comScore

लाभार्थियों को मिलेगा ज्वार और मक्का, मदरसा शिक्षकों के लिए 1 करोड़ 80 लाख का अनुदान

लाभार्थियों को मिलेगा ज्वार और मक्का, मदरसा शिक्षकों के लिए 1 करोड़ 80 लाख का अनुदान

डिजिटल डेस्क, मुंबई। प्रदेश में सरकारी राशन दुकानों पर अंत्योदय अन्न योजना और प्राथमिकता वाले परिवार के लाभार्थियों को ज्वार और मक्का वितरित अगस्त महीने से किया जाएगा। सरकार के खाद्य, नागरिक आपूर्ति व ग्राहक संरक्षण विभाग ने इस संबंध में शासनादेश जारी किया है। राज्य के जिन जिलों में न्यूनतम समर्थन मूल्य पर ज्वार और मक्का की खरीदी हुई है उन जिलों में राशन कार्डधारक लाभार्थियों को गेहूं की मात्रा कम करके ज्वार और मक्का वितरित किया जाएगा। सरकार ने नागपुर, यवतमाल, बुलढाणा, अकोला, अमरावती, जालना, उस्मानाबाद, बीड़, औरंगाबाद, सोलापुर, सांगली, सातारा, पुणे, जलगांव, पुणे, अहमदनगर, नंदूरबार, धुलिया और नाशिक जिले के जिला आपूर्ति अधिकारी को गेहूं के बदले ज्वार और मक्का लेने को कहा है। इससे इन जिले के लाभार्थियों को ज्वार और मक्का मिल सकेगा। राज्य सरकार ने केंद्र सरकार की खरीदी नीति के अनुसार विकेंद्रीत खरीदी योजना के तहत यह अनाज लाभार्थियों को देने का फैसला किया है। 

मदरसा शिक्षकों के लिए 1 करोड़ 80 लाख का अनुदान

प्रदेश सरकार ने डॉ. जाकिर हुसैन मदरसा आधुनिकीकरण योजना के तहत केवल शिक्षकों को मानधन के लिए 1 करोड़ 80 लाख 60 हजार अनुदान वितरित करने को मंजूरी दी है। राज्य के 8 जिलों के 121 मदरसों के लिए यह राशि उपलब्ध कराई गई है। बुधवार को सरकार के अल्पसंख्यक विकास विभाग ने इस संबंध में शासनादेश जारी किया है। शासनादेश के अनुसार डॉ. जाकिर हुसैन योजना के तहत मदरसों को आधुनिकीकरण और शिक्षकों के मानधन के लिए अनुदान दिया जाता है लेकिन कोरोना संकट के कारण सरकार के वित्त विभाग ने केवल शिक्षकों के मानधन के लिए निधि खर्च करने को मंजूरी दी है। शासनादेश के मुताबिक वर्धा के 3 मदरसे के लिए 4 लाख, बुलढाणा के 2 मदरसे के लिए 1 लाख 40 हजार, वाशिम के 12 मदरसे के लिए 21 लाख, औरंगाबाद के 80 मदरसे के लिए 1 करोड़ 16 लाख 40 हजार, जालना के 7 मदरसे के लिए 13 लाख 80 हजार, हिंगोली के 1 मदरसे के लिए 1 लाख 20 हजार, परभणी के 3 मदरसे के लिए 4 लाख 80 हजार और ठाणे के 13 मदरसे के लिए 18 लाख रुपए मंजूर किया गया है। 

कमेंट करें
cuftT