comScore

नागपुर मेट्रो के दूसरे चरण को मिली मंजूरी, जानिए क्या होगा रूट

January 01st, 2019 19:37 IST
नागपुर मेट्रो के दूसरे चरण को मिली मंजूरी, जानिए क्या होगा रूट

डिजिटल डेस्क, मुंबई। मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने नागपुर मेट्रो रेल परियोजना के दूसरे चरण को मंजूरी दी है। जिसमें कुल 5 मेट्रो परियोजनाओं का समावेश है। मेट्रो चरण -2 नागपुर शहर के मध्य भाग और उपनगर को जोड़ेगा। मेट्रो चरण -2 के लिए लगभग 11 हजार 216 करोड़ रुपए खर्च का अनुमान है। जिसमें केंद्र और प्रदेश सरकार दोनों की भागीदारी होगी। मंगलवार को मंत्रालय में मुख्यमंत्री के सामने महामेट्रो की तरफ से नागपुर मेट्रो चरण -2 का प्रस्तुतिकरण दिया गया।

नागपुर शहर में मेट्रो परियोजना के पहले चरण का काम शुरू है। दूसरे चरण में नागपुर शहर का मध्यभाग और उपनगर जुड़ सकेंगे। मेट्रो दूसरे चरण में साल 2024 में प्रति दिन 2.9 लाख यात्री क्षमता होगी। मेट्रो चरण 1 और मेट्रो चरण -2 को मिलाकर कुल 5.5 लाख यात्री प्रतिदिन सफर कर सकेंगे। मंत्रालय में आयोजित बैठक में प्रदेश के ऊर्जा मंत्री व नागपुर के पालक मंत्री चंद्रशेखर बावनकुले, सांसद कृपाल तुमाने, विधायक सुधीर पारवे मौजूद थे। 

नागपुर मेट्रो चरण -2 की विशेषताएं 
नागपुर मेट्रो चरण-2 कुल 48.3 किमी का होगा 
नागपुर मेट्रो चरण-2 में 35 स्टेशन होंगे 
मेट्रो 1 ए – मिहान से औद्योगिक विकास महामंडल ईएसआर (18.7 किमी)
मेट्रो 2 ए – ऑटोमोटिव स्क्वेयर से कन्हान नदी (13 किमी)
मेट्रो 3 ए – लोकमान्य नगर से हिंगणा (6.6 किमी)
मेट्रो 4 ए – पार्डी से ट्रान्सपोर्ट नगर (5.5 किमी)
मेट्रो 5   - वासुदेव नगर से वाडी (4.5 किमी)       

नाशिक में ट्रैफिक जाम दूर करने एमआरटीएस 
बैठक में मुख्यमंत्री ने महामेट्रो को नाशिक शहर में ट्रैफिक जाम की समस्या को दूर करने के लिए मास रैपिड ट्रांजिट सिस्टम (एमआरटीएस) का विस्तृत प्रारूप तैयार करने के निर्देश दिए हैं। एमआरटीएस के जरिए सार्वजनिक परिवहन का इस्तेमाल को बढ़ाया जाएगा, जिससे ट्रैफिक जाम की समस्या से खत्म हो सकेगी। मुख्यमंत्री ने नाशिक शहर की परिवहन व्यवस्था सुचारू रूप से चल सकने के लिए अगल से प्रारूप तैयार करने का सुझाव दिया।

नागपर महानगर प्रदेश विकास प्राधिकरण के नए लोगो पर चर्चा 
मंत्रालय में मंगलवार को नागपुर महानगर प्रदेश विकास प्राधिकरण की बैठक मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में हुई। बैठक में प्राधिकरण के नए लोगो (प्रतीक चिन्ह) के संबंध में चर्चा हुई। इससे प्राधिकरण की आयुक्त शीतल उगले ने प्रस्तुतिकरण के माध्यम से विकास कामों की जानकारी दी। इसके साथ ही प्राधिकरण की पिछली बैठक के कार्यवृत्त और अनुपालन रिपोर्ट को मंजूरी दी गई है। 

कमेंट करें
lq1hb