दैनिक भास्कर हिंदी: जलाशय सूखे, प्यासे भटक रहे वन्यजीव

June 2nd, 2018

डिजिटल डेस्क,गोंदिया । गोरेगांव तहसील अंतर्गत ग्राम पिंडकेपार के दो तालाब सूख जाने से वन्यजीव एवं मवेशी पानी की तलाश में दर-दर भटक रहे हैं। बताया जा रहा है कि पिछले कई वर्षों से यह तालाब मई माह में कभी नहीं सूखे थे लेकिन इस बार मई माह में तालाब सूख जाने से लोग हैरत में पड़ गए हैं।

पहली बार सूखे तालाब
उल्लेखनीय है कि पिंडकेपार में तीन तालाब हैं। इनमें से दो तालाब जंगल क्षेत्र में हैं और एक तालाब ग्राम पंचायत की सीमा में है। यह तीनों तालाबों में मई माह में पानी भरा रहता था लेकिन इस वर्ष अप्रैल माह में ही तालाब का पानी सूखने लग गया। अब आलम यह है कि इन तालाबों में पानी की एक बूंद शेष नहीं है। इन तालाबों के पानी पर वन्यजीव व मवेशी अपनी प्यास बुझाते थे लेकिन पानी ही नहीं होने से अपनी प्यास बुझाने के लिए पशुओं को  भटकना पड़ रहा है। ग्रामीणों के अनुसार ऐसा मंजर उन्होंने पहली बार देखा है।

प्यासे वन्यजीव गांवों की ओर रुख कर रहे
बताया जा रहा है कि प्यास से व्याकुल वन्यजीव पानी और भोजन की तलाश में जंगल से सटे गांवों की ओर रूख कर रहे हैं, जिससे गांव के लोगों में वन्यजीवों की दहशत बनी हुई है, क्योंकि जंगली जानवर कभी भी किसी को भी अपना शिकार बना लेते हैं। इधर पशुु-पालकों की हालत भी दयनीय बनी हुई है।  मजबूरन किसानों को मवेशियों को चारे व पानी की किल्लत के चलते अपने पशुओं को बाजार में बेचना पड़ रहा है। ऐसे में आशंका जताई जा रही है कि पिछले वर्ष की तरह कहीं इस वर्ष भी अल्प बारिश हुई तो भविष्य में इस क्षेत्र में भयानक मंजर देखने को मिल सकता है। प्रशासन ने भविष्य में जलसंकट जैसी स्थिति टालने के लिए किसानों से खेत-तालाब और रेन वाटर हार्वेस्टिंग जैसे उपक्रमों से जलसंग्रह करने का आह्वान किया है।