comScore

मामूली विवाद में तोड़ दी पैर की हड्डी, दो आरोपी गिरफ्तार, जानिए कहां क्या-क्या वारदातें हुई

मामूली विवाद में तोड़ दी पैर की हड्डी, दो आरोपी गिरफ्तार, जानिए कहां क्या-क्या वारदातें हुई

डिजिटल डेस्क, नागपुर। शराब की दुकान में मामूली धक्का लगने से आहत हुए दो शराबियों ने मिलकर एक व्यक्ति की पिटाई कर दी। पत्थर से उसके पैर की हड्डी तोड़ दी। घटना के बाद फरियादी ने घायल अवस्था में लकड़गंज थाने पहुंचकर घटना की जानकारी दी। पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। सहायक पुलिस उप-निरीक्षक वसंत कनकदंडे ने मामला दर्ज किया। फरियादी दीपक संतोष साबले (28) मूलत: बैतूल निवासी है। किसी काम से वह कुछ दिन पहले नागपुर आया था। पारडी परिसर में ही रह रहा था। पुलिस के अनुसार शुक्रवार को वह एक शराब दुकान में गया। जहां उसका धक्का एक शराबी को लगा। धक्का लगने के बाद आरोपी मोनू (27) व राजू सिंधी (30) से उसका विवाद हो गया। कुछ लोगों के बीच-बचाव के बाद मामला शांत हो गया। फरियादी कुछ देर के बाद लकड़गंज हद में पुराने मोटर स्टैंड के पास से सीमेंट रोड से पैदल जा रहा था। इस बीच दोनों आरोपी पीछे से आकर धक्का क्यों मारा, इस बात को लेकर लड़ने लगे। फरियादी के विरोध करने पर आरोपी माेनू ने गाली-गलौज कर उसके पैर पर पत्थर से वार कर दिया, जिससे वह बुरी तरह जख्मी हो गया। फरियादी जैसे-तैसे वहां से अपनी जान बचाकर भाग गया। इसके बाद वह जख्मी हालत में लकड़गंज पुलिस स्टेशन पहुंचा। पुलिस को उसने सारा घटनाक्रम बताया। पुलिस ने घटनास्थल पर स्टाॅफ को भेजा। दोनों आरोपी परिसर में घूमते दिखाई दिए। उन्हें पकड़कर थाने लाया गया। दोनों को शनिवार को न्यायालय में पेश किया गया।

पारधी बेड़े पर पुलिस का छापा, भनक लगते ही आरोपी फरार

उधर सावनेर में असामाजिक तत्वों पर अंकुश और चुनाव के दौरान शराब का इस्तेमाल रोकने के लिए शनिवार को  नागपुर ग्रामीण पुलिस अधीक्षक राकेश ओला के मार्गदर्शन में केलोद थाना अंतर्गत तिडंगी ग्राम के समीप पारधी बेड़ा पर छापा मारकर महुआ शराब सहित करीब 12 लाख 76 हजार 100 रुपए का माल जब्त किया। पश्चात जब्त की गई महुआ शराब नष्ट कर दी गई। यह कार्रवाई अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई बताई जा रही है। इस कार्रवाई के बाद तहसील के अवैध शराब विक्रेता भूमिगत होने की चर्चा जारी है। बड़े पैमाने पर पुलिस के दस्ते को देखकर सभी आरोपी जंगल के तरफ भागकर फरार हो गए। फरार आरोपियों का नाम अविनाश संजय पवार, टीपू किशोर मारवाड़ी, दिलीप संतोष राजपूत, सभी निवासी तिडंगी पारधी बेड़ा, तहसील कलमेश्वर बताए जा रहे हैं। आरोपियों के खिलाफ केलोद पुलिस स्टेशन में शराब बंदी अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया। फरार आरोपियों को जल्द ही गिरफ्तार करने एक जांच दल नियुक्त किए जाने की जानकारी केलोद के थानेदार सुरेश मट्टामी ने दी है। कार्रवाई को एसडीपीओ अशोक खरंबलकर, थानेदार सुरेश मट्टामी, पीएसआई अर्जुन राठोड़, हर्षल ऐकरे, राज्य उत्पादन शुल्क नागपुर निरीक्षक बी.बी. पाटील, आर.सी.पी. पथक एवं कलमेश्वर, सावनेर, खापा, केलोद पुलिस ने अंजाम दिया।

संस्था का डाटा चोरी कर नौकर ने बना ली खुद की वेबसाइट

शिक्षण संस्था का डाटा और पासवर्ड चोरी कर खुद की वेबसाइट बनाने वाले एक नौकर के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया गया है। आरोपी का नाम आकाश संतोष शंखला है। आरोप है कि, आरोपी आकाश संस्था में प्रबंधक के पद पर कार्यरत था। उसे संस्था से जुड़ी तमाम जानकारियां पता थीं। आकाश को संस्था ने यू-ट्यूब पर संस्था के वीडियो डालने सहित सभी प्रकार की जानकारी देने का अधिकार दिया  था। आकाश शंखला के खिलाफ बजाज नगर थाने में धारा  420 व सहधारा 65,66(सी)(डी)  आईटी एक्ट के तहत मामला दर्ज है। पुलिस सूत्रों के अनुसार हिंदुस्तान कॉलोनी, अमरावती रोड निवासी आशुतोष मधुसूदन वखरे ने बजाज नगर थाने में आरोपी आकाश शंखला के खिलाफ धोखाधड़ा का मामला दर्ज कराया है। आशुतोष वखरे ने पुलिस को बताया कि, उनकी मनिबी इंस्टीटयूट प्राइवेट लिमिटेड नामक शिक्षण संस्था है। इस संस्था का कार्यालय प्लाॅट नं.-16 विक्रम अपार्टमेंट, सुरेंद्र नगर में है। उनकी यह संस्था वित्तीय निवेश बाबत, इंडोर और डिस्टन्स एजूकेशन की शिक्षा देती है। इस संस्था में आकाश शंखला प्रबंधक के पद पर कार्यरत था। चूंकि, आकाश को संस्था ने सभी अधिकार दे रखे थे, इसलिए उसे संस्था की वेबसाइट, ई-मेल व पासवर्ड की जानकारी थी। आरोप है कि, आरोपी दिसंबर 2017 में संस्था में रहते हुए शिक्षा देने का कार्य भी कर रहा था। आरोपी को वर्ष 2018 में संस्था नौकरी से निकालने वाली थी। यह बात आरोपी को पता चलने पर उसने 6-7 महीने पहले ही खुद के नाम से मास्टर फाइन्सन अकादमी नाम से यू-ट्यूब पर अकाउंट ओपन किया। उसके बाद उसने आशुतोष की संस्था के अधिकृत जानकारी वाले वीडियो व अन्य जानकारी कम्प्यूटर का अधिकृत डाटा चोरी कर ई-मेल, वेबसाइट का उपयोग शुरू कर दिया। जब यह बात आशुतोष को पता चली तब उसने आरोपी के खिलाफ बजाज नगर  थाने में शिकायत की। पुलिस  ने  आरोपी  आकाश  शंखला  के  खिलाफ  मामला  दर्ज कर लिया। 

मां-बेटे पर धोखाधड़ी का मामला दर्ज

इवेंट मैनेजमेंट व्यवसायी के साथ खेती बेचने के लिए उससे 7 लाख 65 हजार रुपए लेने के बाद रजिस्ट्री करने से मां-बेटे मुकर गए। पीड़ित की शिकायत पर अजनी पुलिस ने आरोपी स्वप्निल रवींद्र माटे और उसकी मां बेबी रवींद्र माटे के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। यह मामला इवेंट मैनेजमेंट व्यवसायी मनोज रुपचंद बारापात्रे (33) की शिकायत पर दर्ज किया गया है। पता चला है कि, आरोपी बेबी माटे और  स्वप्निल माटे को पता चला कि, वह जिस खेती का सौदा मनोज बारापात्रे से कर रहे हैं, वह जमीन समृद्धि हाईवे में जाने वाली है, तब मां-बेटे का लालच जागा कि, इस खेती का उन्हें साढ़े 10 लाख से अधिक कीमत मिल सकती है। बस मां-बेटे रजिस्ट्री करने में नौटंकी शुरू कर दी।  पुलिस सूत्रों के अनुसार प्लाॅट नं.-90, स्वराज नगर, मानेवाड़ा रिंग रोड, ओंकार नगर, नागपुर निवासी मनोज रूपचंद बारापात्रे का शुभ इवेंट नामक इवेंट मैनेजमेंट का व्यवसाय है। उन्होंने अजनी थाने में आरोपी बेबी माटे और उसके बेटे स्वप्निल माटे के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कराया है। पीड़ित मनोज बारापात्रे ने पुलिस को बताया कि, उन्होंने 23 फरवरी  2016 से 26 सितंबर 2019 के दरमियान स्वप्निल माटे और बेबी माटे से खेती का सौदा किया था। धनगरपुरा हिंगना निवासी बेबी माटे और स्वप्निल माटे की मौजा कोटंबा, तहसील सेलू, जिला वर्धा में मौजा नं.-27, खसरा नं.- 230 , प.ह.न. 16 में 1.38 हेक्टेयर यानी करीब 3.5 एकड़ खेती है। इस खेती काे बेचने के लिए मां-बेटे ने मनोज से 10 लाख 50 हजार रुपए में सौदा किया। साथ ही लिखित करारनामा किया। 

नाले में मिली युवक की लाश

शनिवार को तिघई गांव के समीप नाले में एक युवक का शव मिलने से परिसर में सनसनी फैल गई। युवक की हत्या किए जाने का कयास लगाया जा रहा है। मृतक का नाम प्रमोद उर्फ आबा शेषराव झलके (28) है। पता चला है कि, शुक्रवार की रात को गांव में एक स्थान पर धार्मिक आयोजन व भजन चल रहे थे, इस दौरान प्रमोद शराब के नशे में तलवार लेकर उत्पात मचा रहा था। जिसके बाद ग्रामीणों ने उसकी तलवार छीनकर पुलिस स्टेशन में जमा कर दी थी, लेकिन दूसरे दिन प्रमोद दोबारा किसी को नजर नहीं आया। शनिवार को नाले में उसका शव पाया गया। शरीर पर कुछ  जख्म के निशान भी पाए गए। इससे किसी ने हत्या कर उसकी लाश नाले में फेंकने की चर्चा जोरों पर है। सूचना मिलने पर खापा पुलिस ने मौके पर पहुंचकर पंचनामा किया। शव पोस्टमार्टम के लिए सावनेर रवाना किया। युवक की हत्या की गई या शराब के नशे में गिरकर मौत हुई, इस बारे में पता लगाने सावनेर के डाक्टरों ने शव को नागपुर जीएमसी भेजा था। पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया और युवक पर अंतिम संस्कार कर दिया गया। इस मामले में विजय बारई, जमादार, खापा पुलिस ने बताया कि, पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही कुछ भी कहना उचित होगा। रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।  

मिक्की बक्षी व उसकी गैंग पर लगा मकोका

यूथफोर्स के संस्थापक मिक्की बक्षी और उसके गैंग में शामिल सभी आरोपियों पर पुलिस ने मकोका लगा दिया है, जिन आरोपियों पर मकोका की कार्रवाई की गई उसमें आरोपी मिक्की बक्षी, गिरीश दासरवार, राहुल कलमकर, कुणाल हेमणे, आरिफ खान और इजाज अहमद का नाम शामिल है। यह सभी आरोपी फिलहाल नागपुर की सेंट्रल जेल में कूलर कारोबारी ऋषि खोसला की हत्याकांड में बंद हैं। ऋषि खोसला हत्याकांड में मिक्की बक्षी मुख्य आरोपी है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मिक्की बक्षी और उसके उक्त साथियों पर मकोका लगाए जाने की जानकारी मिली है। मिक्की बक्षी और उसके गैंग पर मकोका लगाए जाने की पुष्टि सदर थाने के वरिष्ठ अधिकारी महेश बंसोडे ने की। बता दें कि ऋषि खोसला हत्याकांड में यूथफोर्स के संस्थापक रुपवेंदर उर्फ मिक्की बक्षी, गिरीश दासरवार व्यंकटेश नगर, राहुल कलमकर, कुणाल हेमणे, आरिफ खान और इजाज अहमद ने हत्या की। मिक्की पर आरोप है िक उसने ही ऋषि की हत्या सुपारी देकर कराई है। अवैध संबंध को लेकर ऋषि खोसला की हत्या की गई थी। ऋषि खोसला की हत्याकांड में शुरुआत में क्रिकेट बुकी सुनील भाटिया का नाम चर्चा में था। ऋषि खोसला की हत्या प्रकरण में उक्त सभी आरोपियों को सदर पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है। उक्त सभी आरोपी नागपुर सेंट्रल जेल में बंद हैं। ऋषि खोसला हत्याकांड का मास्टर माइंड मिक्की बक्षी ही था। उसने गिरीश और कलमकर को सुपारी दिया था। घटना को अंजाम देने से पहले आरोपियों ने चंद रुपए लिया था। बाकी ऋषि का खात्मा करने के बाद सुपारी की रकम देने की बात तय हुई थी।

पत्नी की हत्या का प्रयास, पति गिरफ्तार

शराब पीने के लिए पैसे नहीं देने पर पति ने पत्नी पर सब्जी काटने के चाकू से वार कर उसे जख्मी कर दिया। घायल मीना मुनघाटे है। मीना के बेटे रोहित की शिकायत पर अजनी पुलिस ने उसके पिता रवींद्र मुनघाटे के खिलाफ हत्या के प्रयास का मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस सूत्रों के अनुसार  प्लाट नं.-123 काशीनगर गली नं.-2 निवासी रवींद्र मुनघाटे अपने परिवार के साथ रहता है। परिवार में पत्नी, बेटा और बेटी है। रवींद्र मजदूरी करता है। बेटा-बेटी भी मजदूरी का काम करते हैं। रवींद्र को शराब पीने की लत है। वह शराब पीने के कारण कभी काम पर जाता है, तो कभी नहीं जाता। अजनी थाने के सहायक पुलिस उप-निरीक्षक नागरे ने बताया कि, गत दिनों रवींद्र ने पत्नी से शराब पीने के लिए पैसे मांगे। उस समय घर में पति-पत्नी ही थे। दोनों बच्चे काम पर गए हुए थे। मुनघाटे दंपति का आपस में विवाद होने पर गुस्से में आकर रवींद्र ने पत्नी मीना पर रसोईघर में रखे सब्जी काटने के चाकू से हमला कर दिया जिससे मीना का गला, गर्दन और   हाथ की अंगुली जख्मी हो गई। घटना के बाद  मीना को अस्पताल पहुुंचाया गया। रोहित मुनघाटे की शिकायत पर अजनी पुलिस ने आरोपी रवींद्र मुनघाटे को धारा 307 के तहत मामला दर्ज कर गिरफ्तार किया पुलिस ने आरोपी को न्यायालय के समक्ष पेश किया। न्यायालय ने उसे तीन दिन पुलिस रिमांड में भेज दिया है। अजनी पुलिस मामले की जांच कर रही है।


 

कमेंट करें
81TNU