दैनिक भास्कर हिंदी: सीएम ने कहा गड़बड़ी करने वाले बख्शे नहीं जाएँगे, मिलकर लड़ेंगे कोरोना के खिलाफ जंग

May 10th, 2021


डिजिटल डेस्क जबलपुर। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने जबलपुर प्रवास के दौरान जिला आपदा प्रबंधन समिति की बैठक में स्पष्ट रूप से कहा कि मानवता के खिलाफ अपराध करने वाले लोगों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा। कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में हुई बैठक में उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान जब लोग परेशान हैं, ऐसे में कोरोना मरीज के इलाज के दौरान लापरवाही बरतने और गड़बड़ी करने वाले अस्पतालों तथा नकली इंजेक्शन एवं दवाओं के कारोबार में लिप्त लोगों के खिलाफ कठोर से कठोर कार्रवाई की जाएगी।
सीएम ने कहा कि कोरोना के खिलाफ लड़ाई में शासन और प्रशासन के साथ जनप्रतिनिधियों, समाज एवं जनता की भागीदारी जरूरी है। सभी मिलजुलकर ही इस वैश्विक महामारी को परास्त कर सकते हैं। इस दौरान जिले के प्रभारी बनाए गए सहकारिता मंत्री अरविंद सिंह भदौरिया, सांसद राकेश सिंह, विधायक अजय विश्नोई, सुशील तिवारी इंदू, अशोक रोहाणी, नन्दिनी मरावी, तरुण भनोत, लखन घनघोरिया, विनय सक्सेना, डॉ. जीतेन्द्र जामदार, संभागायुक्त बी चंद्रशेखर, आईजी बीएस चौहान, कलेक्टर कर्मवीर शर्मा एवं एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा भी मौजूद थे। सांसद ने कहा जो भी निर्णय अभी लिए जा रहे हैं वह जनता के हित में हैं। बैठक के प्रारंभ में कलेक्टर ने प्रजेंटेशन दिया।
टीम के रूप में काम करें-
सभी राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों से कहा कि कोरोना के खिलाफ लड़ाई में एक टीम के रूप में काम करना होगा और जबलपुर तथा प्रदेश को कोरोना से मुक्त करना होगा। उन्होंने कहा कि वे एक सकारात्मक सोच के साथ क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी में शामिल सभी राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों से चर्चा करने और कोरोना के खिलाफ लड़ाई में उनका सहयोग लेने जबलपुर आए हैं।
यह भी कहा

0 भविष्य को ध्यान में रखते हुए ऑक्सीजन और आईसीयू बेड की संख्या बढ़ाने की दिशा में अभी से काम करना होगा।
0 ग्रामीण क्षेत्रों में भी ध्यान देने की आवश्यकता है, विधायक अपने-अपने क्षेत्र में इसकी अगुवाई करें।

0 आयुष्मान कार्डधारी कोरोना संक्रमितों को समुचित उपचार कराने पर विशेष ध्यान दिया जाए। पात्रों के आयुष्मान कार्ड बनाए जाएँ।
0 किल कोरोना अभियान में शासकीय अमले के साथ स्थानीय जनप्रतिनिधियों और सामाजिक कार्यकर्ताओं को जोड़े जाने की जरूरत है।

0 18 वर्ष से अधिक आयु के युवाओं को कोरोना की वैक्सीन लगाने का खर्च सरकार वहन करेगी।