दैनिक भास्कर हिंदी: फिर ऑनलाइन ठगी , 13 लाख पाने के चक्कर में 3 लाख गंवाए

January 31st, 2020

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  होम शॉपी से 12 लाख 80 हजार रुपए का इनाम लगने का झांसा देकर एक महिला को महिला आरोपी ने ही 2 लाख 59 हजार रुपए का चूना लगा दिया। पीड़ित 53 वर्षीय महिला की शिकायत पर वाठोड़ा पुलिस ने मामला दर्ज किया है। पुलिस सूत्रों के अनुसार प्लाट नं.-5 सेनापति नगर, उमरेड रोड, दिघोरी निवासी प्रणयप्रभा प्रकाश दुरूगकर (53) ने वाठाेड़ा थाने में धोखाधड़ी का मामला दर्ज कराया है। 

गिफ्ट कूपन का दिया झांसा
उन्होंने पुलिस को बताया कि, 23 जनवरी को वह घर में मौजूद थीं, इसी दौरान उसके मोबाइल पर एक महिला का फोन आया। उसने प्रणयप्रभा को अपना नाम मीना सिंह बताया और कहा कि, वह होम शॉपी से बोल रही है। उस अपरिचित महिला ने प्रणयप्रभा से कहा कि, आपको होम शाॅपी से 12 लाख 80 हजार रुपए का गिफ्ट कूपन लगा है। यह लॉटरी के माध्यम से नंबर लगा है। उसने कुछ प्रणयप्रभा से ऐसे बातचीत की कि, वे उसके झांसे में आ गईं। 

आरबीआई बैंक का लॉकर खोलने की दी सलाह
अपरिचित महिला ने प्रणयप्रभा से कहा कि, इस गिफ्ट कूपन को हासिल करने के लिए आपको आरबीआई में बैंक का लॉकर खोलना पड़ेगा। इसके बाद उस अपरिचित महिला ने प्रणयप्रभा से कई बार फोन पर बातचीत करती रही। उस अपरिचित महिला ने प्रणयप्रभा को एक बैंक खाता नंबर दिया और कहा कि, आगे की प्रक्रिया को पूरा करने के लिए उन्हें कुछ रुपए का भुगतान करना पड़ेगा। वह उसके झांसे में आ गईं और उस बैंक खाते में अलग-अलग समय में करीब 2,59,440 रुपए जमा कर दिए। 

पति के कहने पर आंखें खुलीं
इस पूरे मामले की जानकारी प्रणयप्रभा ने जब अपने पति प्रकाश दुरुगकर को दी, तब उन्होंने प्रणयप्रभा को बताया कि, उन्हें किसी ने झांसा देकर रुपए ऐंठ लिए हैं। इधर उस अपरिचित महिला ने भी प्रणयप्रभा से बातचीत करना बंद कर दिया था, तब उन्हें इस बात का एहसास हो गया कि, आरोपी महिला ने उनके साथ धोखाधड़ी की। उन्होंने वाठोड़ा थाने में जाकर शिकायत की। पुलिस ने धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर लिया है। 

पुलिस से बच रहे आरोपी
आॅनलाइन लाॅटरी लगने के नाम पर हो रही धोखाधड़ी के मामले में पुलिस इस तरह ठगी करने वालों पर लगाम लगा पाने में असफल साबित हो रही है। यही कारण है कि, आए दिन शहर में आॅनलाइन ठगी के मामले सामने आ रहे हैं। साइबर अपराध अंतर्गत आने वाले इस मामले को लेकर पुलिस के सामने बड़ी चुनौती है। इस तरह की घटनाओं की लंबी सूची है। पुलिस के पास काम का बोझ होने के कारण साइबर के इस प्रकरण को सुलझाने में दिलचस्पी नहीं लेती है। संतरानगरी में साइबर थाना बनाने की मांग लंबित पड़ी है। 
 

खबरें और भी हैं...