दैनिक भास्कर हिंदी: बंसोडे मौत मामले की सीबीआई को सौंपे जांच - प्रकाश आंबेडकर

June 18th, 2020

डिजिटल डेस्क, नागपुर। भारिप बहुजन महासंघ के अध्यक्ष प्रकाश आंबेडकर ने अरविंद बंसोडे मृत्यु प्रकरण की पुलिस जांच को असंतोषजनक बताया है। उन्होंने कहा है कि इस मामले में मंत्रियों का दबाव लग रहा है। प्रकरण की जांच सीबीआई को सौंपना चाहिए। आंबेडकर ने गृहमंत्री अनिल देशमुख व पालकमंत्री नितीन राऊत का नाम लेकर कहा कि मंत्रियों का दबाव बंसोडे परिवार पर है। दबाव के लिए ही दोनों मंत्री इस परिवार को सहायता धनादेश सौंपने के लिए उपस्थित थे। गुरुवार को रविभवन में पत्रकारों से चर्चा में आंबेडकर बोल रहे थे। अरविंद बंसोडे भारिप बहुजन महासंघ के कार्यकर्ता थे। नरखेड़ क्षेत्र में रहते थे। 27 मई को अरविंद की मृत्यु हुई थी। पुलिस ने आकस्मिक मृत्यु का प्रकरण दर्ज किया था। मृत्यु के दिन ही अरविंद का कुछ लोगों के साथ विवाद हुआ था। आंबेडकर ने कहा कि इस प्रकरण में पुलिस की भूमिका पर हर प्रश्न उठते हैं। एट्रोसिटी एक्ट के तहत प्रकरण दर्ज होने तक यह प्रकरण पुलिस थाने में दर्ज ही नहीं हो पाया था। स्थानीय स्तर पर पंचनामा नहीं किया गया। जांच अधिकारी खुटे को सस्पेंड करने की भी मांग की गई है। मृत्यु प्रमाण पत्र में मृत्यु का कारण संभावित विषबाधा बताया गया है। उपचार के लिए अरविंद को 3 अस्पतालों में ले जाया गया। अब तक की जांच में कई लुपहोल है। जिसे मुख्य आरोपी बनाने का प्रयास किया जा रहा है वह बार बार बयान बदल रहा है। एक आरोपी , मंत्री का रिश्तेदार है। बंसोडे परिवार पर दबाव लाया जा रहा है।

चीन पर बयान दें प्रधानमंत्री

चीन विवाद के मामले में प्रकाश आंबेडकर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से 2 दिन में बयान जारी करने की मांग की है। आंबेडकर ने कहा है कि 15 दिन पहले ही उन्होंने कहा था कि भारत चीन मामले में दोनों देश के प्रधानमंत्रियों में नूराकश्ती दिख रही है। अब स्थिति नियंत्रण से बाहर जाती दिख रही है। प्रधानमंत्री साफ बताएं कि विवाद का असली कारण क्या है। यह भी कहा कि प्रधानमंत्री दो दिन में बयान नहीं देंगे तो हम लोग चीन विवाद का सही कारण लोगों को बताएंगे।