आंदोलन: साकोली में निकली बाइक रैली, तुमसर में बंद को लेकर धरना

October 12th, 2021

डिजिटल डेस्क, साकोली। लखीमपुर में किसानों की कुचले जाने की घटना के  विरोध में जगह जगह शिवसेना, काँग्रेस, एनसीपी ने विरोध किया। साकोली में बाईक रैली निकाली गई। सिहोरा में लगभग दो घंटे तक दुकाने बंद रखी गई। वहीं तुमसर में तीन दलों ने मिलकर धरना दिया। उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खिरी में किसानों के साथ हुए अन्याय के विरोध में साकोली शहर की पूरानी पंचायत समिति में महात्मा गांधी प्रतिमा के समक्ष महाविकास आघाडी द्वारा घटना के निषेध करते हुए शहर के मुख्य मार्ग से मोटर साइकिल रैली निकालकर उत्तर प्रदेश सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया गया। इस समय पर राष्ट्रवादी के सुनील फुंडे, कांग्रेस तहसील अध्यक्ष होमराज कापगते, राष्ट्रवादी तहसील अध्यक्ष अंगराज समरीत, कांग्रेस शहर अध्यक्ष अश्विन नशिने, शिवसेना तहसील अध्यक्ष किशोर चन्ने, महाराष्ट्र यातायात सेना जिलाध्यक्ष प्रमोद मेश्राम, जिला कांग्रेस उपाध्यक्ष दिलीप मासुरकर, प्रकाश गजापुरे सहित अन्य उपस्थित थे। घटना का निषेध करते हुए संपूर्ण महाविकास आघाडी के पदाधिकारी व कार्यकर्ताओं ने साकोली के तहसीलदार रमेश कुंभरे को ज्ञापन सौपा। 

बंद में भाकपा भी शामिल

लखीमपुर खिरी हिंसा के विरोध में सोमवार 11 अक्टूबर को महाराष्ट्र बंद का आयोजन किया गया था। इस दौरान सूबह 7.30 बजे हुतात्मा स्मारक से महाविकास आघाडी सरकार में शामील में सभी राजकीय पक्ष द्वारा निकाली गई रैली में भारतीय कम्युनिस्ट पक्ष ने भी सक्रिया सहभाग दर्शाया। रैली का नेतृत्व राष्ट्रवादी के जिलाध्यक्ष नाना पंचबुध्दे, धनजंय दलाल, कांग्रेस के मोहन पंचभाई, प्रशांत देशकर, शिवसेना के नरेश डहारे, संजय रेहपाडे, भाकपा के हिवराज उके, सदानंद इलमे व गजानन पाचे ने किया। लखिमपुर हिंसा के आरोपी को सख्त सजा दी जाए, केंद्रीय गृहराज्य मंत्री व उत्तर प्रदेश सरकार को बरखास्त किया जाए, तीनों कृषि कानून रद् किए जाने की मांग को लेकर सर्वपक्षीय शिष्टमंडल द्वारा राष्ट्रपती के नाम जिलाधिकारी के माध्यम से ज्ञापन सौपा गया। 

सिहोरा में की गई योगी के इस्तीफे की मांग

सोमवार 11 अक्टूबर को महाविकास आघाडी सरकार द्वारा महाराष्ट्र बंद का आवहृान किया गया था। बंद को सिहोरा व्यापारियों ने प्रतिसाद देते हुए अपने अपने प्रतिष्ठान को सूबह 9 से 11 के दौरान बंद रखा था। उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खिरी में घटी घटना के दोषियों पर सख्त कार्रवाई करते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस्तिफा दे, इस प्रकार की मांग महाविकास आघाडी सरकार में शामील कांग्रेस, राष्ट्रवादी कांग्रेस, शिवसेना द्वारा सिहोरा ग्रामपंचायत के प्रागंन में आयोजित निषेध सभा में की गई। इस समय पर रैली का भी आयोजन किया गया था। ग्रामीण सचिवलाय सिहोरा में पूर्व सभापती धनेंद्र तुरकर की अध्यक्षता में ली गई सभा में पूर्व सभापती अ. कलाम शेख, उमेश्वर कटरे, पूर्व जिला परिषद सदस्य विठ्‌ठल रहमतकर, सहादेव तुरकर, उमेश तुरकर, पूर्व पं. समिति सदस्य राजेंद्र ढबाले उपस्थित थे। सभा का संचालन व आभार प्रदर्शन राजेंद्र ढबाले ने किया। 

लाखनी में बेअसर रहा बंद

उत्तर प्रदेश के लखिमपुर खिरी में शांतीपूर्ण तरीके से विरोध प्रदर्शन कर रहे किसानों को वाहन से रौंद दिए जाने की घटना में चार किसानों की मृत्यु हो गई थी। जिसके उपरांत हुई हिसंक घटना में और चार लोगो को अपनी जान गवांनी पड़ी जिसके उपरांत भी उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा मंत्री के बेटे पर किसी भी प्रकार की कार्रवाई नही किए जाने के निषेध में महाराष्ट्र की महाविकास आघाडी सरकार द्वारा सोमवार 11 अक्टूबर को महाराष्ट्र राज्य बंद का ऐलान किया गया था। बंद के दौरान लाखनी में बाजार पेठ और शैक्षिणक संस्थाए शुरू थी, आयोजक राजनीति पक्ष के कार्यकर्ताओं ने ही अपनी दुकानें शुरू रखी थी। जिसके कारण लाखनी में बंद का असर बेअसर रहा। इस प्रकार की परिस्थति तहसील के पालांदुर/चौरस, मुरमाडी/तुप, पिंपलगाव/सड़क, पोहरा में दिखाई दी। परिसर में यातायात सुचारू रूप से जारी था, बैंक, शासकीय कार्यालय, अत्यावश्यक सेवा शुरू थी। 
 

खबरें और भी हैं...