ओबीसी आरक्षण : बांठिया आयोग अमरावती और नागपुर में 28 मई को जाएगा, नागरिक दे सकेंगे राय  

May 13th, 2022

डिजिटल डेस्क, मुंबई। प्रदेश में ओबीसी समाज को आरक्षण देने के बारे में नागरिकों की राय जानने के लिए बांठिया आयोग विभागीय आयुक्तों के कार्यालयों में जाएगा। शुक्रवार को बांठिया आयोग ने 21 मई से अपने दौरे की घोषणा की है। आयोग अमरावती विभागीय आयुक्त कार्यालय और नागपुर विभागीय आयुक्त कार्यालय में 28 मई को जाएगा। राज्य के ग्रामीण और शहरी इलाकों में अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) को आरक्षण देने के लिए नागरिकों की राय जानेगा। आयोग को नागरिकों के अलावा विभिन्न समाजिक संगठन भी ज्ञापन दे सकेंगे। आयोग ने कहा कि ओबीसी आरक्षण के बारे में ज्ञापन देने वाले नागरिक संबंधित विभागीय आयुक्त कार्यालय में अपना नाम पहले ही पंजीयन करा लें। ताकि नागरिकों को आयोग के दौरे के दिन समय पर ज्ञापन सौंपने में आसानी हो सके। पुणे के विभागीय आयुक्त कार्यालय में 21 मई को सुबह 9.30 से शाम 11.30 बजे तक, औरंगाबाद विभागीय आयुक्त कार्यालय में 22 मई को सुबह 9.30 से शाम 11.30 बजे तक, नाशिक विभागीय आयुक्त कार्यालय में 22 मई को शाम 5.30 से 7.30 बजे तक, कोंकण भवन विभागीय आयुक्त कार्यालय में 25 मई को दोपहर 2.30 से शाम 4.30 तक, अमरावती विभागीय आयुक्त कार्यालय में 28 मई को सुबह 9.30 से 11.30 बजे तक और नागपुर विभागीय आयुक्त कार्यालय में 28 मई को शाम 4.30 से 6.30 तक नागरिक बांठिया आयोग के समक्ष में अपनी राय रख सकेंगे। प्रदेश में जिला परिषद, पंचायत समितियों, ग्राम पंचायतों, महानगर पालिका, नगर पालिका और नगर पंचायतों में ओबीसी समाज को आरक्षण देने के लिए सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार राज्य सरकार ने राज्य के पूर्व मुख्य सचिव जयंत कुमार बांठिया की अध्यक्षता में समर्पित आयोग का गठन किया है। आयोग ने ओबीसी का इम्पिरिकल आंकड़ा जुटाने का काम शुरू कर दिया है। 

 

खबरें और भी हैं...