दैनिक भास्कर हिंदी: मुख्यमंत्री ने किया ऑनलाइन नए शिक्षा सत्र का शुभारंभ, पहली और दूसरी के बच्चों को मिली छूट

June 15th, 2020

डिजिटल डेस्क, मुंबई। कोरोना संकट के बीच मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने सोमवार को प्रदेश में नए शैक्षणिक वर्ष का शुभारंभ कर दिया। मुख्यमंत्री ने ऑनलाइन और डिजिटल माध्यम से विद्यार्थियों की पढ़ाई शुरू करने की मंजूरी दी है। लेकिन कक्षा पहली और दूसरी के विद्यार्थियों की पढ़ाई ऑनलाइन नहीं होगी। कक्षा तीसरी से पांचवीं तक के विद्यार्थियों को प्रतिदिन अधिकतम एक घंटे, कक्षा छठवीं से आठवीं तक के विद्यार्थियों को हर दिन अधिकतम दो घंटे और कक्षा नौवीं से बारहवीं तक के विद्यार्थियों को प्रतिदिन अधिकतम तीन घंटे ऑनलाइन पढ़ाया जाएगा। डिजिटल पढ़ाई में आवश्यकता के अनुसार ब्रेक देना होगा। विद्यार्थियों को लगातार पढ़ाने से मना किया गया है। जबकि राज्य के उन इलाकों में चरणबद्ध तरीके से स्कूल खोले जाएंगे जहां कोरोना का प्रभाव नहीं है।

विदर्भ में 26 जून को बैठक

लॉकडाउन शिथिल होने के बाद चरणबद्ध तरीके से स्कूलों को शुरू करने के संबंध में स्कूली शिक्षा विभाग ने दिशानिर्देश जारी किया है। इसके मुताबिक स्कूली शिक्षा विभाग ने सभी स्कूलों को स्कूल प्रबंधन समिति की बैठक बुलाने को कहा है। विदर्भ में स्कूल प्रबंधन समिति की बैठक 26 जून को बुलाई जाएगी। बैठक में स्कूल शुरू करने की तैयारी पर चर्चा की जाएगी। जबकि शेष महाराष्ट्र के स्कूलों के प्रबंधन समिति की बैठक 15 जून को ही हो गई। स्कूल प्रबंधन समिति की मुख्य सिफारिशों और विशेषज्ञों की सिफारिशों के अनुसार कंटेनमेंट जोन में स्थित स्कूलों को शुरू करने का अधिकार संबंधित जिलाधिकारी अथवा मनपा आयुक्त को होगा। सोमवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से हुई स्कूली शिक्षा विभाग की बैठक में मुख्यमंत्री ने नए शैक्षणिक वर्ष की शुरुआत की। मुख्यमंत्री ने कहा कि ऑनलाइन और डिजिटल पद्धति से पढ़ाई पायलट प्रोजेक्ट के रूप में तत्काल शुरू करें। जबकि जहां कोरोना का प्रकोप नहीं ऐसे ग्रामीण और शहरों से दूर स्थित स्कूलों को शुरू किया जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि जिन इलाकों में स्कूल प्रत्यक्ष रूप से शुरू हो रहा है। वहां पर विद्यार्थियों के स्वास्थ्य का पूरा ख्याल रखा जाए। उन्होंने कहा कि राज्य में दूरदर्शन और आकाशवाणी के जरिए पढ़ाई शुरू करने को लेकर केंद्रीय सूचना व प्रसारण मंत्री प्रकाश जावडेकर से चर्चा करूंगा।प्रदेश की स्कूली शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड ने कहा कि सरकार ने लॉनलाइन पढ़ाई के संबंध में अभिभावकों की राय पर विचार किया है। कक्षा पहली और कक्षा दूसरी के विद्यार्थियों की लॉनलाइन पढ़ाई नहीं होगी। शिक्षा विभाग के परिपत्र के मुताबिक  कक्षा पहली और कक्षा दूसरी के विद्यार्थियों को ऑनलाइन शिक्षा नहीं दी जाएगी लेकिन इन दोनों कक्षाओं के विद्यार्थियों को टीवी और रेडियो पर उपलब्ध शैक्षणिक कार्यक्रम दिखाया व सुनाया जा सकेगा।