुधवार को सुन्नाटा पसरा हुआ था। सिर्फ सीआईएसएफ की गाड़ी, कुछ जवान दिखाई पड़ रहे थे। जबकि विमानतल पर 24 घंटे यात्रियों की भीड़ लगी रहती है। सुबह से यात्रियों का विमानतल पर आना आरंभ हो जाता है और यह सिलसिला दिनभर चलता है। वहीं, रात को भी यात्रियों का सिलसिला रुकता नहीं है। पिछले दिनों से रात में घरेलू उड़ानें भी आरंभ हैं जबकि पूर्व में सिर्फ दो ही अंतरराष्ट्रीय उड़ानें ही थी हालांकि कर्फ्यू के कारण सभी बंद है। विशेष बात यह है कि नागपुर में नाइट पार्किंग आरंभ होने की वजह से मंगलवार की आधी रात को विमानतल बंद होने के बाद से नागपुर विमानतल पर सिर्फ 4 विमान को पार्क किया गया है। इसमें दो इंडिगो और गो एयर कंपनी के विमान शामिल है।

इमरजेंसी में ही उतरेंगे विमान

फिलहाल विमानों की उड़ान और उतरने पर पूर्णता रोक है हालांकि भारत ने अपने एयर स्पेस बंद नहीं किया है जिस वजह से भारत के आसमान से विमान उड़ान भरकर निकल रहे है। इन विमान में यदि इमरजेंसी या मेडिकल इमरजेंसी हुई तो ही विमान नागपुर विमानतल पर उतर सकते है। वहीं चार्टर्ड या हैलीकॉप्टर भी इमरजेंसी में विमानतल पर उतर सकते है। हालांकि इसके िलए नागर विमानन निदेशालय (डीजीसीए) की विशेष अनुमति लेनी होगी।

खबरें और भी हैं...