दैनिक भास्कर हिंदी: BJP विधायक बोले- भ्रष्टाचार की शिकायत पर राजनीति छोड़ने कि सलाह देते हैं योगी

April 13th, 2018

डिजिटल डेस्क, देवरिया। उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर अरूप लगने का सिलसिला इन दिनों रुकने का नाम नहीं ले रहा है। विपक्षी तो विपक्षी अब उनके अपने विधायकों ने उनके ऊपर हमले करने शुरू कर दिए हैं। अब BJP के ही बरहज विधानसभा क्षेत्र से विधायक सुरेश तिवारी ने योगी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। BJP विधायक ने मीडिया के सामने सरेआम मुख्यमंत्री पर तानशाही रवैया अपनाने के साथ साथ भ्रष्ठ अफसरों को तवाज्जो देने का आरोप लगाया है। विधायक ने कहा है कि मुख्यमंत्री भ्रष्ठ अफसरों को तवाज्जो दे रहे हैं और उनकी शिकायत करने पर राजनीति छोड़ने की सलाह देते हैं। 

फोन नहीं उठाते शहर के DM
विधायक सुरेश तिवारी ने मीडिया के साम्नेर अपना दर्द बयान करते हुए कहा कि सरकार में विधायकों को कुछ नहीं चलती है। उन्होंने कहा कि, 'शहर के DM लगातार कई बार फोन करने पर भी फोन उठाकर जवाब नहीं देते। यह बात जिला अध्यक्ष की जानकारी में भी है। दो दिन पूर्व ही 35 अधिकारीयों का तबादला किया गया है लेकिन देवरिया के भ्रष्ठ DM और सीडीओ का तबादला नहीं किया गया है। मैंने कई बार मुख्यमंत्री को देवरिया DM के विषय में पात्र लिखा पर सरकार की तरफ से कोई कारवाई नहीं की गई। इस शहर के जिला अधिकारी और मुख्य विकास अधिकारी दोनों ही भ्रष्ठ हैं।' उन्होंने बताया कि जब उन्होंने मुख्यमंत्री से मिलकर शिकायत की तो उन्होंने राजनीति छोड़ने की सलाह दे डाली। इस पर विधायक ने मुख्मंत्री से कहा कि आप ही मेरा इस्तीफा ले लो। 

राज्यमंत्री जयप्रकाश निषाद पर भी साधा निशाना, बोले चल रहा है निषाद राज 
सुरेश तिवारी ने BJP के ही देवरिया के रुद्रपुर क्षेत्र से विधायक जयप्रकाश निषाद और वर्तमान राज्यमंत्री के खिलाफ भी कई आरोप लगाए। उन्होंने राज्यमंत्री को घेरते हुए कहा कि,  'जयप्रकाश निषाद और इनके लोग पूरे क्षेत्र में अवैध रूप से शराब का कारोबार करते हैं। हाल ही में एक सप्ताह पूर्व मंत्री के गांव लक्ष्मीपुर के बीएसएनल भवन से 52 लाख की अवैध शराब पकड़ी गई थी, जिस मामले में करवाई वाले दरोगा को मंत्री के दबाव में लाइन हाजिर होना पड़ा था। विधायक ने आरोप लगाया कि इस पूरे कारोबार में मंत्री का लड़का और उनके गुर्गे शामिल हैं। यहां निषाद राज में निषाद समाज में घर-घर शराब बनाई जा रही है, जो कि बिलकुल भी ठीक नहीं है।