दैनिक भास्कर हिंदी: कैट एग्जाम में छात्रों के छूटे पसीने, नागपुर समेत देश के 156 शहरों में हुई परीक्षा 

November 25th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। आईआईएम कोझिकोड द्वारा  नागपुर समेत देश भर के 156 शहरों में कॉमन एडमिशन टेस्ट (कैट) का आयोजन किया गया। नागपुर के अलावा अमरावती, अहमदनगर, औरंगाबाद समेत प्रदेश के 14 शहरों में यह परीक्षा हुई। परीक्षा दो सत्रों में ली गई। पहला सत्र सुबह 9 से 12 बजे और दूसरा सत्र दोपहर 2.30 से 5.30 बजे तक आयोजित किया गया। ऑनलाइन मोड में आयोजित 180 मिनट की इस परीक्षा में कुल 100 प्रश्न पूछे गए। परीक्षा के कुल तीन हिस्से थे। वर्बल एंड रीडिंग कंप्रेहेंशन, डेटा रिप्रेजेंटेशन एंड लॉजिकल रीजनिंग और क्वांटिटेटिव एप्टीट्यूड प्रत्येक को हल करने के लिए एक-एक घंटे का समय दिया गया। परीक्षा कठिन होने से विद्यार्थियों के पसीने छूट गए।

करनी पड़ी मशक्कत
 परीक्षा में मुख्य रूप से दो प्रकार के प्रश्न थे। वस्तुनिष्ठ और गैर वस्तुनिष्ठ प्रश्न। 75 अंकों के लिए वस्तुनिष्ठ प्रश्न और 25 अंकों के लिए गैर वस्तुनिष्ठ प्रश्न थे। वस्तुनिष्ठ प्रश्नों पर निगेटिव मार्किंग थी। विद्यार्थियों के अनुसार परीक्षा थोड़ी कठिन थी। वीएआरसी वाला हिस्सा सबसे कठिन था। डीआईएलआर और क्वांटिटेटिव एप्टीट्यूड को हल करने में भी खासी मशक्कत करनी पड़ी। देश भर से कुल 2.44 लाख विद्यार्थियों ने परीक्षा के लिए आवेदन किया था। 

कैट 2019 परीक्षा  के लिए एडमिट कार्ड 23 अक्टूबर को जारी किया गया था।  रिजल्ट जारी करने की तारीख अभी घोषित नहीं की गई है, लेकिन उम्मीद की जा रही है कि परीक्षा का परिणाम जनवरी 2020 में जारी कर दिया जाएगा। परीक्षा के लिए आवेदन करने वाले उम्मीदवार कैट की वेबसाइट iimcat.ac.in से पर्सेंटाइल कैलकुलेट करने का तरीका भी देख सकते हैं। पर्सेंटाइल कैलकुलेशन मेथड के अनुसार ही उम्मीदवार के ओवरऑल पर्सेंटाइल और सेक्शनल पर्सेंटाइल का कैलकुलेशन होता है। इस पर्सेंटाइल स्कोर के आधार पर ही उम्मीदवारों को आईआईएम और अन्य बिजनेस स्कूलों में दाखिला प्राप्त होता है, जहां कैट स्कोर के आधार पर ही उम्मीदवारों को शार्टलिस्ट किया जाता है। 

खबरें और भी हैं...