• Dainik Bhaskar Hindi
  • Politics
  • Before the entry of Bharat Yatra Jodo Yatra in Rajasthan, poster war broke out between Gehlot and Pilot faction, competing to show Rahul's closeness

गहलोत बनाम पायलट: भारत जोड़ो यात्रा की राजस्थान में एंट्री से पहले गहलोत और पायलट गुट में छिड़ा पोस्टर वॉर, राहुल का करीबी बताने की लगी होड़

December 4th, 2022

डिजिटल डेस्क, जयपुर। राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा रविवार को राजस्थान में एंट्री करने वाली है। कांग्रेस भले ही लगातार यह दावा कर रही है कि राजस्थान की सियासत में सबकुछ ठीक चल रहा है। लेकिन राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत और पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट के बीच काफी लंबे समय से चल रही आपसी तकरार रुकने का नाम नहीं ले रही है।  इन दोनों नेताओं के बीच पोस्टर को लेकर अब नया विवाद शुरू हो गया है। दोनों ही नेताओं के समर्थक राहुल गांधी की पदयात्रा से पहले एकतरफा पोस्टर प्रदर्शन करने की कोशिश में लगे हुए हैं। यही नहीं इस पदयात्रा में दोनों ही दिग्गजों के सर्मथकों के बीच प्रभुत्व को उजागर करने की होड़ मची हुई है।

गहलोत के प्रभाव को कम करने की जुगत में पायलट गुट

2019 लोकसभा चुनाव में झालावाड़ से कांग्रेस की तरफ से चुनाव लड़ने वाले प्रमोद शर्मा ने आरोप लगाते हुए कहा कि पायलट गुट गहलोत के प्रभाव को खत्म करने का प्रयास कर रहा है। शर्मा ने आगे कहा कि, जिले के कांग्रेस प्रभारी मंत्री प्रमोद जैन भाया स्थानीय लोगों के साथ मिलकर पार्टी के दूसरे गुट का सर्मथन कर रहे हैं।

उन्होंने आगें कहा कि, " विशेष गुट हर जगह सचिन पायलट के साथ ही आगे बढ़ रहा है। कई पोस्टरों और होर्डिंग्स में पायलट, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा की तस्वीरें सबसे अधिक जगह ले रही हैं, जबकि अशोक गहलोत की तस्वीरें प्रमुखता से कम है।" इसके साथ ही उन्होंने पार्टी के अध्यक्ष और पूर्व अध्यक्ष का जिक्र करते हुए कहा कि झालावाड़ में जहां से भारत जोड़ो यात्रा गुजरेंगी वहां के पोस्टरों में मल्लिकार्जुन खड़गे और सोनिया गांधी की तस्वीरें एक छोटे धेरे तक ही सीमित हैं।

भारत जोड़ो यात्रा का जिक्र करते हुए झालावाड़ के चंवाली में कांग्रेस सेवादल के एक नेता ने बताया कि गहलोत और पायलट के बीच यह सियासी घमासान जल्द खत्म होता दिखाई नहीं दे रहा है और होर्डिंग्स में भी यह साफ झलक रहा है।

झालावाड़ जिला के कांग्रेस अध्यक्ष नेता वीरेंद्र सिंह गुर्जर ने कहा कि गहलोत और पायलट में कोई आपसी लड़ाई नहीं है। शनिवार को एक न्यूज एजेंसी से बात करते हुए पायलट के वाफदार माने जाने वाले वीरेंद्र सिंह गुर्जर ने कहा कि पार्टी के कार्यकर्ता अपनी पसंद के नेताओं की फोटो वाले बैनर तैयार करवा रहे हैं। उन्होंने बताया कि, सभी विज्ञापन में इस बात को ध्यान में रखा जा रहा है कि पोस्टरों में राहुल गांधी की तस्वीर,पार्टी का नाम और चुनाव शामिल हों। जिसके बाद उन्होंने राहुल गांधी का जिक्र करते हुए कहा कि पार्टी के सभी नेता और कार्यकर्ता राजस्थान में राहुल गांधी के स्वागत के लिए तैयार हैं। वहीं, पीसीसी सदस्य और गहलोत के वफादार सुरेश गुर्जर ने भी राजस्थान में गुटबाजी और विशेष गुट के प्रभुत्व से साफ इनकार करते हुए कहा कि गहलोत और पायलट दोनों ही उनके नेता हैं। उन्होंने आगे कहा कि यात्रा में लगे हुए सभी पोस्टरों में उनकी तस्वीरें विशेष रूप से प्रदर्शित की जाती हैं।

एमपी से राजस्थान के झालावाड़ में प्रवेश करेगी यात्रा
 

राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा रविवार की शाम को मध्यप्रदेश से झालावाड़ में प्रवेश करेगी। जिसके बाद सोमवार की सुबह यह यात्रा की शुरुआत काली तलाई इलाके से होगी। फिर यह पदयात्रा भाजपा नेता वसुंधरा राजे के निर्वाचन क्षेत्र झालरापाटन से होकर गुजरेगी। 2003 से वसुंधरा राजे झालरापाटन का नेतृत्व कर रही हैं, यही नहीं राजे के बेटे दुष्यंत सिंह झालवाड़ निर्वाचन क्षेत्र से तीसरी बार सांसद हैं। 

 

 

खबरें और भी हैं...