युवती की आत्महत्या का मामला: आत्महत्या के लिए उकसाने वाले चाचा-चाची पर मामला दर्ज

July 22nd, 2022

डिजिटल डेस्क, सावनेर. धापेवाड़ा स्थित भागेरथी नगर निवासी निकिता सुनील डहाट (24) ने 14 जुलाई 2022 को अपने घर में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी। इस मामले में निकिता को आत्महत्या के लिए प्रवृत्त करने के लिए उसके चाचा-चाची के खिलाफ सावनेर थाने में मामला दर्ज किया गया। मामला दर्ज होने की भनक लगते ही दोनों फरार होने की जानकारी पीआई मारोती मुलुक ने दी हैं। बताया जा रहा है कि, निकिता अपने नाना-नानी के घर धापेवाड़ा में रहती थी।
नागपुर के महाविद्यालयों में प्रोफेसर पद पर कार्यरत हैं दोनों

जानकारी के अनुसार आरोपी डॉ. रत्नाकर रामजी डहाट (50)  हुड़केश्वर, नागपुर के चक्रपाणी महाविद्यालय में प्राचार्य पद पर कार्यरत हैं एवं उनकी पत्नी डॉ. मंगला रत्नाकर डहाट (45) संताजी महाविद्यालय, नागपुर में प्रोफेसर पद पर कार्यरत हैं। दोनों आरोपियों के खिलाफ सावनेर थाने ‌में धारा 366, 34 के तहत मामला दर्ज किया गया है। 

मृतक के भाई के बयान से मामले में आया नया मोड़

निकिता के आत्महत्या की खबर के बाद वह खुद होकर ऐसा आत्मघाती कदम नहीं उठाने की चर्चा परिसर में व्याप्त थी। उच्च शिक्षित नििकता नागपुर के किसी निजी कंपनी में कार्यरत थी। जांच के दौरान निकिता के भाई पंकज सुनील ‌डहाट ने अपने बयान में बताया कि, निकिता रोजाना हुए अच्छे व बुरे प्रसंग को अपनी डायरी में लिखकर रखती थी। निकिता की डायरी आरोपी चाचा- चाची के हाथ लगने से उसे डर था‌ कि, चाचा-चाची उसकी निजी बातों को जगजाहिर कर देंगे। तभी से वह डिप्रेशन में चली गई थी। भाई के बयान के आधार पर पुलिस ने दोनों के खिलाफ आत्महत्या के लए प्रवृत्त करने का मामला दर्ज किया है। फरार आरोपियों की तलाश पुलिस कर रही है। पुलिस को ‌शंका है कि आरोपी गिरफ्तारी पूर्व जमानत का प्रयास भी कर सकते हैं। दोनों की गिरफ्तारी के बाद भी मामला उजागर होगा। आगे की जांच पीआई मारोती मुलुक के मार्गदर्शन में एपीआई सतीश पाटील कर रहे हैं।