दैनिक भास्कर हिंदी: बतौर कांग्रेस उम्मीदवार गडकरी को टक्कर दे सकते हैं आशिष देशमुख, नवरात्र में उठाएंगे यह कदम

October 3rd, 2018

डिजिटल डेस्क, मुंबई। नागपुर के काटोल से भाजपा विधायक आशीष देशमुख ने बुधवार को विधानसभा अध्यक्ष हरिभाऊ बागडे को अपना इस्तीफा सौप दिया। वे जल्द ही औपचापरिक रुप से कांग्रेस में शामिल होंगे। देशमुख नागपुर से केंद्रीय मंत्री नीतीन गडकरी के सामने लोकसभा चुनाव लड़ सकते हैं। उन्होंने इसके संकेत दिए हैं। गांधी जंयती के मौके पर मंगलवार को देशमुख ने वर्धा में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ मंच साझा किया था। कांग्रेस से उम्मीदवारी के सवाल पर देशमुख ने कहा कि राहुल ने मुझे दिल्ली आने के लिए कहा है। इसका मतलब (मीडिया) आप समझ जाइए। आशिष  ने भाजपा उम्मीदवार के तौर पर काटोल से अपने चाचा राकांपा उम्मीदवार अनिल देशमुख को हराया था। इस बार कांग्रेस-राकांपा मिलकर चुनाव लड़ेगे। ऐसे में काटोल सीट पर राकांपा का दावा स्वभाविक है। इस लिए आशिष के सामने लोकसभा चुनाव लड़ने का ही विकल्प बचता है।  

फडणवीस पर निशाना
विधानभवन परिसर में पत्रकारों से बातचीत में देशमुख ने मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि बीते एक साल में मैं किसान, व्यापारी, युवा, दलित और अल्पसंख्यक समाज की समस्याओं को उठा रहा हूं। मुझे उम्मीद थी कि इस सरकार के जरिए इन समस्याओं समाधान निकलेगा। लेकिन सरकार किसानों के प्रति बदले की भावना से काम कर रही है। किसानों की आत्महत्या का ग्राफ लगातार बढ़ रहा है। समाज का कोई तबका सरकार से खुश नहीं है। देशमुख ने कहा कि प्रदेश के विदर्भ, मराठवाड़ा और उत्तर महाराष्ट्र अंचल में फिलहाल सूखे की स्थिति नजर आ रही है पर मुख्यमंत्री और पालिक मंत्रियों ने संभावित सूखे को लेकर एक भी बैठक नहीं बुलाई है। देशमुख ने कहा कि सरकार ने राज्य में निवेश लाने के लिए मेक इन इंडिया और मैग्नेटिक महाराष्ट्र कार्यक्रम की घोषणा की। लेकिन इसका जमीन पर कोई परिणाम नजर नहीं आया। विदर्भ के एमआईडीसी में एक भी नया कारखाना नहीं लगा है। देशमुख ने कहा कि राफेल विमान बनाने के लिए  नागपुर के मिहान में उद्योग लगने वाला था। लेकिन इस विवाद के बाद मुझे नहीं लगता है कि मिहान में उद्योग लग पाएगा।

भाजपा छोड़ने का शुभ काम नवरात्र में करूंगा
विधायक पद से इस्तीफा देने के बाद भाजपा से इस्तीफा देने के सवाल पर देशमुख ने कहा कि मैंने गांधी जंयती के मौके पर विधायक पद से इस्तीफा दे दिया। अभी पितृ पक्ष चल रहा है। इसलिए मैंने तय किया है कि भाजपा से इस्तीफा देने का काम मैं नवरात्र के दौरान करुंगा। हालांकि कांग्रेस में शामिल होने को लेकर स्पष्ट तारीख उन्होंने नहीं बताया। 
 

खबरें और भी हैं...