दैनिक भास्कर हिंदी: शादी का झांसा देकर यौन शोषण करने वाले पुलिस अधिकारी पर केस दर्ज

February 28th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। शादी का झांसा देकर युवती का यौन शोषण करने वाले पुलिस अधिकारी पर अंतत: केस दर्ज किया गया वह भी पुलिस आयुक्त द्वारा दखल लेने के बाद। वाडी थाने के द्वितीय पुलिस निरीक्षक प्रशांत जाधव के खिलाफ शिकायत दर्ज कराने के लिए पीड़ित युवती करीब एक साल से थाने के चक्कर काट रही थी, लेकिन मामला पुलिस अधिकारी से जुड़ा होने के कारण शिकायत दर्ज नहीं की जा रही थी। पीड़िता खुद एक सेवानिवृत्त पुलिसकर्मी की बेटी है। थक-हार कर पीड़िता ने शहर पुलिस आयुक्त डॉ. भूषणकुमार उपाध्याय से मुलाकात की। तब उन्होंने क्षेत्र के पुलिस उपायुक्त को मामले की छानबीन कर आरोपी पुलिस अधिकारी के खिलाफ मामला दर्ज करने का आदेश दिया। पीड़िता ने महिला आयोग के पास भी पत्र भेजकर शिकायत की थी। सूत्रों ने बताया कि पुलिस अधिकारी जाधव ने पहले से ही अदालत से अग्रिम जमानत ले रखी है। थाने के संबंधित अधिकारियों ने भी उन्हें अग्रिम जमानत के लिए अवसर प्रदान करने में काफी सहयोग किया। 

आई थी गुमशुदगी की शिकायत दर्ज कराने 
पुलिस सूत्रों ने बताया कि 26 वर्षीय पीड़ित युवती की शिकायत पर प्रशांत जाधव के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज कर लिया गया। आरोप है कि पीड़िता को प्रेमजाल में फंसाकर करीब एक वर्ष से वह शारीरिक संबंध बना रहा था। करीब एक वर्ष पहले पीड़िता जाधव के खिलाफ दिसंबर 2018 में थाने में शिकायत दर्ज कराने गई थी। तत्कालीन वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक नरेश पवार ने शिकायत दर्ज नहीं की। पुलिस आयुक्त डॉ. भूषणकुमार उपाध्याय से गुहार लगाई। करीब दो माह बाद वाड़ी पुलिस ने प्रशांत जाधव के खिलाफ धारा 376(2)(n)(a), 323, 506 अनुसूचित जाति जमाति अत्याचार प्रतिबंधक कानून 3(1)(बारा)3(2)(पांच) के तहत मामला दर्ज किया है। 

ऐसे हुई दोनों की मुलाकात 
पता चला है कि पीड़िता 31 दिसंबर 17 को एक लड़की के मिसिंग (गुमशुदा) की शिकायत करने वाड़ी थाने में गई थी। वहां पर प्रशांत जाधव से मुलाकात हुई। बाद में जाधव ने उसे फोन कर मिलने के लिए बुलाया और फिर लगातार फोन पर दोनों के बीच बातचीत होने लगी। जाधव ने युवती को नौकरी लगाने व शादी करने का झांसा दिया। उसके बाद वह उससे संबंध बनाने लगा। फरवरी 2017 में जाधव अंबाझरी आयुध निर्माणी के क्वार्टर नं 3 /1/71 में  किराए का कमरा लेकर उसके साथ रहने लगा। विवाहित होने की बात छिपा दी। इस दौरान सोलापुर निवासी जाधव ने युवती को नागपुर से कोल्हापुर एक निजी ट्रैवल्स से लेकर गया। वहां पर सायली होटल में दोनों रुके। वहां पर भी जाधव ने संबंध बनाया। ट्रैवल्स में भी दुष्कर्म करने का आरोप युवती ने लगाया।

बाद में क्वार्टर छोड़कर चले जाने को कहा 
पीड़िता का आरोप है कि बाद में जाधव ने क्वार्टर छोड़कर जाने को कहा। युवती घबरा गई और वापस भेजने का कारण पूछने लगी तो जाधव ने कुछ जवाब नहीं दिया। आरोप है कि जाधव उससे संबंध बनाने के बाद कुछ गोलियां भी खाने को देता था। नहीं खाने पर शादी नहीं करने की धमकी देता था। शादी करने की तारीख 15 नवंबर को तय हुई थी, लेकिन जाधव नहीं आया। 24 नवंबर 2018 को डिफेंस क्वार्टर में उसे अकेली छोड़कर गांव चला गया। पीड़िता का आरोप है कि बुधवार को वाड़ी थाने में  जाधव पर मामला दर्ज होने पर दबाव बनाने के लिए उन्होंने उसके फोटो खींचवाए। युवती के पिता काे भी जान से मारने की धमकी दी।