दैनिक भास्कर हिंदी: नागपुर : धूमधाम से मनाई जा रही बकरीद, लोगों ने पढ़ी विशेष नमाज

September 2nd, 2017

डिजिटल डेस्क,नागपुर। कुर्बानी का त्योहार ईद-उल-अजहा पर फुटबाल मस्जिद के ईदगाह में ईद की विशेष नमाज अता की गई। इस दौरान सैकड़ों मुस्लिम भाईयों के लिए की नमाज के बिछायत तथा वुजू के लिए पानी के इंतजाम किए गए। नमाज के बाद इमाम खुतबा पढ़ी गई।

सदर छोटी मस्जिद मोहम्मद आकील शेख ने बताया कि इस्लाम में गरीबों और मजलूमों का खास ध्यान रखने की परंपरा है। ईद-उल-अजहा पर भी गरीबों का विशेष ध्यान रखा जाता है। इस दिन कुर्बानी के बाद गोश्त के तीन हिस्से किए जाते हैं। तीन में से एक हिस्सा खुद के लिए और दो हिस्से समाज के गरीब और जरूरतमंद लोगों का बांट दिया जाता है। ऐसा कर मुस्लिम इस बात का पैगाम देते हैं कि अपने दिल की करीबी चीज भी हम दूसरों को बेहतरी के लिए अल्लाह की राह में कुर्बान कर देते हैं।

ईद-उल-अजहा कुर्बानी का पैगाम
ईद-उल-अजहा को सुन्नते इब्राहिम भी कहते हैं। इस्लाम के मुताबिक अल्लाह ने अपने नबी हजरत इब्राहिम अलैहिस्लाम की परीक्षा लेने के उद्देश्य से अपनी सबसे प्रिय चीज की कुर्बानी देने का हुक्म दिया। ईद-उल-अजहा हमें कुर्बानी का पैगाम देती है। यह त्योहार सिर्फ जानवर की कुर्बानी देना नहीं सिखाता है, बल्कि धन दौलत और हर वह चीज जो हमें दुनियावी लालच में गिरफ्तार करती है, हमें बुरे काम करने के लिए बढ़ावा देती है उसका त्याग करना सिखाता है।
 

खबरें और भी हैं...