comScore

मंत्रालय में गृह विभाग में तैनात क्लर्क घूस लेते रंगेहाथ गिरफ्तार, पांच हजार रुपए ली रिश्वत

मंत्रालय में गृह विभाग में तैनात क्लर्क घूस लेते रंगेहाथ गिरफ्तार, पांच हजार रुपए ली रिश्वत

डिजिटल डेस्क, मुंबई। हथियार के लाइसेंस के लिए धूस लेने वाले एक क्लर्क को भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) ने मंत्रालय से गिरफ्तार किया है। आरोपी ने शिकायतकर्ता से घूस के रुप में पांच हजार रुपए लिए थे। गृह विभाग में तैनात क्लर्क ने शिकायतकर्ता को बार बार फोन कर और ह्वाट्सएप पर संदेश भेजकर पैसे मांगे जो उसके खिलाफ बड़ा सबूत बन गया। पकड़े गए आरोपी का नाम अविनाश गलांडे (30) है। अविनाश मंत्रालय स्थित गृहविभाग में कनिष्ठ लिपिक के पद पर तैनात है। शिकायतकर्ता ने इसी साल 28 अगस्त को हथियार के लाइसेंस के लिए अर्जी दी थी। अगले ही दिन गलांडे ने शिकायतकर्ता को फोन किया और कहा कि अगर वे चाहते हैं कि हथियार का लाइसेंस जल्द मिले तो पांच हजार रुपए घूस देनी पड़ेगी वरना फाइल आगे नहीं बढ़ेगी। यही नहीं गलांडे लगातार शिकायतकर्ता को फोन और मैसेज कर पैसों की मांग करता रहा।

इसके बाद गवांडे ने 2 अक्टूबर को शिकायतकर्ता को ह्वाट्सएप पर संदेश भेजा और 3 अक्टूबर को मिलने के लिए बुलाया। मुलाकात के दौरान गलांडे ने एक बार फिर घूस की मांग की। लेकिन शिकायतकर्ता घूस नहीं देना चाहते थे इसीलिए उन्होंने मामले की जानकारी एसीबी को दे दी। शिकायतकर्ता ने सबूत के तौर पर आरोपी द्वारा भेजे गए संदेश और फोन पर की गई बातचीत का ब्योरा भी दिया। इसके बाद एसीबी ने जाल बिछाया और शनिवार को घूस से रहे आरोपी को रंगेहाथ दबोच लिया। गलांडे के खिलाफ भ्रष्टाचार निरोधक कानून की धारा 7 के तहत एफआईआर दर्ज की गई है।  

 

कमेंट करें
2iOzq