दैनिक भास्कर हिंदी: महाराष्ट्र के पैकेज में विदर्भ को कुछ नहीं, एनसीपी ने 22000 करोड़ की घोषणा को बताया धोखा

July 21st, 2018

डिजिटल डेस्क, नागपुर। राष्ट्रवादी कांग्रेस ने राज्य की विभिन्न योजनाओं के लिए 22 हजार करोड़ की घोषणा को जनता के साथ धोखा करार दिया। पूर्व गृहमंत्री जयंत पाटील ने सत्र की समाप्ति के बाद कहा कि सरकार ने सदन में जो घोषणा की, वह घोषणा ही साबित होगी। क्योंकि इसके लिए किसी तरह का नियोजन नहीं किया। राज्य की आर्थिक हालत इतनी अच्छी नहीं कि इतनी बड़ी रकम जुटाई जा सके। उन्होंने कहा कि कुछ महीने पहले ही बजट पेश हुआ है और 22000 करोड कहां से लाएंगे। इसका कोई जवाब सरकार की तरफ से नहीं मिला है।

पाटील ने कहा कि घोषणा करना सरकार का काम है, लेकिन उसपर अमल नहीं करना रिवाज बन गया है। विदर्भ का बैकलॉग बढ़ते जा रहा है। विदर्भ के लिए मॉनसून सत्र में कुछ नहीं मिला। इस सरकार ने केवल घोषणा में ही अपना समय निकाल दिया। उन्होंने कहा कि राज्य की कानून व्यवस्था पर गंभीर है। मुंबई-पुणे एक्सप्रेस हाईवे पर पत्रकार को लूट लिया गया। जब तक आरोपी पकड़ में नहीं आते, तब तक मुंबई-पुणे एक्सप्रेस हाईवे पर पुलिस तैनात करनी चाहिए। नागपुर में मॉनसून सत्र लेने के पीछे बताया जा रहा था कि विधायकों के साथ न्याय होगा, कुछ मिलेगा। लेकिन सत्र समाप्त हो गया। विदर्भ को कुछ नहीं मिला।

कांग्रेस विधायक वीरेंद्र जगताप, विजय वडेट्टीवार ने कहा कि विदर्भ की जनता के साथ धोखा हुआ है। सिंचाई स्वास्थ्य नौकरी सड़क उच्च शिक्षा को लेकर सरकार गंभीर नहींं। वडेट्टीवार ने कहा कि सरकार बकरे, मुर्गियां, अंडे और मछलियां इसी पर घोषणा कर रही है। विदर्भ के विकास के बारे में न बोल कर, बकरे, मुर्गियां और मछलियां देने पर सरकार का ज्यादा ध्यान केंद्रित है।

कांग्रेस विधायक सुनील केदार ने सरकार पर चुटकी लेते कहा कि प्रत्यक्ष में कौन सी योजना, कौन सा प्रोजेक्ट पूरा हुआ, किसपर काम शुरू हुआ, इस पर सरकार कुछ भी नहीं बोलती। प्रधानमंत्री घरकुल योजना के संबंध में कितने मकान बने, नहीं बताया गया। केवल 1000 मकान बनने की बात की जा रही है। नागपुर के पानी के सवाल पर कहा कि पानी का नियोजन किया जा रहा है। स्मार्ट सिटी में सभी को पानी नहीं मिल रहा। इस बारे में सरकार बताए कब तक सबको पानी मिलेगा। उन्होंने कहा कि सरकार के पाप का घड़ा भर चुका है और अब सरकार अपने आखिरी दिन गिन रही है। जनता इनके षड्यंत्र में नहीं फंसेगी।

विधानसभा में विपक्ष के नेता राधाकृष्ण विखे पाटील ने कहा कि इस सत्र से राज्यों को विशेष कर विदर्भ की जनता को कुछ नहीं मिला सरकार ने विदर्भ को कुछ नहीं दिया। विदर्भ के साथ धोखा हुआ है। इधर के बैकलॉग पर भी कोई बात नहीं हुई।