दैनिक भास्कर हिंदी: अमित शाह ने कहा- आरक्षण कभी खत्म नहीं होने देगी भाजपा, दलितों को भड़का रहा विपक्ष

April 6th, 2018

डिजिटल डेस्क, मुंबई। भारतीय जनत पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने विपक्ष पर दलितों को बरगलाने का आरोप लगाए हुए कहा कि हम न आरक्षण खत्म करेंगे और न ही ऐसा किसी और को करने देंगे। आज दलितों की हिमायती बनने की कोशिश कर रही कांग्रेस ने ही बाबा साहेब आंबेडकर को संसद में जाने से रोकने की कोशिश की थी। शुक्रवार को भाजपा के स्थापना दिवस के मौके पर बांद्रा-कुर्ला काम्प्लेक्स में आयोजित रैली को संबोधित करने के बाद एक होटल में पत्रकारों से बातचीत में शाह ने कहा कि दलित भाजपा से नाराज नहीं हैं। पर देश में इस तरह का मौहाल जरूर बनाने की कोशिश हो रही है। दलितों को भड़काया जा रहा है। क्योंकि किसी भी समुदाय को भड़काना आसान होता है। 

बढ़ रहा एनडीए का दायरा

एनडीए के घटक दलों के साथ छोड़ने के सवाल पर भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि हमारे सहयोगी दलों की संख्या पहले से बढ़ी है। शिवसेना के विरोधी रुख की बाबत उन्होंने कहा कि शिवसेना अभी भी राज्य व केंद्र में हमारी साझेदार है। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव के साथ महाराष्ट्र के विधानसभा चुनाव कराने की कोई योजना नहीं है।  

मोदी दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता    

शाह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दुनिया का सर्वाधिक लोकप्रिय नेता बताते हुए कहा कि 2019 में एनडीए 2014 से भी बड़ी जीत हासिल करेगी। उन्होंने कहा कि हमारे सिद्धांत को जनता ने स्वीकार किया है। हमारी पार्टी कभी टूटी नहीं। भाजपा घरानेशाही वाला दल नहीं बल्कि विचारधारा से चलने वाली पार्टी है।

उपचुनाव में हार से बड़ी है 11 राज्यों की जीत

यूपी-बिहार में हुए लोकसभा उपचुनाव में मिली हार के बारे में शाह ने कहा कि दो उपचुनावों से थोड़े दिनों पहले भाजपा को त्रिपुरा में भारी जीत मिली थी। केंद्र में सरकार बनाने के बाद हम 11 राज्य जीते हैं। अब आप किस जीत को बड़ा मानते हैं। उन्होंने कहा कि इन उपचुनावों में कांग्रेस की तो जमानत जब्त हो गई। मैंने पहली बार देखा का जिस पार्टी की जमानत जब्त हो गई वहीं दल मिठाई बांट रहा है। 

मैं जैन नहीं, सात पुश्तों से वैष्णव हिंदू

एक सवाल के जवाब में भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि मैं जैन नहीं बल्कि सात पुश्तों से वैष्णव हिंदु हूं। कर्नाटक की कांग्रेस सरकार द्व्रारा लिंगायत को अलग धर्म का दर्जा दिए जाने की आलोचना करते हुए उन्होंने कहा कि किसी भी धर्म को बांटना गलत है। यह सिर्फ कांग्रेस का चुनावी नाटक हैं। इसके पहले 2011 में कांग्रेस की केंद्र सरकार ही इस प्रस्ताव को अमान्य कर चुकी है। 

गांव-गांव जाएंगे सांसद-विधायक

शाह ने कहा कि विपक्ष ने संसद न चलने देकर लोकतंत्र का गला घोटने का काम किया है। इस लिए अब हमारे सांसद आगामी 12 अप्रैल को अपने-अपने संसदीय क्षेत्र में एक दिवसीय धरना देंगे। उन्होंने बताया कि केंद्र सरकार की योजनाओं-फैसलों की जानकारी जन-जन तक पहुंचाने के लिए भाजपा के सभी जनप्रतिनिधि 20 हजार गांवों में रात्रि विश्राम करेंगे। इस दौरान वे ग्रामीणों के मोदी सरकार की उपलब्धियों से अवगत कराएंगे।