दैनिक भास्कर हिंदी: आठवले बोले - दिल्ली हिंसा के लिए कांग्रेस और आप जिम्मेदार, आजमी को अंदेशा उठेगी अलग देश की मांग 

February 28th, 2020

डिजिटल डेस्क, मुंबई। केंद्रीय राज्यमंत्री रामदास आठवले ने दिल्ली में हुए दंगों के लिए आम आदमी पार्टी (आप) और कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया है। आठवले के मुताबिक आप और कांग्रेस के नेता लगातार लोगों को नागरिकता कानून (सीएए) के मुद्दे पर भड़का रहे थे और ये दंगे सुनियोजित साजिश का हिस्सा थे। शुक्रवार को विधानभवन में पत्रकारों से बातचीत में आठवले ने कहा कि दंगों के दौरान किसी की मौत पुलिस की गोली से नहीं हुई। आठवले ने कहा कि कांग्रेस लोगों को भड़का रही है। केंद्र सरकार ने बार बार साफ किया है कि नागरिकता कानून किसी की नागरिकता छीनने के लिए नहीं है लेकिन कांग्रेस हर मुद्दे की तरह इस राजनीति कर रही है। राहुल गांधी हमेशा नरेंद्र मोदी के खिलाफ बोलते रहते हैं लेकिन इससे मोदी की ताकत और बढ़ती है। आठवले ने कहा कि पाकिस्तान से आने वाले मुसलमानों को नागरिकता देने से सुरक्षा को खतरा हो सकता है। उन्होंने कहा कि दिल्ली दंगों में 38 लोगों का मारा जाना दुखद है लेकिन ऐसे मौके पर सरकार का साथ देने के बजाय आप और कांग्रेस लोगों को भड़का रहीं हैं।

भीमा कोरेगांव मामला वापस लेना पुराना फैसला

आठवले ने कहा कि भीमा कोरेगांव हिंसा मामले में दर्ज मामलों को  वापस लेने का फैसला तत्कालीन देवेंद्र फडणवीस सरकार ने ही किया था। मौजूदा सरकार की इस घोषणा में नया कुछ नहीं है। इस मामले की दोबारा जांच की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि नक्सलवादियों को हथियार छोड़कर राजनीति कि मुख्यधारा में वापस आना चाहिए। 

जाति जनगणना पर मोदी से करूंगा बात

आठवले ने कहा कि वे जाति आधारित जनगणना का समर्थन करते हैं। वे इस मुद्दे पर खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बात करेंगे। उन्होंने कहा कि जाति आधारित जनगणना से जातिवाद बढ़ने की आशंका निराधार है इससे नीतियां बनाने और जरूरतमंदों तक लाभ पहुंचाने में मदद मिलेगी।  

भाजपा के साथ आएं उद्धव

आठवले ने कहा कि दिवंगत बालासाहेब ठाकरे सारी उम्र कांग्रेस के खिलाफ लड़ते रहे ऐसे में अगर उद्धव को उनका सपना पूरा करना है तो फिर से भाजपा और आरपीआई के साथ आ जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि राज्य में मौजूदा समय में तीन पहिए की सरकार है अगर सरकार नहीं चल पाई तो आगे हम सरकार चलाएंगे। 

फिर जाऊंगा राज्यसभा

आठवले ने कहा कि वे केंद्रीय मंत्री हैं इसलिए एक बार फिर उनका राज्यसभा जाना तय हैं। इस बारे में वे भाजपा नेताओं से विचारविमर्श कर रहे हैं और अगले कुछ दिनों में पर्चा भरेंगे। 

तो उठेगी अलग देश की मांग-आजमी 

समाजवादी पार्टी विधायक अबू आसिम आजमी ने कहा है कि अगर मुसलमानों के खिलाफ अत्याचार नहीं थमें और नागरिकता कानून वापस नहीं लिया गया तो एक बार फिर देश के बंटवारे की मांग उठ सकती है। उन्होंने कहा कि दिल्ली दंगों में मरने वाले 80 फीसदी मुसलमान हैं और संपत्तियां भी 80 फीसदी मुसलमानों की जलीं हैं। दिल्ली पुलिस के रवैये पर सवाल उठाते हुए आजमी ने कहा कि गृहमंत्री अमित शाह नाकाम हो गए हैं और उन्हें इस्तीफा देना चाहिए। आजमी ने कहा कि जो प्रयोग गुजरात में हुआ था उसे ही दिल्ली में दोहराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि आप नगरसेवक समेत दिल्ली दंगों में जो भी दोषी हो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए।