हाईकोर्ट में केंद्र का दावा : महाराष्ट्र को समय से पहले उपलब्ध कराए गए टीके

August 30th, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई। केंद्र सरकार ने बांबे हाईकोर्ट को सूचित किया है कि उसने महाराष्ट्र को समय से पहले कोविड रोधी टीके के डोज उपलब्ध कराए हैं। जबकि टीका प्रमाणपत्र में गलतियों को सुधराने के लिए कोविन एप में व्यवस्था बनाने की प्रक्रिया जारी है। जल्द ही यह व्यवस्था आम लोगों को उपलब्ध करा दी जाएगी। केंद्र सरकार ने हाईकोर्ट के निर्देश तहत हलफनामा दायर कर अदालत को यह जानकारी दी है। केंद्र की ओर से महाराष्ट्र को अगस्त माह में 91.81 लाख टीकों की आपूर्ति की गई है। जबकि इस महीने यहां के लिए 86.74 लाख डोज उपलब्ध कराना तय था। 

पिछली सुनवाई के दौरान हाईकोर्ट को बताया गया था कि कोरोना का टीका लेने के बाद लोगों को जो प्रमाणपत्र जारी किया जा रहा है, उसमें गलतियां दिखाई दे रही हैं। यह गलतियां नाम व टीके की तारीख से जुड़ी हुई हैं। इस बात को जानने के बाद मुख्य न्यायाधीश दीपांकर दत्ता व न्यायमूर्ति गिरीष कुलकर्णी की खंडपीठ ने केंद्र सरकार से इस बारे में जवाब मांगा था। इसके तहत केंद्र सरकार ने हाईकोर्ट में हलफनामा दायर किया है। 

महाराष्ट्र को ज्यादा दिए वैक्सीन

केंद्रीय स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्रालय के अधिकारी की ओर से दायर किए गए हलफनामे के मुताबिक महाराष्ट्र को अगस्त माह में कोरोना के टीके की 86 लाख 74 हजार 540 डोज मिलनी थी, लेकिन केंद्र की ओर से महाराष्ट्र को अगस्त महीने में टीके  91 लाख 81 हजार 790 डोज उपलब्ध कराए गए है। जिसमें 76 लाख  86 हजार 250 कोविशिल्ड जबकि 14 लाख 95 हजार 540 कोवैक्सीन टीका है। केंद्र की ओर से उपलब्ध कराए गए टीके की यह स्थिति 25 अगस्त 2021 तक की है। ये सारे टीके महाराष्ट्र में समय से पहले पहुंचे हैं। 

निर्माता कंपनियों से 75 फीसदी टीके खरीद रही केंद्र सरकार               

निर्माताओं से 75 प्रतिशत टीके खरीद रही है। जिसे सरकार देश के सभी राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों को जनसंख्या व कोविड मरीजे की स्थिति का आकलन कर निशुल्क दे रही है। निर्माताओं को सिर्फ 25 प्रतिशत टीके निजी अस्पतालों को देने की अनुमति दी गई है। 


 

खबरें और भी हैं...