comScore

अण्णा लौटा सकते हैं पद्म भूषण, राज का मोदी और केजरीवाल पर निशाना, बोले- हजारे की वजह से मिली सत्ता

February 04th, 2019 22:11 IST
अण्णा लौटा सकते हैं पद्म भूषण, राज का मोदी और केजरीवाल पर निशाना, बोले- हजारे की वजह से मिली सत्ता

डिजिटल डेस्क, अहमदनगर। अण्णा आंदोलन के छठे दिन मनसे अध्यक्ष राज ठाकरे रालेगणसिद्धि पहुंचे। जहां उन्होंने अन्ना के लगातार वजन घटने पर चिंता जताई। राज ठाकरे ने वरिष्ठ समाजसेवी अन्ना हजारे से बंद कमरे में मुलाकात कर आंदोलन का समर्थन दिया। इस दौरान राज ने मोदी और केजरीवाल पर निशाना साधते हुए कहा कि सभी भूल गए कि अन्ना के आंदोलन के कारण ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी केंद्र और आम आदमी पार्टी के अरविंद केजरीवाल दिल्ली के मुख्यमंत्री बने हैं, नहीं तो उन्हें कौन पूछता। राज ने कहा कि स्वार्थी लोगों के लिए अन्ना अपने जीवन को मुसीबत में न डालें। ये झूठे, कपटी, धोखेबाज लोग हैं। केवल अन्ना के आंदोलन के कारण प्रधानमंत्री मोदी और उनके सहयोगी सत्ता पर बैठे हैं। 18 दिसंबर, 2013 के पोस्ट में प्रधानमंत्री मोदी ने लोकपाल और लोकायुक्त के बारे में ट्वीट दिया था, जिसे याद दिलाते हुए राज ने कहा कि  मोदी ने कहा था "लोकपाल बिल पास होना चाहिए, हम उसका समर्थन करते हैं। लेकिन पांच साल पहले किया वादे मोदी ने नहीं निभाया। लोकपाल के लिए कांग्रेस को गालियां देने वाली भाजपा अब क्या कर रही है? 

केजरीवाल को कौन पहचानता ?

राज ठाकरे ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधा। उन्होंने कहा, आज केजरीवाल को यहां आना चाहिए था। आप पार्टी केवल अन्ना के कारण दिल्ली की सत्ता पर बैठी है। नहीं तो केजरीवाल कौन हैं? क्या किसी को पता था? ये सभी धोखेबाज इंसान हैं। 

अन्ना लौटाएंगे पद्म भूषण

लोकपाल अधिनियम के तहत 1971 के कानून की बजाय, लोकायुक्त अधिनियम लागू करना मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की सरकार ने स्वीकारा है, लेकिन अन्ना हजारे ने सरकार के प्रस्ताव को खारिज कर अनशन जारी रखा। अन्ना ने यह भी चेतावनी दी कि लोकपाल की नियुक्ति के सवाल को हल नहीं किया तो सामाजिक कार्यों के लिए मिला पद्म भूषण पुरस्कार सरकार को लौटा देंगे। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने तीन बार सरकार को फटकार लगाई है। 28 फरवरी को न्यायालय की सुनवाई है। वहीं अन्ना ने तबतक अनशन जारी रखने की बात कही। 

कमेंट करें
K0MuV