दैनिक भास्कर हिंदी: मई में बड़ा संकट !  सीएम ने केंद्र से मांगे रेलवे- पोर्ट ट्रस्ट और सेना अस्पताल के ICU बेड, बीजेपी ने साधा निशाना

May 6th, 2020

डिजिटल डेस्क, मुंबई। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने केंद्र सरकार से महाराष्ट्र में मौजूद रेलवे, मुंबई पोर्ट ट्रस्ट, भारतीय सेना और केंद्र के अधिकार क्षेत्र वाले अस्पतालों व संस्थाओं के आईसीयू बेड उपलब्ध कराने का आग्रह किया है। इसके लिए मुख्यमंत्री ने वरिष्ठ स्तर पर बातचीत भी शुरू कर दी है। बुधवार को मुख्यमंत्री कार्यालय की तरफ से यह जानकारी दी गई। मुख्यमंत्री कार्यालय ने कहा कि केंद्र सरकार ने मई महीने में कोरोना संक्रमण का अधिक फैलाव की संभावना व्यक्त की है। लॉकडाउन में थोड़ी ढील दिए जाने के कारण दूसरे राज्यों से महाराष्ट्र के नागरिकों का लौटना शुरू हो गया है। इसके अलावा विदेश से भी राज्य में नागरिक आएंगे। इस स्थिति में कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़ने पर आईसीयू बेड की जरूरत पड़ेगी। इसके साथ ही दूसरी चिकित्सा सुविधाओं की आवश्यकता होगी। इसके मद्देनजर राज्य सरकार ने रेलवे, मुंबई पोर्ट ट्रस्ट, भारतीय सेना, नौसेना को अपने अस्पतालों की जगह और उनके अधीन बड़ी इमारतों और जगह उपलब्ध कराने की मांग केंद्र सरकार से की है। अगर इसके लिए अनुमति मिली तो मरीजों को अलग रखने में मदद मिल सकेगी।

राज्य सरकार ने मुंबई, पुणे समेत दूसरे शहरों में आइसोलेशन और आईसीयू बेड बड़े पैमाने पर उपलब्ध कराने का नियोजन किया है। मुंबई में महालक्ष्मी रेसकोर्स, नेहरू साइंस सेंटर, नेहरू प्लेनेटेरियम, गोरेगांव एग्जिबिशन सेंटर, जे जे अस्पताल के पास रिचर्डसन कृडास फैक्टरी की जगह, बांद्रा-कुर्ला कॉम्प्लेक्स (बीकेसी) जैसे जगहों पर आइसोलेशन और आईसीयू बेड की सुविधा निर्माण की जा रही है। इसके साथ ही राज्य के दूसरे बड़े शहरों में मनपा आयुक्त और जिलाधिकारी के स्तर पर यह व्यवस्था की जा रही है। इसमें राज्य के निजी अस्पतालों और बड़े संस्थानों के स्थान पर भी आईसीयू बेड उपलब्ध हो रहे हैं। सरकार ने कहा है कि लगभग तीन महीने से कोरोना से मुकाबला किया जा रहा है। राज्य में कोरोना की जांच की गति बढ़ रही है। मरीजों के ठीक होने का तादाद भी अधिक है, लेकिन एक तैयारी के रूप में आईसीयू बेड की व्यवस्था की जा रही है। 

कोरोना संक्रमण बढ़ने को लेकर भाजपा ने साधा उद्धव पर निशाना

उधर विपक्षी दल भाजपा ने कोरोना की स्थिति नियंत्रण में होने के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के बयान पर तंज कसा है। प्रदेश भाजपा ने मुख्यमंत्री से पूछा कि वास्तव में नियंत्रण में क्या है कोरोना की स्थिति या फिर विधायकी? दरअसल, बुधवार को मुख्यमंत्री ने रेलवे और सेना के अस्पताल के आईसीयू बेड देने के लिए केंद्र सरकार से आग्रह करने के संबंध में ट्वीट किया। जिसमें से एक ट्वीट में मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले तीन महीनों से राज्य सरकार कोरोना से मुकाबला कर रही है। विभिन्न उपाय योजनाओं के जरिए अब भी महामारी को नियंत्रण में रखा गया है। इसके जवाब में प्रदेश भाजपा ने ट्वीट कर कहा कि ‘मुंबई में दस हजार से अधिक और पूरे महाराष्ट्र में 15 हजार से अधिक मरीज हैं। महाराष्ट्र के 40 प्रतिशत इलाके रेड जोन में हैं। वास्तव में नियंत्रण में क्या है कोरोना की स्थिति या फिर विधायकी। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री 21 मई को होने वाले विधान परिषद चुनाव में उम्मीदवार होंगे और इससे उनका विधायक बनना तय हो गया है। इससे राज्य की महाविकास आघाड़ी सरकार को स्थिरता मिल जाएगा। अभी तक मुख्यमंत्री विधानमंडल के सदस्य नहीं हैं। 

महाराष्ट्र की स्थिति चिंतनियः केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री 

वहीं केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने महाराष्ट्र की कोरोना की स्थिति को लेकर चिंता जताई है। उन्होंने प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए वर्तमान स्थिति की समीक्षा की। हर्षवर्धन ने ट्वीट कर कहा कि महाराष्ट्र के 36 में से 34 जिले कोरोना प्रभावित हैं। नागपुर, नाशिक, औरंगाबाद, मुंबई, ठाणे, पुणे, सोलापुर जैसे जिलों में ज्यादा चिंता की स्थिति है। महाराष्ट्र में अभी तक 1026 कंटेनमेंट जोन हैं। 
 

खबरें और भी हैं...