दैनिक भास्कर हिंदी: आधी रात को विद्यार्थी परिषद कार्यालय में हंगामा,छुपा बैठा था दुष्कर्म का आरोपी भाजपा नेता

June 10th, 2019

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। भाजपा नेता द्वारा योग टीचर का दैहिक शोषण किए जाने के मामले को लेकर गुलौआ चौक स्थित विद्यार्थी परिषद के कार्यालय में आधी रात को एनएसयूआई पदाधिकारियों के प्रदर्शन को लेकर  जमकर हंगामा मचा रहा। प्रदर्शनकारियों का आरोप था कि युवती का दैहिक शोषण करने वाला नेता कार्यालय में मौजूद है और पीडि़त युवती के अपहरण की योजना बनाई जा रही है। घंटों चले हंगामे के दौरान भारी संख्या में पुलिस बल तैनात रहा और प्रदर्शनकारियों को खदेड़ने पुलिस ने टियर गैस का प्रयोग किया। उधर इस मामले में दैहिक शोषण के आरोपी नेता उपेंद्र धाकड़ के खिलाफ महिला थाने में दुराचार का मामला दर्ज किया है।

कार्यालय के सामने दिया धरना

सूत्रों के अनुसार बीती रात 1 बजे के करीब एनएसयूआई के करीब 45 से 50 पदाधिकारी गुलौआ चौक स्थित विद्यार्थी परिषद के कार्यालय के सामने जमा हुए। वहाँ से संजीवनी नगर थाने में सूचना दी गयी कि योग टीचर का दैहिक शोषण करने वाले विद्यार्थी परिषद  महाकौशल प्रांत के पूर्व संगठन महामंत्री और वर्तमान में विदिशा में भाजपा के जिला महामंत्री उपेंद्र धाकड़ कार्यालय में मौजूद हैं। एनएसयूआई को इस बात की सूचना लगी थी कि धाकड़ के इशारे पर युवती को कार्यालय लाया गया है और उसके अपहरण की योजना बनाई जा रही है। हँगामे की सूचना पर शहर के विभिन्न थानों की पुलिस मौके पर पहुँच गयी। वहीं एनएसयूआई द्वारा कार्यालय की जाँच की माँग को लेकर प्रदर्शन शुरू कर दिया गया। प्रदर्शन के दौरान परिषद के कार्यालय में बड़ी संख्या में कार्यकर्ता मौजूद थे। इस बीच पत्थरबाजी होने से मामला बिगड़ गया और पुलिस ने स्थिति को काबू में लाने के लिए टिसर गैस के गोले छोड़े और भीड़ को तितर बितर किया। करीब दो घंटे चले प्रदर्शन उपरांत एसपी अमित सिंह ने प्रदर्शनकारियों से चर्चा कर मामले में निष्पक्ष कार्रवाई का भरोसा दिलाया, उसके बाद मामला शांत हुआ। इस दौरान एनएसयूआई के श्रीकांत विश्वकर्मा, इमरान मंसूरी, राहुल बघेल, रघु तिवारी, अमित सोनकर, यशु नीखरा, मुनीश सोनकर, शुभम यादव, अरशद अली,  शशांक गौतम, नीलेश माहर, राजवीर खटीक आदि मौजूद थे। 

हंगामे के चलते भागा उपेंद्र  

एनएसयूआई के सचिन रजक, श्रीकांत विश्वकर्मा ने बताया कि पुलिस को सूचना दिए जाने के बाद भी पुलिस ने कार्यालय की तलाशी नही ली, जिसे लेकर हँगामा शुरू हुआ इसका फायदा उठाते हुए भाजपा नेता उपेंद्र धाकड़ दीवार कूदकर भाग निकला। 

पीड़िता को मिल रही धमकी

छात्र संगठन का आरोप था कि दैहिक शोषण का शिकार हुई युवती को लगातार धमकी दी जा रही है कि वह अपना मुँह न खोले, युवती द्वारा थाने में शिकायत करने पर उसे जान से मारने की भी धमकी दी जा रही है। 

भगदड़ में घायल हुए कई छात्र 

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार आधी रात को हुए हँगामे के दौरान पथराव और पुलिस द्वारा टियर गैस छोड़े जाने व बल प्रयोग किए जाने से मची भगदड़ में एनएसयूआई के कई कार्यकर्ता घायल हो गये थे। 

भाजपा नेता धाकड़ के खिलाफ दुराचार का मामला दर्ज 

रांझी निवासी योग टीचर का दैहिक शोषण किए जाने के मामले में रविवार को महिला थाने में भाजपा नेता उपेंद्र धाकड़ के खिलाफ दुराचार का मामला दर्ज किया गया है। महिला थाने पहुँची युवती ने रिपोर्ट दर्ज कराई कि उपेंद्र धाकड़ से उसकी पहचान वर्ष 2013 में रादुविवि में अध्ययन के दौरान हुई थी। उसके बाद से शादी का प्रलोभन देकर वह  लगातार मेरा दैहिक शोषण कर रहा था लेकिन अब शादी करने से इनकार कर रहा है और किसी दूसरी लड़की से विवाह रचा रहा है। मेरे द्वारा शादी के लिए दबाव बनाने पर वह राजनैतिक दबाव बनाकर मुझे धमका रहा है। ज्ञात हो कि युवती ने करीब एक पखवाड़े पूर्व महिला थाने और गत दिवस एसपी अमित सिंह को भी लिखित आवेदन देकर कार्रवाई की माँग की थी। युवती की शिकायत पर महिला थाने में उसके बयान दर्ज कर, आरोपी भाजपा नेता उपेंद्र धाकड़ के खिलाफ दुराचार का मामला दर्ज किया गया है।